1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. pakistan world record be broken in bihar veer kunwar singh wave more than one lakh tricolor on vijayotsav rdy

बिहार में टूटेगा पाकिस्तान का विश्व रिकॉर्ड, वीर कुंवर सिंह विजयोत्सव पर लहरेगा एक लाख से अधिक तिरंगा

भाजपा नेताओं का दावा है कि करीब 57 हजार पाकिस्तानी झंडा एक साथ लहराने का वर्ष 2014 का विश्व रिकॉर्ड आठ साल बाद एक लाख से अधिक हिंदुस्तानी झंडे के लहराने से टूटेगा. इस समारोह को रिकॉर्ड करने के लिए गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के 1400 वोलेंटियरों की टीम जगदीशपुर में कैंप कर रही है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
तिरंगा
तिरंगा
Symbolic Pic

सुमित कुमार/ पटना. भोजपुर के जगदीशपुर स्थित दुलौर मैदान पर 23 अप्रैल को होने वाले बाबू वीर कुंवर सिंह विजयोत्सव समारोह में झंडा लेकर हाथ में लहराने का विश्व रिकॉर्ड बनेगा. भाजपा नेताओं का दावा है कि करीब 57 हजार पाकिस्तानी झंडा एक साथ लहराने का वर्ष 2014 का विश्व रिकॉर्ड आठ साल बाद एक लाख से अधिक हिंदुस्तानी झंडे के लहराने से टूटेगा. इस ऐतिहासिक क्षण को दर्ज करने के लिए गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की टीम जगदीशपुर पहुंच चुकी है.

एक साथ झंडा लहराने का विश्व रिकॉर्ड वर्तमान में पाकिस्तान के नाम है. एक मार्च, 2014 को पंजाब यूथ फेस्टिवल के मौके पर पाकिस्तान के पंजाब प्रांत स्थित लाहौर नेशनल हॉकी स्टेडियम में एक साथ 56,618 झंडे लहराये गये थे, जो कि विश्व रिकॉर्ड है. जगदीशपुर में इस रिकॉर्ड को तोड़ने के लिए डेढ़ लाख से अधिक तिरंगे की व्यवस्था कर रखी गयी है.

असम से आये तिरंगा व स्थानीय बांस से तैयार हुए झंडे

मंच पर सिर्फ तिरंगा दिखेगा. दोपहर 12:20 बजे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ उपस्थित सभी लोग राष्ट्रगान गायेंगे. साथ ही एक साथ तिरंगा लहराया जायेगा. वीर कुंवर सिंह की पहचान के तौर पर आरा में प्रवेश करते हुए 21 फुट की एक कांसे की तलवार भी प्रतीक के तौर पर लगायी गयी है. भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने बताया कि तिरंगा महोत्सव के लिए तिरंगा असम से लाये गये हैं. स्थानीय बांस से झंडाें को तैयार किया गया है.

1.50 लाख से अधिक लोगों को गेट पर मिलेगा तिरंगा

आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत आयोजित हो रहे इस समारोह को रिकॉर्ड करने के लिए गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के 1400 वोलेंटियरों की टीम जगदीशपुर में कैंप कर रही है. व्यवस्था इस तरह हो रही है कि मैदान में प्रवेश करने वाले हर व्यक्ति का डेटा रिकॉर्ड हो जाये. इसके लिए 50 एंट्री गेट तैयार किये गये हैं. हर गेट पर आयोजन समिति और गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के प्रतिनिधि प्रवेश करने वाले व्यक्ति को तिरंगा झंडा के साथ एक बैंड प्रदान करेंगे. हर गेट से करीब तीन हजार व्यक्तियों का प्रवेश सुनिश्चित होगा.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें