1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. looks like covaxin vaccine got certificate from covishield the officer told this reason asj

लग रहा कोवैक्सीन का टीका, सर्टिफिकेट मिला कोविशील्ड का, अधिकारी ने बताया ये कारण

शहर में एक बार फिर से वैक्सीनेशन अभियान जोर-शोर से शुरू हो गया है. हालांकि इस दौरान कुछ गलतियां भी हो रही हैं. राज्य में दो तरह की वैक्सीन लगायी जा रही हैं. पहली कोवैक्सीन और दूसरी कोविशील्ड.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
सांकेतिक
सांकेतिक
फाइल

पटना. शहर में एक बार फिर से वैक्सीनेशन अभियान जोर-शोर से शुरू हो गया है. हालांकि इस दौरान कुछ गलतियां भी हो रही हैं. राज्य में दो तरह की वैक्सीन लगायी जा रही हैं. पहली कोवैक्सीन और दूसरी कोविशील्ड.

कुछ मामलों में देखा गया है कि जिन लोगों ने कोवैक्सीन ली है, उन्हें कोविशील्ड का सर्टिफिकेट दे दिया गया. ऐसे ही कुछ मामले पटना से सटे मनेर के नयका टोला हल्दी छपरा गांव में बने उत्क्रमित मध्य विद्यालय सेंटर में सामने आये.

यहां दर्जनों लोगों को गलत सर्टिफिकेट दे दिया गया. कोवैक्सीन का टीका लेने वाले लोगों ने जब कोविन पोर्टल से सर्टिफिकेट डाउनलोड किया, तो उन्हें कोविशिल्ड लगाये जाने का सर्टिफिकेट मिल रहा है़ सर्टिफिकेट पर टीका लेने की तारीख बदल जाने के साथ-साथ कोविड सेंटर का पता भी गलत है. ऐसे में वैक्सीन लेने वाले लोग सेंटर का चक्कर काट रहे हैं.

इनको मिला गलत सर्टिफिकेट

केस-1 : मनेर हल्दी छपरा के प्रशांत कुमार जिनका वेनिफिशरी आइडी ( 597115451650) है. उन्होंने बताया कि मैं और मेरी पत्नी, भाई, मां परिवार के अन्य चार लोगों ने 21 जून को हल्दी छपरा के कोविड टीका केन्द्र पर कोवैक्सीन का पहला टीका लिया.

पोर्टल से सर्टिफिकेट डाउनलोड किया, तो सभी के सर्टिफिकेट पर कोविशील्ड का टीका लगने की सूचना अंकित है. केन्द्र का पता भी बदला हुआ है. उत्क्रमित मध्य विद्यालय नयका टोला हल्दी छपरा के स्थान पर मनेर पीएचसी फिक्स्ड साइट का पता दिया गया है.

केस-2 : दूसरा मामला कन्हैया कुमार सिंह का है. इनका वेनिफिशरी आइडी (5976099043720 ) है़ कन्हैया ने बताया कि उन्होंने संबंधित केंद्र पर 21 जून को कोवैक्सीन का पहला टिका लिया था.

उनके सर्टिफिकेट पर भी कोविशिल्ड अंकित है. 21 जून की जगह तरीख 22 जून लिखी है. उन्होंने बताया कि सेंटर पर वैक्सीन लेने वाले करीब एक दर्जन से अधिक लोगों के साथ एेसा हुआ है़

मनेर पीएचसी के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ज्ञान रतन ने बताया कि गलत सर्टिफिकेट देने का मामला उनके पास भी आया है़ करीब एक दर्जन लोगों ने शिकायत की है. उन्होंने बताया कि टीका केन्द्र पर वैक्सीनेशन का डेटा अपलोड नहीं होता है. संभवत कंप्यूटर में इंट्री करने में कोई गड़बड़ी हुई होगी. सभी को मनेर बुलाया गया है.

Posted by Ashish Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें