1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. ganga reached the doorstep of patna crossing the danger mark at gandhi ghat water came on the road in bhadra ghat asj

पटना की चौखट पर पहुंची गंगा, गांधी घाट पर खतरे के निशान के पार, भद्र घाट में सड़क पर आया पानी

गंगा नदी राजधानी पटना की चौखट तक पहुंच चुकी है. गांधी घाट पर गंगा खतरे के निशान (48.60 मीटर) से 34 सेमी ऊपर बह रही है. एक दिन पहले यहां गंगा का जल स्तर 48.32 मीटर था. दीघा घाट पर गंगा खतरे के निशान के करीब पहुंच गयी है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
गंगा नदी
गंगा नदी
प्रभात खबर

पटना. गंगा नदी राजधानी पटना की चौखट तक पहुंच चुकी है. गांधी घाट पर गंगा खतरे के निशान (48.60 मीटर) से 34 सेमी ऊपर बह रही है. एक दिन पहले यहां गंगा का जल स्तर 48.32 मीटर था. दीघा घाट पर गंगा खतरे के निशान के करीब पहुंच गयी है. गंगा के साथ ही जिले में पुनपुन समेत कई अन्य नदियों का जल स्तर भी खतरे के निशान को पार कर गया है.

फतुहा के कटैया घाट पर गंगा और मनेर के घाट पर सोन का पानी भी बढ़ रहा है. पुनपुन नदी पुनपुन रेल पुल के पास खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. इस स्थान पर खतरे का निशान 51.20 मीटर है, जबकि यहां पर पुनपुन नदी मंगलवार की दोपहर 52.76 मीटर के जल स्तर के साथ बह रही थी.

राज्य की कई नदियां उफान पर

राज्य में अलग-अलग हिस्सों में लगातार हो रही बारिश के कारण गंगा, कोसी, पुनपुन, अधवारा, बागमती और गंडक नदियों का जल स्तर मंगलवार को भी लाल निशान के पार दर्ज किया गया. पिछले 24 घंटे में राज्य में औसत बारिश 10 एमएम दर्ज की गयी. गंगा नदी का जल स्तर हाथीदह में खतरे के निशान को पार कर सकता है.

जल संसाधन विभाग ने डगमारा में क्षतिग्रस्त मार्जिनल बांध को छोड़कर अन्य बांधों को ठीक होने का दावा किया है. गंगा नदी के जल स्तर में सभी जगह बढ़ोतरी का रुख है. कोसी नदी खगड़िया के बलतारा में 102 सेंमी ऊपर बह रही थी. उसमें भी बढ़ोतरी का रुख है.

अधवारा नदी दरभंगा जिले के एकमी घाट पर खतरे के निशान से 32 सेंमी ऊपर बह रही थी. बागमती नदी मुजफ्फरपुर जिले के बेनीबाद में खतरे के निशान से 32 सेमी ऊपर और दरभंगा जिले के हायाघाट में दो सेमी ऊपर बह रही थी.

भद्र घाट में सड़क पर आया पानी, कंगन घाट की सीढ़ी डूबी

खतरनाक हो चुकी गंगा का पानी मंगलवार को भद्र घाट की सीढ़ियों से चढ़ता हुआ सड़क को छू गया है. इधर, कंगन घाट और महावीर घाट की सीढ़ियां भी पानी में डूब गयी हैं. लोगों का कहना है कि दो से तीन फुट पानी अगर और बढ़ा तो गंगा का पानी घरों के भीतर भी आ सकता है. पटना के लॉ कॉलेज घाट, कृष्णा घाट, रानी घाट, काली घाट और पटना कॉलेज घाट पर पानी तेजी से बढ़ रहा है.

पटना के डीएम डॉ चंद्रशेखर सिंह ने कहा कि जिले में बाढ़ को लेकर प्रशासन अलर्ट है. सभी सीओ, बीडीओ और एसडीओ को अलर्ट मोड में रहने और गांव से संपर्क बनाये रखने का निर्देश दिया गया है. प्रशासन की टीमें प्रभावित इलाकों में जाकर लोगों को आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध करा रही हैं. बाढ़ से राहत और बचाव का काम शुरू कर दिया गया है.

Posted by Ashish Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें