1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. five government schools in the city will be built with 650 million smart equipped with cctv and state of the art laboratory rdy

साढ़े 6 करोड़ से शहर के पांच सरकारी स्कूल बनेंगे स्मार्ट, सीसीटीवी व अत्याधुनिक प्रयोगशाला से होंगे युक्त

Bihar News सरकारी स्कूलों के भवनों में दरार की समस्या आम है. इस ग्रुप में शामिल स्कूलों में रेट्रोफिटिंग विधि से काम कराया जायेगा.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
साढ़े 6 करोड़ से शहर के पांच सरकारी स्कूल बनेंगे स्मार्ट
साढ़े 6 करोड़ से शहर के पांच सरकारी स्कूल बनेंगे स्मार्ट
Symbolic Pic

Bihar News: भागलपुर में जल्द ही पांच सरकारी स्कूल किसी भी अत्याधुनिक स्कूल से सुविधाओं के मामले में टक्कर देंगे. स्मार्ट सिटी मिशन के तहत इन पांच स्कूलों का चुनाव किया गया है. 6.33 करोड़ रुपये से चल रहे इस काम की जवाबदेही ऑरिक कंस्ट्रक्ससिव को मिला है. वर्ष 2022 तक इस काम को पूरा कर देने का लक्ष्य है. इस बदलाव में न केवल स्कूल के भवन स्मार्ट होंगे, बल्कि डेस्क-बेंच से लेकर अन्य सुविधाएं भी बदल जायेंगी.

बता दें कि इस योजना की रूपरेखा पहले ही बनी थी और तत्कालीन नगर आयुक्त अवनीश कुमार सिंह ने शहर के कई स्कूल का भी निरीक्षण किया गया था. स्कूलों में होनेवाले काम को ए और बी दो श्रेणी में बांटा गया है. सरकारी स्कूलों के भवनों में दरार की समस्या आम है. इस ग्रुप में शामिल स्कूलों में रेट्रोफिटिंग विधि से काम कराया जायेगा.

ऐसे काम खास कर भुकंपवाले इलाके के भवनों में होते हैं और काफी मजबूती आती है. इसके अलावा भवन के जीर्णोद्धार से संबंधित सभी कार्य कराये जायेंगे. स्कूलों को सीसीटीवी से युक्त करने के साथ-साथ यहां की बिजली व्यवस्था, नये भवन का निर्माण सहित अन्य कार्य कराये जायेंगे.

रखरखाव की जवाबदेही भी होगी तय

सबसे महत्वपूर्ण बात यह कि न केवल काम किया जायेगा, बल्कि इसके रखरखाव की जवाबदेही भी पांच वर्ष तक स्मार्ट सिटी मिशन के अधिकारियों के ही जिम्मे होगी. इस समझौते के प्रावधानों के अनुसार स्कूलों की प्रयोगशालाओं व पुस्तकालय को भी समृद्ध बनाना होगा. सभी जरूरी किताबें व प्रयोगशाला की चीजें अपडेट रखनी होगी.

6.33 करोड़ रुपये की लागत से पांचों स्कूलों को महानगरीय स्कूलों की तर्ज पर सजाने-संवारने का काम चल रहा है. स्कूलों में सबकुछ बदल जायेगा. इन स्कूलों को देखने आयेंगे लोग. स्मार्ट सिटी के रूप में भागलपुर के चयन के बाद ही यह पहल हुई थी.

प्रफुल्ल चंद्र यादव, नगर आयुक्त सह प्रबंध निदेशक स्मार्ट सिटी लिमिटेड, भागलपुर

Posted by: Radheshyam Kushwaha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें