1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. employment found in bihar even during corona period campus selection of 477 students of engineering colleges asj

कोरोना काल के दौरान भी बिहार में मिला रोजगार, इंजीनियरिंग कॉलेजों के 477 विद्यार्थियों का हुआ कैंपस सेलेक्शन

आर्यभट ज्ञान विश्वविद्यालय (एकेयू) के अंतर्गत बिहार के विभिन्न इंजीनियरिंग कॉलेज कोरोना के समय में भी प्लेसमेंट का नया रिकॉर्ड बनाने में जुटे हैं. राज्य के सरकारी व निजी इंजीनियरिंग कॉलेजों में सत्र 2020-21 के लिए अब तक 450 से अधिक विद्यार्थियों को जॉब मिल चुका है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
आर्यभट ज्ञान विश्वविद्यालय
आर्यभट ज्ञान विश्वविद्यालय
फाइल

अनुराग प्रधान,पटना. आर्यभट ज्ञान विश्वविद्यालय (एकेयू) के अंतर्गत बिहार के विभिन्न इंजीनियरिंग कॉलेज कोरोना के समय में भी प्लेसमेंट का नया रिकॉर्ड बनाने में जुटे हैं. राज्य के सरकारी व निजी इंजीनियरिंग कॉलेजों में सत्र 2020-21 के लिए अब तक 450 से अधिक विद्यार्थियों को जॉब मिल चुका है.

यह आंकड़ा सत्र 2019-20 से अधिक है. सत्र 2019-20 में 400 विद्यार्थियों का कैंपस प्लेसमेंट हुआ था. वहीं, 2018-19 में 264 से अधिक विद्यार्थियों का प्लेसमेंट हुआ था, लेकिन इस बार का आंकड़ा काफी पार कर गया है. सत्र 2020-21 के लिए अभी प्लेसमेंट की संख्या और बढ़ेगी, क्योंकि अभी सितंबर तक प्लेसमेंट की प्रक्रिया चलेगी.

इसके साथ ही 2021-22 के लिए भी प्लेसमेंट की प्रक्रिया शुरू हो गयी है. अब तक 27 विद्यार्थियों का सेलेक्शन हो चुका है. सत्र 2020-21 का रिकॉर्ड तोड़ने का लक्ष्य भी इस बार रखा गया है. इसके लिए स्टूडेंट्स को अधिक-से-अधिक ट्रेंड किया जा रहा है.

2022 में प्लेसमेंट के नये रिकॉर्ड का लक्ष्य

आर्यभट ज्ञान विश्वविद्यालय (एकेयू) के प्लेसमेंट एंड ट्रेनिंग सेंटर के को-ऑर्डिनेटर मो अतीकुर रहमान ने कहा कि कोरोना का दौर बिहार के इंजीनियरिंग कॉलेजों के विद्यार्थियों के लिए बेहतर रहा. कोरोना के दौरान वर्चुअल सेलेक्शन प्रक्रिया में कंपनियों को कम समय और कम लागत में मेधावी विद्यार्थी मिल रहे हैं. वर्चुअल सेलेक्शन प्रक्रिया में कंपनियों के समय और पैसे की भी बचत हो रही है.

आपदा में भी विद्यार्थियों के लिए बेहतर माहौल मिला है. इसका पॉजिटिव असर सेलेक्शन प्रक्रिया पर पड़ा है. जॉब के साथ-साथ इंटर्नशिप की प्रक्रिया भी चल रही है. कैंपस पूल के तहत हर कॉलेज के विद्यार्थी इसमें शामिल हो सकते हैं. अलग-अलग ग्रुपों के लिए भी काफी जॉब ऑफर है. एकेयू 2022 में प्लेसमेंट का रिकॉर्ड कायम करेगी.

इंजीनियरिंग कॉलेजों में कैंपस सेलेक्शन

  • 2020-21 450

  • 2019-20 400

  • 2018-19 264

नोट : 2020-21 के लिए प्लेसमेंट की प्रक्रिया अब भी जारी

आइआइटी और सिस्को दे रहे ट्रेनिंग

विज्ञान एवं प्रावैधिकी विभाग के मंत्री सुमित कुमार सिंह ने कहा कि संस्थान स्तर पर ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट सेल को सशक्त और क्रियाशील बनाया जा रहा है, ताकि इंजीनियरिंग कॉलेज व पॉलिटेक्निक के छात्रों के नियोजन के प्रतिशत में अधिक-से-अधिक वृद्धि हो सके.

इसके लिए बहुत सारे प्रशिक्षण कार्यक्रम आइआइटी पटना, सिस्को आदि संस्थानों के सहयोग से चलाये जा रहे हैं, ताकि स्टूडेंट्स को उद्योग की मांग के अनुरूप तैयार हो सके. सत्र 2021-22 के लिए प्लेसमेंट की प्रक्रिया भी शुरू हो गयी है. शुरू में ही एचसीएल ने 27 विद्यार्थियों को जॉब दिया है.

वहीं, टीसीएस, आइबीएम, विप्रो, एससीएल आदि कंपनियां लगातार बिहार इंजीनियरिंग कॉलेजों के विद्यार्थियों को प्लेसमेंट दे रही हैं. अब तक आठ से 10 कंपनियां इंटरव्यू प्रक्रिया में शामिल होने के लिए तैयार हैं. मई, 2022 तक प्लेसमेंट का दौर चलता रहेगा.

Posted by Ashish Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें