1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. coronavirus in bihar a large number of young people reaching the hospitals icu complaining of lung failure are common asj

Coronavirus in Bihar : अस्पताल के आइसीयू में पहुंच रहे बड़ी संख्या में युवा, फेफड़े फेल होने की शिकायत कॉमन

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
सांकेतिक
सांकेतिक
फाइल

साकिब, पटना. इन दिनों कोरोना के मरीज बड़ी संख्या में आइसीयू पहुंच रहे हैं. कोरोना की इस दूसरी लहर में सबसे चिंताजनक बात यह सामने आ रही है कि बड़ी संख्या में युवा भी गंभीर रूप से बीमार होकर अस्पतालों के आइसीयू में पहुंच रहे हैं.

पटना के सभी प्रमुख अस्पतालों की आइसीयू में 40 से कम आयु के युवा मौजूद हैं. कई जगहों पर तो 30 वर्ष से कम के युवा भी आइसीयू में हैं. डाॅक्टर बता रहे हैं कि कोरोना की पिछली लहर में युवा इतनी संख्या में आइसीयू तक नहीं पहुंचे थे. हाल यह है कि आइजीआइएमएस में 45 बेडों के आइसीयू में सोमवार को 34 मरीज ऐसे थे जिनकी उम्र 50 वर्ष से ज्यादा थी, वहीं 10 मरीज ऐसे थे जिनकी उम्र 40 से 50 वर्ष के बीच थी, जबकि एक मरीज 29 वर्ष की महिला थी.

आइजीआइएमएस के चिकित्सा अधीक्षक डाॅ मनीष मंडल कहते हैं कि हमारे यहां आइसीयू में ही कोविड मरीजों का इलाज होता है. हमारे यहां आइसीयू में बड़ी संख्या में ऐसे मरीज आ रहे हैं, जिनकी उम्र 50 से कम होती है. 30 से कम उम्र के भी आ रहे हैं. सभी में फेफड़े की समस्या काॅमन होती है. पांच दिनों में हमारे यहां 11 मरीजों की मौत कोविड आइसीयू में हुई है. इन सभी का फेफड़ा फेल हो चुका था.

पीएमसीएच कोविड वार्ड के नोडल पदाधिकारी डाॅ अजय अरुण कहते हैं कि कोरोना की पिछली लहर में युवा न के बराबर ही आइसीयू तक पहुंचते थे. लेकिन इस बार तो बड़ी संख्या में 45 से कम आयु वर्ग के युवा आइसीयू में पहुंच रहे हैं. सबसे चिंताजनक बात तो यह है कि 18 से 22 आयु वर्ग के युवा भी हमारे यहां आ रहे हैं. अब भी दो से तीन युवक यहां आइसीयू में भर्ती हैं.

एशियन हाॅस्पिटल के जीएम आॅपरेशन एंड एडमिन राजीव रंजन बताते हैं कि 35 से 40 वर्ष के बीच के युवा भी हमारे यहां आ रहे हैं. इससे भी कम उम्र के एक युवा मरीज हमारे आइसीयू में अभी हैं. कोरोना की इस लहर से युवा भी गंभीर रूप से बीमार होकर आइसीयू तक आ रहे हैं.

कोविड निमोनिया के कारण फेफड़े हो रहे प्रभावित

रूबन मेमोरियल अस्पताल के एमडी डाॅ सत्यजीत सिंह कहते हैं कि कोरोना के कारण जो मरीज हमारे यहां आइसीयू में आते हैं, उनमें काॅमन समस्या कोविड निमोनिया की होती है. इससे फेफड़ा प्रभावित होता है. हमारे यहां तो आइसीयू में 50 प्रतिशत से ज्यादा मरीज 25 से 45 आयु वर्ग के हैं.

Posted by Ashish Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें