1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. coronavirus bihar politics latest news update bihar deputy cm sushil modi targets rjd over lalu yadav bail demand before bihar assembly election 2020

लालू प्रसाद के जेल में दरबार लगाने पर कोर्ट संज्ञान ले : सुशील मोदी

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
सुशील मोदी का ट्वीट, कहा- लालू प्रसाद राजनीतिक बंदी नहीं, जो कोर्ट में दरबार लगाएं.
सुशील मोदी का ट्वीट, कहा- लालू प्रसाद राजनीतिक बंदी नहीं, जो कोर्ट में दरबार लगाएं.
FILE PIC

Bihar Assembly Election 2020 CoronaVirus Bihar Politics Latest News Update पटना : बिहार के उपमुख्यमंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने सोमवार को ट्वीट कर राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के प्रमुख लालू प्रसाद यादव पर बड़ा हमला बोला है. सुशील मोदी ने अपने ट्वीट में कहा है कि लालू प्रसाद जेल में रहें या जमानत पर बाहर आयें, इसका फैसला न्यायालय को करना है, लेकिन कुछ लोग न्यायपालिका पर राजनीतिक दबाव बना रहे हैं.

उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने हमला तेज करते हुए आगे कहा कि राजद समर्थक एक दल ने कोरोना के बहाने राजनीतिक और सामाजिक बंदियों को पेरोल या जमानत पर छोड़ने की अपील करते हुए लालू प्रसाद को भी यह रियायत देने की मांगी की है. सजायाफ्ता से इतनी हमदर्दी दिखाने वाले यह तथ्य छिपा रहे हैं कि लालू प्रसाद चारा घोटाला के दोष सिद्ध अपराधी हैं, कोई राजनीतिक बंदी नहीं. वे कोरोना काल में भी अगर जेल नियमों का उल्लंघन कर दरबार लगा रहे हैं, तो इस पर अदालत और सीबीआई को स्वत: संज्ञान लेना चाहिए.

भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी ने कहा कि कोरोना संक्रमण की जांच के लिए बिहार को 40 हजार रैपिड एंटीजन किट मिले, जिससे सभी जिलों में सैंपल की जांच 24 घंटे की बजाय अब मात्र 30 मिनट में होने लगेगी. दूसरी अच्छी खबर यह कि पिछले 20 दिनों में चमकी बुखार से एक भी मौत नहीं हुई.

उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने अपने एक अन्य ट्वीट में कहा कि मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार के इलाज के लिए 100 बिस्तर वाला विशेष अस्पताल एक साल के भीतर बना लेने से इस रोग पर काफी हद तक काबू पाया जा सका. पिछले साल राजद के राजकुमार चमकी बुखार से पीड़ित बच्चों के परिवार से मिलने तक नहीं गये थे. अब उन्हें कम से कम विशेष अस्पताल तो देख ही लेना चाहिए.

सुशील मोदी ने कहा कि विपक्ष रोज बयान देकर पीड़ित परिवारों का मनोबल तोड़ रहा है और स्वास्थ्य सेवाओं के ICU में होने का अनर्गल आरोप लगा रहा है. लेकिन, उन्हें कोरोना और चमकी बुखार से निपटने में सरकार की तत्परता दिखाई नहीं पड़ती.

Upload By Samir Kumar

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें