1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. central team took stock of floods bihar government sought compensation of 3763 crores asj

केंद्रीय टीम ने लिया बाढ़ का जायजा, बिहार सरकार ने मांगी 3763 करोड़ की क्षतिपूर्ति

बिहार में बाढ़ में हुए नुकसान का जायजा लेने सोमवार को केंद्रीय टीम पटना पहुंची. गृह मंत्रालय के संयुक्त सचिव राकेश कुमार सिंह के नेतृत्व में छह सदस्यीय टीम ने मुख्य सचिव त्रिपुरारि शरण से मुलाकात की.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
सांकेतिक
सांकेतिक
फाइल

पटना. बिहार में बाढ़ में हुए नुकसान का जायजा लेने सोमवार को केंद्रीय टीम पटना पहुंची. गृह मंत्रालय के संयुक्त सचिव राकेश कुमार सिंह के नेतृत्व में छह सदस्यीय टीम ने मुख्य सचिव त्रिपुरारि शरण से मुलाकात की. वहीं, टीम के समक्ष विभिन्न विभागों ने कुल 3763.85 करोड़ रुपये की क्षति का प्रारंभिक मेमोरेंडम सौंपा है.

बाढ़ से हुए नुकसान के बारे में राज्य सरकार के अधिकारियों ने प्रेजेंटेशन दिया. पटना में बैठक के बाद टीम के टीम के सदस्य दरभंगा गये, जहां उन्होंने हवाई सर्वे के बाद यहां समाहरणालय में अधिकारियों के साथ बैठक की. इस दौरान दरभंगा, समस्तीपुर और मुजफ्फरपुर जिलों में बाढ़ से हुई क्षति का ब्योरा और राहत कार्य की जानकारी ली.

आपदा प्रबंधन विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने कहा कि केंद्रीय टीम मंगलवार की सुबह भागलपुर होते हुए शाम पांच बजे तक पटना लौट जायेगी. पटना लौटने के बाद दोबारा बैठक होगी और टीम के माध्यम से किये गये स्थल निरीक्षण के बारे में हर विभाग के अधिकारियों के साथ चर्चा होगी. उन्होंने कहा कि उस चर्चा में टीम को किसी भी तरह की और जानकारी चाहिए होगी, तो वह संबंधित विभाग की ओर से जुटायी जायेगी.

आपदा विभाग के मुताबिक टीम बाढ़ग्रस्त इलाकों का स्थल निरीक्षण करेगी और वहां के लोगों से मुलाकात भी करेगी. साथ ही टीम अपने निरीक्षण के दौरान रिपोर्ट तैयार करेगी और उसे केंद्र सरकार गृह मंत्रालय को सौंपेगी. इस रिपोर्ट के आधार पर और बिहार सरकार के आपदा विभाग के मेमोरेंडम को मिलाकर सरकार बाढ़ राहत में क्षतिपूर्ति की भरपाई के लिए राशि देगी. स्थल निरीक्षण में टीम संबंधित जिले के प्रशासनिक अधिकारियों से भी मिलेगी.

टीम को आपदा विभाग ने दी यह जानकारी

आपदा प्रबंधन विभाग ने केंद्रीय टीम को बताया है कि अब तक 7,95,538 बाढ़पीड़ित परिवारों को आनुग्रहिक राहत की राशि के रूप में प्रति परिवार छह-छह हजार रुपये की दर से कुल 477.32 करोड़ रुपये भेज दिये गये हैं. बाकी पीड़ित परिवारों को राशि के भुगतान की कार्रवाई हो रही है. यह राशि सीधे बैंक खाते में भेजी गयी है. वहीं, बाढ़ के दौरान हुए 53 से अधिक लोगों को अब तक अनुदान राशि दी गयी है.

दूसरा ज्ञापन भी भेजे जाने की उम्मीद

अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने कहा कि इस माह तक बाढ़ को लेकर खतरा रहता है, ऐसे में सभी विभागों की ओर से नुकसान का ब्योरा एक साथ दिया गया है. इसे हम अभी प्रारंभिक मेमोरेंडम कह सकते है. उन्होंने कहा कि अभी 20 दिन बाकी हैं. ऐसे में बाढ़ की स्थिति दोबारा से कभी-कभी खराब हो जाती है. इसलिए हमने अभी टीम को प्रारंभिक बाढ़ नुकसान की प्रारंभिक रिपोर्ट सौंप दी है.

इन जिलों में सबसे अधिक बाढ़ से लोग हुए हैं पीड़ित

बाढ़ से 26 जिले पीड़ित हुए हैं, लेकिन आपदा प्रबंधन विभाग के मुताबिक 16 ऐसे जिले हैं, जहां बाढ़ से सबसे अधिक परेशानी हुई है. विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक 16 जिलों के 99 प्रखंड, 701 पंचायत, 2589 गांवों के 35.46 लोग बाढ़ से पीड़ित हुए हैं, जिनमें मुजफ्फरपुर, दरभंगा, खगड़िया, सहरसा, पटना, वैशाली, भोजपुर, लखीसराय, भागलपुर, सारण, बक्सर, बेगूसराय, कटिहार, मुंगेर, समस्तीपुर और पूर्णिया शामिल हैं. वहीं, 53 से अधिक लोगों की मौत बाढ़ के कारण अब तक हो चुकी है.

केंद्रीय टीम को सौंपा गया बाढ़ क्षति का प्रारंभिक ब्योरा

विभाग क्षति (रुपये में)

  • जल संसाधन 1469.99 करोड़

  • आपदा प्रबंधन 1168.69 करोड़

  • कृषि 661.16 करोड़

  • पथ निर्माण 203.14 करोड़

  • ग्रामीण कार्य 234.70 करोड़

  • ऊर्जा 14.37 करोड़

  • पीएचइडी 7.66 करोड़

Posted by Ashish Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें