1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. bihar weather forecast 15 days expected more rain than normal in may department released month long forecast rdy

Bihar Weather: मई में सामान्य से अधिक बारिश के आसार, विभाग ने जारी किया महीने भर का पूर्वानुमान

मौसम विज्ञान विभाग ने शनिवार को लंबे समयावधि का मौसम पूर्वानुमान जारी किया है. बताया कि भारत में ला-नीना की दशा चल रही है, जिसकी वजह से इस साल बिहार में प्री मॉनसून बारिश अच्छी खासी हो सकती है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
Bihar Weather Update
Bihar Weather Update
Prabhat khabar

पटना. मौसम विज्ञान विभाग ने पूरे मई के लिए मौसम पूर्वानुमान जारी किया है. इसके मुताबिक इस माह सामान्य से अधिक बारिश होगी. अधिकतम तापमान सामान्य के आसपास रहेगा. वहीं न्यूनतम तापमान काफी बढ़ा हुआ रहेगा. दूसरी ओर आगामी 48 घंटे तक उत्तरी और पूर्वी बिहार में 40 से 60 किलोमीटर प्रति घंटे की हवा के साथ हल्की से मध्यम बारिश के आसार हैं. मध्य और दक्षिणी बिहार में भी 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से पुरवैया चलने का पूर्वानुमान है.

बिहार में प्री मॉनसून बारिश सामान्य से अधिक होने के आसार

मौसम विज्ञान विभाग ने शनिवार को लंबे समयावधि का मौसम पूर्वानुमान जारी किया है. बताया कि भारत में ला-नीना की दशा चल रही है, जिसकी वजह से इस साल बिहार में प्री मॉनसून बारिश अच्छी खासी हो सकती है. जब महासागर में तापमान सामान्य से नीचे होता है तो उसे ला नीना की स्थिति कहते हैं. इसका चक्रवात पर भी असर होता है. ये अपनी तेज गति के साथ के साथ चक्रवातों की दिशा बदलने में सक्षम है.

कई इलाकों में सामान्य से अधिक हुई बारिश

इसकी वजह से दक्षिण पूर्व एशिया में काफी नमी वाली स्थिति पैदा होती है, इसकी वजह से अधिक बारिश की स्थिति बनती है. आइएमडी की आधिकारिक जानकारी के मुताबिक पिछले 36 घंटे में उत्तरी-पूर्वी और पश्चिमी बिहार में कई इलाकों में सामान्य से अधिक बारिश दर्ज की गयी है. इसकी वजह से पूरे प्रदेश में उच्चतम तापमान और न्यूनतम पारा सामान्य से नीचे आ गया है.

जब आसमान में छा गये धूल के गुबार, दोपहर में ढका आसमान

पटना शहर के ऊपर तेज पुरवैया चलने से पूरे शहर के आसमान में धूल का गुबार देखा गया. सेटेलाइट की तस्वीरों में इसकी स्थिति बेहद चिंता में डालने वाली थी. गंगा के किनारे वाले इलाके में तो आसमान में धूल के गुबार से सूरज में बहुत कम चमकता दिखाई दिया. धूल और रेत के महीने कण (पीएम 2. 5 ) अगले कुछ दिन लोगों के स्वास्थ्य पर घातक असर डाल सकते हैं. पटना जैसी ही स्थिति गंगा के निकटवर्ती अन्य शहरों की यही स्थिति बतायी गयी है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें