1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. bihar weather bihar temperature is falling it cold till 20 asj

Bihar Weather : गिर रहा है बिहार में पारा, 20 तक पड़ने लगेगी कड़ाके की ठंड

कश्मीर के पहाड़ों पर पड़ रही बर्फबारी के कारण पारा गिरने का सिलसिला शुरू हो गया है,ठंड पुरजोर तरीके से पड़नी शुरू हो गई है. 14 नवंबर की सुबह का तापमान इसकी तस्दीक है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
बिहार में गिरने लगा है पारा, आने वाले दिनों में बढ़ेगी ठंड
बिहार में गिरने लगा है पारा, आने वाले दिनों में बढ़ेगी ठंड
प्रभात खबर ग्राफिक्स

गोपालगंज. कश्मीर के पहाड़ों पर पड़ रही बर्फबारी के कारण पारा गिरने का सिलसिला शुरू हो गया है,ठंड पुरजोर तरीके से पड़नी शुरू हो गई है. 14 नवंबर की सुबह का तापमान इसकी तस्दीक है. 14 नवंबर को सुबह गोपालगंज का तापमान 15.5 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड हुआ, जबकि दिन का तापमान 27.1 उिग्री दर्ज हुआ. दोपहर तक चल रही पूर्वी हवाओं और दोपहर बाद चल रही पछुआ हवाओं ने शहर का प्रदूषण बढ़ा दिया है.

बंगाल की खाड़ी की ओर से चल रहीं पूर्वी हवाएं उच्च वायुदाब बना रही है, ऐसे में पछुआ हवाओं के माध्यम से पश्चिम की ओर से आ रहा प्रदूषण शहर के वायुमंडल में उलझ कर रह जा रहा है. 14 नवंबर को एयर क्वालिटी इंडेक्स का 220 तक पहुंच जाना इसकी तस्दीक है.

दिन में धुप लोगों की पसीना छुड़ा रही है जबकि रात में पारा के गिरने से घरों में अब चादर व कंबल की जरूरत पड़ने लगी है. अधिकतम व न्यूनतम पारा में 12 डिग्री की कमी लोगों की सेहत को बिगाड़ रही है.

20 दिसंबर तक 12 डिग्री सेल्सियस पहुंच जाएगा पारा

मौसम विज्ञानी के मुताबिक 20 दिसंबर तक यह सिलसिला गुलाबी ठंड से कड़ाके की ठंड में तब्दील हो जाएगा. न्यूनतम तापमान गिरकर 12 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने लगेगा. अधिकतम तापमान भी 25 डिग्री सेल्सियस से आगे नहीं बढ़ पाएगा.

ठंड बढ़ने की वजह वह पछुआ हवाएं होंगी, जो पश्चिमोत्तर की पहाड़ों से ठंड लेकर आएंगी. मौसम विज्ञानी यह भी बता रहे हैं कि इस बार की ठंड नए रिकार्ड बनाएगी. इसकी वायुमंडलीय परिस्थितियां तैयार हो रही हैं. पहाड़ों पर बर्फबारी का सिलसिला शुरू हो गया है.

दीपावली व छठ की वजह से से बढा प्रदूषण

मौसम विज्ञानी डॉ एसएन पांडेय प्रदूषण बढ़ने की एक बड़ी वजह दीपवाली व छठ के दिन हुई आतिशबाजी बता रहे हैं. कुछ स्थानों पर खेतों में जलाई जा रही पराली भी प्रदूषण को बढ़ाने का कारण बन रही है. इसी वजह से मौसम विज्ञान किसानों से खेतों में पराली न जाने का अनुरोध कर रहे हैं. प्रदूषण की वजह से वह लोगों को बिना जरूरत घर से कम निकलने की सलाह भी दे रहे हैं.

Posted by Ashish Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें