1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. bihar news these days the irani gang of jalaun up is active in bihar looting by becoming a fake stf rdy

Bihar News: बिहार में इन दिनों यूपी के जालौन का ईरानी गिरोह सक्रिय, फर्जी एसटीएफ बन कर रहा लूटपाट

पांच लाख गायब करने के मामले में पुलिस ने जांच की थी तो चार अपराधियों की तस्वीर सीसीटीवी फुटेज में दिखी. इनमें से एक की पहचान कदमकुआं इलाके के ईरानी गिरोह के सदस्य शहजाद के रूप में की गयी थी.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
बिहार में इन दिनों यूपी के जालौन का ईरानी गिरोह सक्रिय
बिहार में इन दिनों यूपी के जालौन का ईरानी गिरोह सक्रिय
सांकेतिक फोटो

Bihar News: बिहार में इन दिनों यूपी के जालौन का ईरानी गिरोह सक्रिय है. इस गिरोह के सदस्य फर्जी एसटीएफ बन कर व्यापारियों को लूटते हैं. हाल में ही इस गिरोह ने पटना के पीरबहोर थाना इलाके के जीएम रोड, अशोक राजपथ, बाकरगंज आदि इलाकों में सिपाही बन कर चेकिंग करने के दौरान बैग से रुपये या सोना गायब कर दिया था. इसका खुलासा तब हुआ जब पटना पुलिस ने इस गिरोह के एक सदस्य की गिरफ्तारी की. फिलहाल इस गिरोह के अन्य सदस्य फरार हैं.

पुलिस भी इस गिरोह के संबंध में जानकारी जुटा रही है. सभी यूपी के जालौन इलाके के रहने वाले हैं. बीते आठ सितंबर को इस गिरोह ने बक्सर के दवा व्यवसायी सौरभ सिंह को एसटीएफ बन कर चेकिंग की थी और पांच लाख रुपये गायब कर दिये थे. इसी तरह बुधवार को भी भोजपुर के जेवर व्यवसायी लाल गुप्ता को सिपाही बता कर चेकिंग की. 3.79 लाख रुपये बैग से निकाल कर फरार हो गये.

पांच लाख गायब करने के मामले में पुलिस ने जांच की थी तो चार अपराधियों की तस्वीर सीसीटीवी फुटेज में दिखी. इनमें से एक की पहचान कदमकुआं इलाके के ईरानी गिरोह के सदस्य शहजाद के रूप में की गयी थी. जबकि तीन अन्य के नामों की जानकारी नहीं मिल पायी थी. ये सभी यूपी के जालौन इलाके के रहने वाले हैं. शहजाद को पहले भी कदमकुआं इलाके से गिरफ्तार कर पुलिस ने जेल भेजा था. हालांकि यह अभी फरार है. 3.79 लाख गायब करने के मामले में भी फुटेज में शहजाद नजर आया है.

जांच के नाम पर होती है लूट

हाल में ही पटना के जीएम रोड, अशोक राजपथ, बाकरगंज में कई घटनाओं को अंजाम दे चुका है. ईरानी गिरोह के निशाने पर बाकरगंज व जीएम रोड में आने वाले व्यवसायी रहते हैं. बाकरगंज में पूरे बिहार से जेवर व्यवसायी खरीदारी करने आते हैं. जबकि जीएम रोड में भी पूरे बिहार से व्यवसायी दवा खरीदने आते हैं. यह गिरोह जानता है कि इन मंडियों में लाखों रुपयों की खरीद-बिक्री होती है. इस कारण गिरोह के सदस्य सक्रिय रहते हैं.

Posted by: Radheshyam Kushwaha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें