1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. bihar news protest over land to be acquired for metro depot many houses have been built in pahari and ranipur mauja rdy

Bihar News: मेट्रो डिपो को लेकर अधिग्रहण की जाने वाली जमीन पर विरोध, पहाड़ी व रानीपुर मौजा में बने हैं कई मकान

पटना शहर की तैयार हो रही नयी लाइफलाइन पटना मेट्रो पर जमीन विवाद की छाया पड़ने लगी है. मलाही पकड़ी में अतिक्रमण हटाने के दौरान हुई हिंसा में एक की मौत के बाद अब मेट्रो डिपो को लेकर अधिग्रहण की जाने वाली जमीन को लेकर भी स्थानीय लोगों का विरोध शुरू हो गया है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
मेट्रो डिपो को लेकर अधिग्रहण की जाने वाली जमीन पर विरोध
मेट्रो डिपो को लेकर अधिग्रहण की जाने वाली जमीन पर विरोध
फाइल फोटो

Bihar News: पटना शहर की तैयार हो रही नयी लाइफलाइन पटना मेट्रो पर जमीन विवाद की छाया पड़ने लगी है. मलाही पकड़ी में अतिक्रमण हटाने के दौरान हुई हिंसा में एक की मौत के बाद अब मेट्रो डिपो को लेकर अधिग्रहण की जाने वाली जमीन को लेकर भी स्थानीय लोगों का विरोध शुरू हो गया है. फिलहाल मेट्रो का काम एलिवेटेड रूट पर ही शुरू हुआ है. इसमें मलाही पकड़ी, खेमनीचक, भूतनाथ रोड,जीरो माइल, मीठापुर, रामकृष्णा नगर, जगनपुरा, दानापुर, सगुना मोड़, आरपीएस मोड़ व पाटलिपुत्र बस टर्मिनल का क्षेत्र शामिल है. इनमें अधिकांश की जमीन मुख्य सड़क के बगल में है. लेकिन, चिह्नित रूट में कुछ जगह की खाली जमीन पर अतिक्रमणकारियों का कब्जा है.

चरणवार हटाया जा रहा अतिक्रमण

रूट के मलाही पकड़ी, भूतनाथ रोड व आरपीएस मोड़ के पास मेट्रो के लिए प्रस्तावित जमीन पर अतिक्रमण है. इसको चरणवार धीरे-धीरे हटाने की कार्रवाई की जा रही है. अंतरराष्ट्रीय एजेंसी से लोन मिलने पर भविष्य में अंडरग्राउंड रूट पर काम शुरू होगा. इनमें फ्रेजर रोड, गांधी मैदान व अशोक राजपथ का पॉश इलाका भी शामिल है.

मेट्रो डिपो के लिए पहाड़ी व रानीपुर मौजा में करीब 76 एकड़ जमीन प्रस्तावित की गयी है. इसको लेकर जल्द ही राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग अधिसूचना जारी करेगा. लेकिन, इससे पहले ही चिह्नित जमीन को लेकर स्थानीय लोगों का विरोध शुरू हो चुका है. वार्ड 56 के पार्षद प्रतिनिधि बलराम मंडल ने बताया कि अकेले पहाड़ी मौजा पर ही 70 से 80 मकान बने हैं. रानीपुर मौजा में भी जमीन पर कई मकान हैं.

मुआवजा तो मिलेगा, लेकिन परिवार भूमिहीन हो जायेंगे. उन्होंने कहा कि रानीपुर मौजा और पहाड़ी मौजा के बीच नमामि गंगे योजना से पाइपलाइन बिछायी गयी है. यह पाइपलाइन बादशाही नाले से मिल रही है. इस पाइपलाइन के ऊपर मेट्रो यार्ड का निर्माण होने से गाद जमा होने की स्थिति में पूरे शहर में जलजमाव होगा. इस प्रोजेक्ट पर 28 करोड़ रुपये से अधिक खर्च हुए हैं. इसलिए पहाड़ी मौजा के दक्षिण डिपो के लिए जमीन अधिग्रहण किये जाने की मांग की.

मलाही पकड़ी में 50 अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज

पटना . कंकड़बाग मलाही पकड़ी में अतिक्रमण हटाने के दौरान हुए हंगामा, पथराव के मामले में पत्रकार नगर थाने में 50 अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है. यह मामला जिला प्रशासन से एक मजिस्ट्रेट के बयान पर दर्ज की गयी है. जिसमें इस बात का जिक्र किया गया है कि टीम जब अतिक्रमण हटाने के लिए पहुंची तो वहां लोगों ने हंगामा किया और पथराव किया.

मलाही पकड़ी कांड में डीएम ने मांगी रिपोर्ट

मलाही पकड़ी में अतिक्रमण हटाने के दौरान हुई हिंसा और एक व्यक्ति की मौत मामले में पटना डीएम डॉ चंद्रशेखर सिंह ने मामले की जांच रिपोर्ट पटना सदर के एसडीओ और डीएसपी से मांगी है. रिपोर्ट आने के बाद नियमों के मुताबिक कार्रवाई होगी. इस मामले को लेकर एक प्रतिनिधिमंडल डीएम से गुरुवार को मिला और अपनी मांग रखी. डीएम ने उन्हें सरकारी प्रावधान और विधिसम्मत जरूरी कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है. इस मामले में भूमिहीन व्यक्तियों को सरकारी प्रावधान के अनुसार निकटवर्ती ग्रामीण क्षेत्र में बसने योग्य भूमि प्रदान करने के लिए डीसीएलआर पटना सदर की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया गया है.

इस संबंध में कमेटी द्वारा जांच के बाद जो रिपोर्ट आयेगी उसके अनुरूप अपेक्षित कार्रवाई की होगी. उन्होंने कहा कि सरकारी नौकरी देने का प्रावधान नहीं है, बल्कि सरकारी योजनाओं के अधीन रोजगार और स्वरोजगार प्रदान किया जायेगा. इधर, मांगों को लेकर पटना झुग्गी झोंपड़ी निवासी संघ व सीपीआइ का प्रतिनिधिमंडल डीएम चंद्रशेखर सिंह से मिला. लोगों को मुआवजा दिलाने की मांग की.

Posted by: Radheshyam Kushwaha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें