1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. bihar news 11th and 12th class students want good marks in board exam then they have to give mock test rdy

Bihar News: 11वीं और 12वीं के विद्यार्थियों को बोर्ड एग्जाम में चाहिए अच्छे अंक तो देना होगा मॉक टेस्ट

गया गाइडेंस प्रोग्राम के तहत पढ़ाये जाने वाले विषयों पर साप्ताहिक व मासिक स्तर पर मॉक टेस्ट का आयोजन किया जा रहा है. प्रोग्राम से जुड़े शिक्षकों के मुताबिक परीक्षा से कुछ महीने पहले मॉक टेस्ट में सभी विद्यार्थी अनिवार्य रूप से शामिल हों इस पर फोकस किया जायेगा.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
11वीं और 12वीं के विद्यार्थियों को बोर्ड एग्जाम में चाहिए अच्छे अंक तो देना होगा मॉक टेस्ट
11वीं और 12वीं के विद्यार्थियों को बोर्ड एग्जाम में चाहिए अच्छे अंक तो देना होगा मॉक टेस्ट
File

Bihar News: गया जिले में 11वीं व 12वीं के विद्यार्थियों को बोर्ड व सेंटअप परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त कराने के उद्देश्य के साथ गया गाइडेंस प्रोग्राम के तहत मॉक टेस्ट का आयोजन किया जा रहा है. खास कर यह व्यवस्था 12वीं के विद्यार्थियों के लिए की गयी है. गया गाइडेंस प्रोग्राम के तहत पढ़ाये जाने वाले विषयों पर साप्ताहिक व मासिक स्तर पर मॉक टेस्ट का आयोजन किया जा रहा है.

विद्यार्थियों के पढ़ाने वाले मेंटर इस मॉक टेस्ट को बीते बोर्ड परीक्षाओं की तरह लेते हैं, ताकि विद्यार्थियों को परीक्षा की तैयारी भी करायी जा सके. प्रोग्राम से जुड़े शिक्षकों के मुताबिक परीक्षा से कुछ महीने पहले मॉक टेस्ट में सभी विद्यार्थी अनिवार्य रूप से शामिल हों इस पर फोकस किया जायेगा. उल्लेखनीय है कि जिला शिक्षा कार्यालय की ओर से 11वीं व 12वीं के विद्यार्थियों के लिए गया गाइडेंस प्रोग्राम के माध्यम से ऑनलाइन क्लास चलाया जा रहा है.

विद्यार्थियों के फायदे की बात

गया गाइडेंस प्रोग्राम के मेंटर ग्रुप के सदस्य सह +2 जिला स्कूल के गणित शिक्षक प्रमोद कुमार ने बताया कि मॉक टेस्ट विद्यार्थियों के लिए फायदेमंद साबित होगा. उन्होंने कहा कि कोई भी विद्यार्थी अच्छी तैयारी के साथ बोर्ड परीक्षा देने जाता है. लेकिन, प्रश्न पत्र सामने आते ही उस पर एक मानसिक दबाव बनता है.

इसकी वजह से कई बाद विद्यार्थी तैयारी होने के बावजूद बेहतर प्रदर्शन नहीं कर पाते हैं. गया गाइडेंस प्रोग्राम के तहत मॉक टेस्ट के आयोजन का उद्देश्य ही इस मानसिक दबाव को कम करना है. बोर्ड परीक्षा के तर्ज पर होने वाले मॉक टेस्ट देने से विद्यार्थी मानसिक रूप से परीक्षा के लिए तैयार हो जायेंगे. और, उन्हें परीक्षा में अच्छे अंक आयेंगे.

अपनी तैयारी को जान सकेंगे

गणित शिक्षक प्रमोद कुमार ने कहा कि डीपीओ माध्यमिक आनंद कुमार की देखरेख में चल रहे गया गाइडेंस प्रोग्राम में माॅक टेस्ट का एक और फायदा यह है कि इस टेस्ट में शामिल होकर विद्यार्थी सेल्फ इवेल्यूएशन कर पायेंगे. साप्ताहिक व मासिक टेस्ट वे परीक्षा के अंक से जान पायेंगे कि जितनी उन्होंने पढ़ाई की है वह उन्हें कितनी समझ आयी है. प्रमोद कुमार ने जिले के सभी कक्षा 11 वीं व 12 वीं के विद्यार्थियों से अपील की है कि वे सभी अनिवार्य रूप से ऑनलाइन क्लास में आयें और मॉक टेस्ट जरूर दें.

Posted by: Radheshyam Kushwaha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें