1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. bihar election 2020 oxford alumnus manish barriarr to fight against london return pushpam priya choudhary from bankipur assembly seat abk

बिहार चुनाव 2020: लंदन रिटर्न पुष्पम प्रिया को टक्कर देने मैदान में उतरे ऑक्सफोर्ड से पढ़े मनीष बरियार, जानिए बिहार को लेकर क्या है सोच...

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
लंदन रिटर्न पुष्पम प्रिया को टक्कर देने मैदान में उतरे ऑक्सफोर्ड से पढ़े मनीष बरियार
लंदन रिटर्न पुष्पम प्रिया को टक्कर देने मैदान में उतरे ऑक्सफोर्ड से पढ़े मनीष बरियार
PRABHAT KHABAR GRAPHICS.

पटना : बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी सरगर्मी के बीच कई प्रत्याशी ऐसे हैं जो बदलाव लाना चाहते हैं. ऐसे ही एक प्रत्याशी मनीष बरियार हैं. मनीष के मुताबिक वो बिहार में जाति आधारित नहीं, विकास आधारित राजनीति करना चाहते हैं. मनीष पटना के बांकीपुर सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे. बांकीपुर से बीजेपी के नितिन नबीन ने 2015 का विधानसभा चुनाव जीता था. जबकि, प्लूरल्स पार्टी की अध्यक्ष पुष्पम प्रिया चौधरी ने भी बांकीपुर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ने का ऐलान किया है. मनीष की मानें तो वो बिहार को तरक्की की राह पर ले जाना चाहते हैं. पुष्पम प्रिया चौधरी भी सोशल मीडिया पर लेट्स ओपेन बिहार कैम्पेन के जरिए बिहार को विकसित राज्य बनाने का सपना देख रही हैं.

मनीष बरियार ने की है ऑक्सफोर्ड से पढ़ाई

खास बात यह है कि दिल्ली स्थित भारतीय विदेश व्यापार संस्थान (आईआईएफटी) से एमबीए करने वाले मनीष बरियार ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से भी पढ़ाई की है. उन्होंने वौक्स नामक राजनीतिक दल की गठन किया है. उनके मुताबिक बिहार को बदलने का वक्त आ गया है. अगर उनके खिलाफ मैदान में उतरीं पुष्पम प्रिया चौधरी को देखें तो उन्होंने भी लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स से पढ़ाई की है. मार्च के महीने में पुष्पम प्रिया चौधरी ने बिहार के अखबारों में एक विज्ञापन देकर सुर्खियां बटोरी थी. विज्ञापन के जरिए पुष्पम प्रिया चौधरी ने 2020 में अपनी पार्टी की मुख्यमंत्री उम्मीदवार होने का दावा भी कर दिया था.

बिहार के लोगों को लाना होगा बदलाव: मनीष

मनीष बरियार के मुताबिक बिहारी होना गर्व की बात है. बिहार राज्य भारत का सच्चे मायनों में प्रतिनिधित्व करता है. इंटरनेशनल लेवल पर बिहार के लोगों ने बहुत कुछ हासिल किया है. हालांकि, राजनीति के क्षेत्र में बिहार को उतना खास हासिल नहीं हुआ, जितनी उम्मीद की जाती है. बिहार में बदलाव लाने के लिए लोगों को आगे आने होगा. मनीष बरियार का कहना है कि देश के पीएम नरेंद्र मोदी और बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने जाति आधारित राजनीति को तोड़ने में सफलता हासिल की है. बिहार जैसे राज्य में विकास की अपार संभावनाएं है और इसके लिए बिहार के लोगों को पहल करनी होगी.

Posted : Abhishek.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें