1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. bihar election 2020 election commission released new data said 122 percent more votes than 2015 asj

Bihar Election 2020 : चुनाव आयोग ने जारी किया नया आंकड़ा, कहा-2015 की तुलना में 1. 22 फीसदी अधिक पड़े वोट

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
बिहार चुनाव
बिहार चुनाव
प्रभात खबर ग्राफिक्स

Bihar Election 2020 : कोरोना काल में हुए विधानसभा चुनाव में मतदाताओं पर महामारी का भय नहीं दिखा. बुधवार को हुए पहले चरण के मतदान में वोटरों ने खास उत्साह दिखाया और 2015 में हुए विधानसभा चुनाव में पड़े वोट से करीब सवा फीसदी अधिक यानी 1.22 प्रतिशत वोट अधिक गिराये.

चुनाव आयोग ने गुरुवार को पहले चरण से संबंधित नया आंकड़ा जारी किया है. इसके मुताबिक पहले चरण के मतदान में 55.69 फीसदी वोटरों ने अपने मत के अधिकार का प्रयोग किया़ 2015 के विधानसभा चुनाव में 54.47 फीसदी मतदान हुआ था़ कोरोना महामारी के दौरान वोट डालने को लेकर जो भी आशंकायें जतायी जा रही थीं, वोटरों ने उसे सिरे से खारिज कर दिया.

मतदान के दिन शुरुआती दो से तीन घंटे वोट गिराने की रफ्तार धीमी रही, पर जैसे-जैसे दिन चढ़ता गया, मतदाता घरों से निकले और लोकतंत्र के इस पावन पर्व में अपनी हिस्सेदारी निभायी. मतदान केंद्रों पर वोट डालने आये मतदाताओं के लिए सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किये गये थे.

चुनाव आयोग के निर्देश पर स्वास्थ्य महकमें ने सभी बूथों पर मतदानकर्मी व सुरक्षाकर्मियों के लिए 13 लाख सुरक्षा एवं कोविड किट दो दिन पहले ही पहुंचा दी थी. वोटरों के सैनिटाइजर और गल्ब्स भी मुहैया कराये गये थे. विधानसभा क्षेत्रों में सबसे अधिक वोट चकाई में पड़े.

जमुई के इस नक्सल प्रभावित क्षेत्र में 65.83 फीसदी मतदान हुआ, जबकि 2015 में यहां मात्र 56.32 फीसदी लोगों ने वोट गिराये थे. 2015 में चैनपुर में जहां 61.63 प्रतिशत वोट पड़े थे, वहीं बुधवार को 63.80 फीसदी लोगों ने वोट किया. रामगढ़ में 2015 में 60.24 मतदान का प्रतिशत रहा, वहीं इस बार 64.39 प्रतिशत वोट गिरे.

भभुआ में 2015 में 59.80 की तुलना में इस बार 63.01 प्रतिशत लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. इसके विपरीत मुंगेर जिले के जमालपुर विधानसभा क्षेत्र में सबसे कम 46.39 प्रतिशत मतदान हुआ़ यहां पिछले बार की तुलना में भी कम वोट पड़े. आरा में भी यही स्थिति रही. इस बार यहां 47.67 प्रतिशत वोट गिरे, जबकि 2015 में 55.41 फीसदी मतदान हुआ था.

वारसलीगंज में इस बार 48.42 की तुलना में 2015 में 51.82 प्रतिशत, मुंगेर में 48.93 फीसदी लोगों ने वोट डाले, जबकि पिछली बार 54.26 फीसद लोगों ने मतदान में हिस्सा लिया था. सबसे अधिक 548 मतदान केंद्र नवादा के हिसुआ विधानसभा क्षेत्र में थे़ यहां 50.22 फीसदी मतदान हुआ़ शेखपुरा के बरबीघा में सबसे कम 323 बूथ थे़ यहां 52.77 फीसदी मतदान हुआ़

Posted by Ashish Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें