1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. bihar chunav 2020 nitish targeted lalu said no work of development was done in the rule of husband and wife nor got employment asj

Bihar Chunav 2020 : निश्चय संवाद में नीतीश ने साधा लालू पर निशाना, बताया बिहार में क्यों नहीं हुए निवेश

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
नीतीश कुमार
नीतीश कुमार
प्रभात खबर

पटना : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राजद के लालू प्रसाद और राबड़ी देवी के 15 साल के शासनकाल पर जमकर प्रहार किया. उन्होंने बिना नाम लिये कहा कि पति-पत्नी को 15 साल का राज मिला, तो क्या काम किया. न विकास किया, युवाओं को रोजगार दिया और न ही पर्यावरण संरक्षण से जुड़ा ही कोई काम किया. कानून का राज भी कायम नहीं किया था. सड़क, बिजली, शिक्षा, स्वास्थ्य समेत अन्य किसी क्षेत्र में कोई काम नहीं किया था.

मुख्यमंत्री ने वर्चुअल माध्यम से निश्चय संवाद के तहत मंगलवार को दो चरणों में 24 विधानसभा क्षेत्राें के लोगों को संबोधित किया. सुबह 11 बजे 11 विधानसभाओं और शाम चार बजे 13 विधानसभा क्षेत्रों के लोगों को संबोधित किया. सीएम ने कहा कि उनके शासनकाल में हर क्षेत्र में काम हुआ है. न्याय के साथ विकास यानी हर तबके का विकास हुआ. सात निश्चय के तहत काफी काम कराया है. अपने काम का ब्याेरा देते हुए उन्होंने जनता से फिर कहा कि वे सिर्फ जुबाने चलाने वाले को चुनना चाहते हैं या काम करने वाले को, यह आपके ऊपर निर्भर करता है.

अगर उन्हें आगे भी मौका मिला, तो वह सात निश्चय-2 के तहत तैयार योजनाओं को तेजी से लागू करेंगे. भविष्य का खांका भी प्रस्तुत किया. अगली बार युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने और रोजगार पैदा करने पर खासतौर से काम करने की बात कही. स्किल डेवलपमेंट का अलग विभाग बनायेंगे. मुख्यमंत्री ने केंद्र के सहयोग की सराहना करते हुए कहा कि विकास में केंद्रीय योजनाएं भी काफी मददगार हैं.

अल्पसंख्यकों पर खासतौर से किया फोकस

नीतीश कुमार ने कहा कि अल्पसंख्यक समुदाय के लिए किसी ने कुछ नहीं किया. लोग सिर्फ उनका वोट लेते रहते हैं. भागलपुर दंगा का जिक्र करते उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवारों को आर्थिक सहायता समेत तमाम मदद की. पूरे मामले की जांच के लिए आयोग का गठन कराया. उन्होंने कहा कि हर मीडिल स्कूल में ऊर्दू टीचर रहेंगे. ऊर्दू हमारी दूसरी भाषा है. इसकी पढ़ाई हर जगह होगी. सीएम ने कहा कि हम तो ऊर्दू पढ़ना चाहते थे, लेकिन उस समय स्कूल में कोई पढ़ाने वाला नहीं था. उन्होंने कहा कि पिछड़ा, अति-पिछड़ा और दलितों के विकास के लिए सभी तरह के कार्य किये गये हैं.

कुछ लोगों को सिर्फ मेवा से मतलब

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें सिर्फ सेवा से मतलब है, लेकिन कुछ लोगों को सिर्फ मेवा से मतलब रहता है और ये लोग ही तरह-तरह की गलतफहमी पैदा करके सिर्फ वोट लेने के चक्कर में रहते हैं. वोट में तो जनता ही मालिक है, जो लोगों को अच्छा लगे, वह करें. हम सिर्फ अपना काम बतायेंगे. उन्होंने कहा कि आजकल कुछ लोगों को कोई अनुभव नहीं है. ऐसे-ऐसे एडवाइजर लोगों को मिल गये हैं कि कुछ भी बोलते रहते हैं. लोगों के उत्थान के लिए क्या करना है, इसकी समक्ष इन्हें नहीं है.

जिन्हें जानकारी नहीं, वे भी बोलते रहते

मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ लोग तो विकास और अन्य मुद्दों पर बिना जानकारी के ही कुछ भी बोलते रहते हैं. सोशल मीडिया पर कुछ भी बोलते रहते हैं. हर क्षेत्र में काम करके दिखाया है. पूरे बिहार को परिवार मानकर सेवा की है. राज्य का सकल घरेलू उत्पाद (जीएसडीपी) 2004-05 में 88 हजार 440 करोड़ रुपये था, जो 2019-20 में बढ़कर चार लाख 14 हजार 977 करोड़ रुपये हो गये. प्रति व्यक्ति आय का मामला हो या राज्य के विकास का, सभी में विकास हुआ है. उन्होंने कहा कि बिना वजह प्रचार करने की आदत नहीं है. काम में यकीन रखते हैं और सिर्फ काम करते रहते हैं.

समुद्री किनारा और विशेष दर्जा नहीं होने से नहीं आये उद्योग

मुख्यमंत्री ने कहा कि तमाम कोशिशों के बाद भी बिहार में कोई बड़ा उद्योग नहीं आया. इसका मुख्य कारण बिहार में कहीं से कोई समुद्री किनारा नहीं होना या कोई समुद्र नहीं होना है. बड़े उद्योग मुख्य रूप से उन्हीं राज्यों में जाते हैं, जो समुद्र के नजदीक होते हैं या उनके पास विशेष दर्जा होता है. बावजूद इसके बिहार में छोटे काम और कृषि क्षेत्र में विकास होने से लोगों की आमदनी बढ़ी है. उन्होंने कहा कि कुछ लोगों ने तो अपनी पार्टी के लोगों को इसलिए निकाल दिया कि वे मानव श्ृंखला में शामिल हुए थे. पर्यावरण की चिंता के लिए भी हमने कई काम किये गये हैं.

Posted by Ashish Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें