1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. 62 thousand rupees cheated by the elderly in the name of investigation of corona virus

कोरोना के नाम पर ठगी, बुजुर्ग से 62 हजार रुपये लेकर फरार हुए ठग

By Radheshyam Kushwaha
Updated Date
Corona virus
Corona virus
Prabhat Khabr Digital Desk

पश्चिमी चंपारण. बिहार के पश्चिमी चंपारण में शहर की सब्जी मंडली में कोरोना वायरस की जांच के बहाने तीन उचक्कों ने बुजुर्ग के 62 हजार रुपये ठग लिये. शिकारपुर थाना क्षेत्र के रखही गांव निवासी मो. गफ्फार ने थाने में इसकी शिकायत की है. थानाध्यक्ष कृष्ण कुमार गुप्ता ने बताया कि बुजुर्ग की निशानदेही पर छापेमारी की जा रही है. मो. गफ्फार मंगलवार को भारतीय स्टेट बैंक से 44 हजार रुपये की निकासी की उनके पास में पहले से 18 हजार रुपये थे. रुपये किसी को देने के लिए बुजुर्ग सब्जी मंडी गये. इसी बीच एक व्यक्ति उनका नाम पुकारते हुए बुजुर्ग के पास पहुंचा और कोरोना वायरस के बारे में बात करने लगा. इस बीच दो अन्य युवक भी वहां आ पहुंचे और कोरोना होने की बात कह कर बुजुर्ग की तलाशी लेने लगे. इसी उचक्कों ने बुजुर्ग के रुपये उड़ा लिये. बुजुर्ग की शिकायत पर पुलिस ने मामले की जांच कर रही है.

बता दें कि पुलिस प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम सभी भीड़-भाड़ वाली जगहों पर कोरोना वायरस फैलने से रोकने के लिये जांच कर रही है. सभी लोगों का भरोसा भी टीम पर बनी हुई है. इसी का फायदा उठाकर अब लोगों से ठगी भी की जाने लगी है. बता दें कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को घोषणा की कि राज्य में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों के इलाज का पूरा खर्च सरकार वहन करेगी. इलाज के लिये किसी को पैसे देने की जरूरत नहीं पड़ेगी. बिहार विधानसभा में नीतीश कुमार ने कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों के इलाज पर होने वाले सारा खर्च का भुगतान मुख्यमंत्री चिकित्सा सहायता कोष से राज्य सरकार करेगी.

कोरोना से मौत होने पर 4 लाख रुपये देगी सरकार

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बताया कि बिहार राज्य में किसी भी व्यक्ति की कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि नहीं हुई है. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस से मौत होने की स्थिति में मृतक के निकटतम संबंधी को चार लाख रुपये की अनुग्रह राशि दी जायेगी. उन्होंने कहा कि शिक्षकों और सरकारी कर्मियों को भी इस रोग के बचाव के लिए प्रशिक्षण दिया जायेगा.

कोई सूचना मिलने पर सीएम कार्यालय में भी कर सकते हैं फोन

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी सरकारी विभागों के समूह ग और समूह घ कर्मियों को एक दिन छोड़कर कार्यालय आने का निर्देश दिया गया है ताकि कार्यालय परिसरों में भीड़ से बचा जा सके. बिहार विधानमंडल के बजट सत्र के आखिरी दिन नीतीश कुमार ने कहा कि इस रोग को लेकर कहीं से सभी कोई सूचना मिलने पर हमारे कार्यालय में भी लोग फोन कर सकते हैं और उसकी हम व्यवस्था करेंगे.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें