1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. 25 years of prabhat khabar vehicles increased in patna traffic load quadrupled asj

प्रभात खबर के 25 साल : पटना में बढ़ीं गाड़ियां, ट्रैफिक लोड हुआ चौगुना

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
पटना की ट्रैफिक
पटना की ट्रैफिक
फाइल

पिछले 25 वर्षों में बेहतर कनेक्टिविटी व सुगम यातायात पर फोकस करते हुए राजधानी में सड़कों का न सिर्फ जाल बिछाया गया, बल्कि ट्रैफिक परिचालन में आ रही समस्याओं को फ्लाइओवर व सड़कों की चौड़ीकरण से भी सुलझाने का प्रयास किया गया. पर गाड़ियों की संख्या चौगुनी हो जाने से स्थिति अभी भी पूरी तरह से सहज नहीं हुई है. पिक आवर में अभी भी लोगों को जाम से दो-चार होना पड़ता है. हालांकि इसके बावजूद यातायात व्यवस्था कुछ हद तक आधुनिक हो गयी है. अब मैनुअल की जगह ऑटोमेटिक ट्रैफिक सिग्नल से यातायात का परिचालन होता है. पिछले 25 सालों में ट्रैफिक में कितना और क्या बदलाव आया है, ‘काउंटडाउन 4’ में पढ़िए अनुपम कुमार की रिपोर्ट.

पांच वर्षों में बढ़े 6.21 लाख वाहन

  • वाहन श्रेणी 2016 2017 2018 2019 2020

  • भारी मालवाहक 1508 1100 5404 1328 525

  • भारी यात्री वाहन 235 306 205 263 184

  • मध्यम मालवाहक 589 501 722 567 140

  • मध्यम यात्री वाहन 111 162 117 112 67

  • हल्के मालवाहक 6514 5469 5968 6344 6136

  • हल्के मोटर वाहन 16400 14896 23067 19331 18570

  • हल्के यात्री वाहन 1199 1560 1303 1208 1036

  • तीन पहिया वाहन 4441 4258 5443 8510 5660

  • दोपहिया वाहन 83696 56976 134861 96158 77893

  • कुल वाहन 114693 85228 177090 133821 110211

शहर में लगे पेडेस्ट्रियन सिग्नल

पैदल यात्रियों को सड़क पार करने में सुविधा हो इसके लिए हड़ताली मोड़, पुनाईचक दुर्गा मंदिर व जू के गेट संख्या एक पर पेडेस्ट्रियन सिग्नल लगाया गया है. इनका इस्तेमाल कर पैदल यात्री एक मिनट के लिए बेली रोड के ट्रैफिक को रोक सकता है और आसानी से सड़क पार कर सकता है. यह बुजुर्गों के लिए काफी हेल्पफुल है.

ट्रैफिक पुलिस के पास है 10 रेगुलेशन दस्ता

शहर में पांच जगहों कुल्हड़िया कॉम्पलेक्स, कारगिल चौक, राजापुर पुल, हड़ताली मोड़ और पहाड़ी मोड़ पर टॉयलेट की सुविधा भी है, जो 25 वर्ष पहले पटना के किसी भी ट्रैफिक पोस्ट पर नहीं थी. ट्रैफिक पुलिस के पास 10 रेगुलेशन दस्ते हैं, जो जीप या जिप्सी में सवार होकर जाम छुड़ाने का काम करते हैं.

65 बाइक दिये गये हैं ट्रैफिक पुलिस को

ट्रैफिक पुलिस के पास कुल 65 बाइक हैं, इनमें 17 नयी अपाची है. जो पिछले माह ट्रैफिक पुलिस को दिये गये हैं. इन पर ट्रैफिक पुलिस की उपस्थिति को दिखाने के लिए विशेष प्रकार के स्टीकर लगाये गये हैं. जाम छुड़ाने के लिए साइरन और माइक जैसी सुविधाएं भी दी गयी हैं.

25 सालों में तीन बने ट्रैफिक थाने

25 साल पहले पटना में केवल एक गांधी मैदान ट्रैफिक थाना था, अब इनकी संख्या बढ़ कर तीन हो गयी हैं. गांधी मैदान ट्रैफिक थाना के जिम्मे पटना मुख्य शहर के 18 पुलिस थानों का क्षेत्र है. जीरो माइल ट्रैफिक थाना के जिम्मे बाइपास और उसके आसपास का क्षेत्र जबकि सगुना मोड़ ट्रैफिक थाना के जिम्मे दानापुर और आसपास का क्षेत्र है.

39 ट्रैफिक सेक्टर बने

25 वर्ष पहले शहर में ट्रैफिक सेक्टर नहीं था, लेकिन तीन-चार वर्ष पहले इसको 39 ट्रैफिक सेक्टर में बांटा गया ताकि यातायात संचालन बेहतर हो सके. हर सेक्टर का एक सेक्टर पदाधिकारी होता है जिस पर उस पूरे क्षेत्र के यातायात व्यवस्था को सुचारू रूप से संचालन की जिम्मेदारी होती है.

अब मशीन से कट रहा चालान

25 वर्ष पहले चालान काटने के लिए मशीन का इस्तेमाल नहीं किया जाता था और इसे कागज पर ही काटना पड़ता था . लगभग तीन वर्षों से पटना ट्रैफिक पुलिस बड़ी संख्या में हैंड हेल्ड डिवाइस का इस्तेमाल कर रही है. पिछले एक वर्ष से तो कागजी चालान काटने पर पूरी तरह रोक भी लग चुकी है.

एयरपोर्ट मोड़ से वोल्टास टी तक कट फ्री

राजवंशी नगर मोड़, पुनाईचक मोड़, हड़ताली मोड़ और हाइकोर्ट मोड़ के कट को बंद कर एयरपोर्ट मोड़ से लेकर वोल्टास गोलंबर तक बेली रोड को पूरी तरह कट फ्री कर दिया गया है. इससे अब इस क्षेत्र में वाहनों का स्मूद परिचालन होने लगा है और बार बार लगने वाले जाम में बहुत कमी आयी है.

10 से अधिक फ्लाइओवर से बढ़ी स्पीड

पिछले 25 वर्षों में 10 से अधिक बड़े फ्लाइओवर बनाये गये है, जिससे ट्रैफिक काफी स्मूद हुआ है. जगदेव पथ शेखपुरा फ्लाइओवर दो किमी से अधिक लंबा है. इससे राजा बाजार से लेकर जगदेव पथ तक लगने वाले जाम में बिना पड़े कोई भी वाहन महज पांच-सात मिनट में रूपसपुर पहुंच जाते हैं.

आठ जगह ट्रिपल शिफ्ट में तैनाती

शहर की ट्रैफिक सिस्टम को कंट्रोल करने के लिए आठ जगह ट्रिपल शिफ्ट में ट्रैफिक पुलिस तैनात रहते हैं. पहली शिफ्ट सुबह छह बजे से दोपहर दो बजे तक होती है.दूसरी शिफ्ट दोपहर दो बजे से रात 10 बजे तक होती है. और तीसरी शिफ्ट रात 10 बजे से सुबह छह बजे तक होती है.

Posted by Ashish Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें