1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. 14 girls living in bihar shelter home completed hotel management training 10 got placement asj

Shelter home में रहनेवाली बिहार की 14 लड़कियों ने पूरी की होटल मैनेजमेंट की ट्रेनिंग, 10 का हुआ प्लेसमेंट

समाज कल्याण विभाग ने होम में रहने वाली लड़कियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिये देश के विभिन्न राज्यों में शिक्षा व ट्रेनिंग के लिये पिछले साल से भेज रही है.योजना के तहत 14 लड़कियों को बंगलौर स्थित यूरेडियन एकेडमी में होटल मैनेजमेंट की शिक्षा व ट्रेनिंग के लिये 2020 में भेजा गया था.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
बालिका गृह
बालिका गृह
प्रभात खबर

पटना. समाज कल्याण विभाग ने होम में रहने वाली लड़कियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिये देश के विभिन्न राज्यों में शिक्षा व ट्रेनिंग के लिये पिछले साल से भेज रही है.योजना के तहत 14 लड़कियों को बंगलौर स्थित यूरेडियन एकेडमी में होटल मैनेजमेंट की शिक्षा व ट्रेनिंग के लिये 2020 में भेजा गया था. जिनकी ट्रेनिंग इसी माह पूरी हो गयी है और उसमें से 10 लड़कियों को बैंगलोर व मुंबई में प्लेसमेंट हो गया है.

वहीं, चार ऐसी लड़कियां ट्रेनिंग लेकर वापस आ गयी है, जिनकी उम्र अभी 18 साल नहीं हुई है. जब अगले साल इनकी उम्र 18 साल हो जायेगी, तो इनका भी मुंबई में प्लेसमेंट होगा. साथ ही, इस साल 30 लड़कियों को बैंगलोर ट्रेनिंग के लिए भेजा जायेगा.

https://www.prabhatkhabar.com/state/bihar/patna/30-more-girls-from-shelter-home-in-bihar-to-take-training-in-hotel-management-bengaluru-visit-in-the-new-year-asj

बैंगलोर गयी अधिकारियों की टीम

विभाग की ओर से दो महिला अधिकारियों को बैंगलोर भेजा गया है,ताकि वहां जाकर वह यह देख सकें कि प्लेसमेंट के बाद लड़कियों के लिए रहने की क्या व्यवस्था है. वहीं, 10 लड़कियों की निगरानी करने के लिए यहां से अधिकारियों को हर सप्ताह वीडियो कॉल से उनकी जानकारी लेनी है. अगर किसी तरह की कोई परेशानी आती है, तो इस संबंध में विभाग को रिपोर्ट देना है.

इनको ट्रेनिंग के बाद तीन साल तक हर माह मिलेगा दो-दो हजार

बंगलौर होटल मैनेजमेंट के लिये गयी चार लड़कियों को ट्रेनिंग करने के बाद अभी लौट कर आना पड़ा हे. ऐसे में समाज कल्याण विभाग ने प्रस्ताव तैयार किया है कि ट्रेनिंग पूरा करने लौटी लड़कियां को सरकार की ओर से इन लड़कियों को हर माह तीन साल तक दो-दो हजार मिल सकें, ताकि उनके जीवन यापन में मदद हो सकें. इसके लिये विभाग ने तैयारी पूरी कर ली है.

समाज कल्याण विभाग के निदेशक राजकुमार ने कहा कि राज्य सरकार के दिशा-निर्देश पर लड़कियों को ट्रेनिंग के लिए बैंगलोर भेजा गया था. ट्रेनिंग के बाद 10 लड़कियों का प्लेसमेंट हो गया है. दिसंबर तक होम से 30 अौर लड़कियों को ट्रेनिंग के लिए भेजा जायेगा.

Posted by Ashish Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें