वृद्धा को जिंदा जलाया

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
दर्दनाक : टूटे-फूटे मकान के कमरे में बंद कर लगा दी आग
फुलवारीशरीफ : नगर थाना के सबजपुरा में 80 वर्षीया वृद्धा को अपनों ने ही निर्ममतापूर्वक उसके टूटे-फूटे झोंपड़ीनुमा मकान में केरोसिन छिड़क कर आग लगा कर जिंदा जला दिया . वृद्धा का शव पूरी तरह जली हुई अवस्था में बरामद किया गया. पूरा कमरा में केरोसिन से महक रहा था.
वहीं, वृद्धा के शव को खपाने के चक्कर में मृतका का एक पोता मौके पर ही पुलिस के हत्थे चढ़ गया. शव को देखने से प्रतीत होता है कि वृद्धा की हत्या गला दबा कर की गयी और मामले का रूप बदलने के लिए कमरे में आग लगा बाहर से बंद कर दिया गया. सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.
वहीं, हैरत की बात है कि घटनास्थल से नजदीक ही मृतका का पूरा परिवार रहता है, लेकिन कोई भी घटनास्थल पर नहीं पहुंचा, जिससे पूरा परिवार संदेह के घेरे में आ गया है. वृद्धा की हत्या के घंटों बाद तक बगल में रहनेवाले परिवार के किसी सदस्य के सामने नहीं आने पूरा परिवार शक के घेरे में है. हालांकि,मामले की जांच के बाद ही पूरे रहस्य से परदा उठ सकेगा. एएसपी राकेश कुमार ने बताया कि हत्या का कारण संपत्ति का विवाद हो सकता है.
पुलिस तमाम पहलुओं पर जांच कर रही है. जानकारी के अनुसार सबजपुरा में सड़क किनारे करीब चार कट्ठे के प्लॉट में टूटी-फूटी झोंपड़ीनुमा खपरैल मकान में स्व कुलदीप पंडित की विधवा सोमरिया देवी (उम्र करीब अस्सी वर्ष) रहती थी.
सोमरिया देवी का मिट्टी के बरतन निर्माण का कारोबार था. जिस जमीन पर खपरैल मकान में वह अकेले ही रहते आ रही थी उसी जमीन पर ही कुछ लोगों नजरें लगी थीं. सोमारिया देवी को दो बेटे रामचंद पंडित और लक्ष्मण पंडित एवं चार बेटियां हैं. वृद्धा अकेले ही इस मकान में रहती थी. मंगलवार की शाम अचानक इस टूटी-फूटी झोंपड़ीनुमा खपरैल मकान से धुआं उठता देख लोगों में हड़कंप मच गया.
धुएं के साथ ही अंदर से शव जलने का दुर्गंध आने लगा. इसकी सूचना मिलते ही वहां सैकड़ों लोगों की भीड़ जमा हो गयी. खबर मिलते ही स्थानीय पुलिस और मीडिया भी पहुंची, लेकिन कोई भी कुछ बताने के लिए तैयार नहीं था. एक बच्चे की मदद से पुलिस उस कमरे तक पहुंची जहां वृद्धा की जली हुई लाश बरामद की.
शव को िठकाने लगाने के चक्कर में पकड़ा गया पोता : पुलिस अभी मामले की तफतीश कर ही रही थी कि मृतका का पोता शव को ठिकाने लगाने के इरादे से पहुंचा और पुलिस के हत्थे चढ़ गया.
इससे पहले मृतका के नाती मोहन कुमार ने लाश की पहचान अपनी नानी सोमारिया देवी के रूप में की और फिर वह भी पुलिस के आने से पहले ही फरार हो गया. मौके पर एएसपी राकेश कुमार व पुलिस इंस्पेक्टर धर्मेंद्र कुमार दल-बल के साथ पहुंचे और लाश को कब्जे में करके पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. थानेदार धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि लाश को खपाने पहुंचा बिरजू पंडित मृतका का पोता है और रामचंद्र पंडित का पुत्र है. पुलिस बिरजू पंडित से पूछताछ कर रही है.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें