1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. muzaffarpur
  5. covid patient was having the same test continuously for five days muzaffarpur dm said after investigation action taken on the hospital asj

पांच दिनों से लगातार कोविड मरीज का हो रहा था एक ही टेस्ट, मुजफ्फपुर डीएम ने कहा- जांच के बाद अस्पताल पर होगी कार्रवाई

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
जांच दल के सदस्य
जांच दल के सदस्य
प्रभात खबर

मुजफ्फरपुर. कोरोना संक्रमित का इलाज कर रहे निजी अस्पतालों में धावा दल की जांच लगातार जारी है. बुधवार को मां जानकी हॉस्पिटल में टीम ने छानबीन की. अस्पताल में 25 मरीजों के लिए बनाए गए 30 बेडों में 13 पर मरीज एडमिट थे. टीम ने सभी का पुर्जा, जांच रिपोर्ट, अस्पताल का बिल, डॉक्टर द्वारा चलाई जा रही दवा की पर्ची देखी.

इस दौरान एक कोविड मरीज की बीते पांच दिनों से एक ही जांच कराए जाने से अस्पताल प्रबंधन से पूछताछ की गयी. टीम ने उक्त मरीज के रिपोर्ट के साथ और कई बिल को जब्त कर लिया. अस्पतालों में आॅक्सीजन,दवा व इंजेक्शन की उपलब्धता की जांच की गयी. धावा दल में शामिल सभी अधिकारी पीपीई किट पहनकर कोविड वार्ड का भी निरीक्षण किया.

प्रसाद हॉस्पिटल में जांच के दौरान धावा दल को अधिकांश व्यवस्था नियम के अनुकूल लगा. लेकिन परिसर में फैले बायो मेडिको कचरा को देख दिन में दो बार सफाई कराने का निर्देश दिया गया हैं.

बताया जाता है कि जांच टीम पूरी रिपोर्ट तैयार कर डीएम और सिविल सर्जन का को सौंपेगी. टीम में सिटी एसपी राजेश कुमार, नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय, डीआरडीए निदेशक के डायरेक्टर चंदन चौहान ,नगर डीएसपी राम नरेश पासवान और सिटी मैनेजर ओम प्रकाश थे.

मरीजों के इलाज में गड़बड़ी करने वाले हॉस्पिटल को करें डिलिस्ट: डीए 

डीएम प्रणव कुमार ने बुधवार को कोरोना के इलाज व बचाव को लेकर किए जा रहे कार्य की समीक्षा की. उन्होंने कहा कि कोरोना मरीज के इलाज में नोबेल अस्पताल में गड़बड़ी सामने आयी है. ऐसे अस्पतालों को डीलिस्ट करें. उन्होंने सिविल सर्जन को को कहा कि निजी अस्पतालों से संबंधित जांच रिपोर्ट के आलोक में सख्त कार्रवाई करें.

उन्होंने कहा कि कई ऐसे अस्पताल भी है, जो बिना अनुमति के ही कोरोना मरीज का इलाज कर रहे है.ऐसे अस्पताल पर भी कार्रवाई होनी चाहिए. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से डीएम ने सभी पीएचसी के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों को कहा कि प्रखंड स्तर पर कोविड मरीजों का नियमित फॉलोअप करने का काम जारी रखें. प्रत्येक पीएससी में प्रतिनियुक्त चिकित्सक तय रोस्टर के अनुसार काम करें.

बीडीओ को वार्ड क्रियान्वयन एवं प्रबंधन समिति के सदस्यों के माध्यम से तथा विकास मित्रों के माध्यम से गांव या वार्डो के माध्यम से कोविड मरीज या वैसे लक्षण वाले मरीजों के बारे में तत्काल सूचना स्थानीय पीएचसी को देने के लिए कहा.

उन्होंने कहा कि पंचायत और वार्ड स्तर पर कोविड संक्रमण से सुरक्षा के मद्देनजर लोगों को जागरूक करते रहें.उन्होंने टीकाकरण कार्य में और तेजी लाने का निर्देश दिया देते हुए सेशन साइट बढ़ाने को कहा. जिला टीकाकरण अधिकारी ने बताया कि 87 साइट पर टीकाकरण का कार्य चल रहा है.

Posted by Ashish Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें