1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. munger
  5. preparing to crack down on naxalites air force helicopter did mock drill in bhimabandh and paisra rdy

Bihar News: नक्सलियों पर नकेल कसने की तैयारी, सेना के हेलीकॉप्टर ने भीमबांध व पैसरा में किया मॉक ड्रिल

मुंगेर, जमुई एवं लखीसराय के बार्डर पर स्थित नक्सल प्रभावित भीमबांध, पैसरा, चोरमारा, लठियाकोल सहित नक्सल प्रभावित मुंगेर रेंज को नक्सल फ्री जोन बनाने की दिशा में सरकार सख्त कदम उठा रही है. अब एयर फोर्स आसमानी कार्रवाई नक्सलियों के खिलाफ करेगी.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
भीमबांध पहुंचा  का हेलीकॉप्टर
भीमबांध पहुंचा का हेलीकॉप्टर
प्रभात खबर

मुंगेर. नक्सलियों पर नकेल कसने के लिए उसकी मांद में घूस कर कार्रवाई करने की तैयारी शुरू हो गयी है. एक ओर जहां नक्सल प्रभावित भीमबांध के बड़े जंगल में सीआरपीएफ व कोबरा की बटालियन नक्सलियों को मांद से खदेड़ने की कार्रवाई कर रही है, वहीं दूसरी ओर शुक्रवार को आसमान से नक्सलियों पर कार्रवाई करने के लिए भारतीय वायु सेना का हेलीकॉप्टर ने भीमबांध एवं पैसरा जंगल में मॉक ड्रिल किया. इस दौरान पुलिस एवं अर्धसैनिक बलों के कई पदाधिकारी मौजूद थे.

भीमबांध जंगल में पहुंचा सेना का हेलीकॉप्टर

शुक्रवार को अपराह्न 2 बजे इंडियन एयर फोर्स का मारक हेलिकॉप्ट भीम बांध जंगल स्थित सीआरपीएफ के हेलीपेड पर उतरा. उसके बाद यह हेलीकॉप्टर वहां से उड़ान भरा और पैसरा सीआरपीएफ के कोबरा बटालियन 207 के कैंप के पास उतरा. सेना के इस हेलीकॉप्टर ने भीमबांध, पेसरा एवं चोरमारा पहाड़ी जंगल के ऊपर कुछ देर तक घूमती रही. कहा जा रहा है कि कार्रवाई से पूर्व सेना का हेलीकॉप्टर जंगल में मॉक ड्रिल की. ताकि कार्रवाई करने के दौरान कोई दिक्कत नहीं आये. हेलीकॉप्टर पर पॉयलट के अलावे एयर फोर्स के कई जवान गोला-बारूद के साथ थे. सेना के हेलीकॉप्टर से एयर फोर्स के जवानों के उतरने पर सीआरपीएफ ने स्वागत किया. फिर मुंगेर, जमुई, लखीसराय के इस बोर्डर एरिया एवं इससे सटे झारखंड के बारे में विस्तृत जानकारी दी.

मुंगेर रेंज को नक्सल फ्री जोन बनाने की रणनीति पर हो रही कार्रवाई

मुंगेर, जमुई एवं लखीसराय के बार्डर पर स्थित नक्सल प्रभावित भीमबांध, पैसरा, चोरमारा, लठियाकोल सहित नक्सल प्रभावित मुंगेर रेंज को नक्सल फ्री जोन बनाने की दिशा में सरकार सख्त कदम उठा रही है. नक्सलियों को मांद से निकाल कर खदेड़ने के लिए पहले से ही मुंगेर जिले के भीमबांध में मौजूद सीआरपीएफ कैंप स्थापित है. जबकि जमुई के चोरमारा एवं मुंगेर के पैसरा में फरवरी एवं अप्रैल महीने में सीआरपीएफ एवं कोबरा 207 बटालियन का कैंप स्थापित किया गया. जो लगातार नक्सलियों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है. माना जा रहा है कि अर्धसैनिक बल, जिला पुलिस बल जहां जमीनी लड़ाई को अंजाम दे रहे है. वहीं अब एयर फोर्स आसमानी कार्रवाई नक्सलियों के खिलाफ करेगी. जिसकी तैयारी को लेकर शुक्रवार को सेना का हेलीकॉप्टर भीमबांध व पैसरा में मॉक ड्रिल किया.

भौगोलिक स्थिति का फायदा उठाते आ रहे नक्सली

मुंगेर रेंज के तीन जिलों के बॉर्डर में पहाड़ी जंगल होने के कारण नक्सलियों ने इसे सेफ जोन बना रखा है. इसके भौगोलिक स्थिति का फायदा उठा कर प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी ने कई विध्वंसक घटना को अंजाम दिया है. नक्सलियों ने वर्ष 2005 में तत्कालीन मुंगेर एसपी केसी सुरेंद्र बाबू सहित छह जवानों को उड़ा दिया था. जबकि ऋषिकुंड में चार सैप जवानों को मौत के घाट उतार कर हथियार लूट लिये थे. लखीसराय, मुंगेर व जमुई में दो दर्जन से अधिक बड़ी घटनाओं को नक्सली अंजाम दे चुके है. जंगल से बाहर आकर घटना को अंजाम देकर पुन: जंगल में आ जाते है. भौगोलिक स्थिति नक्सलियों के लिए सहायक और सुरक्षाबलों के लिए चुनौती के समान होती है. यहीं कारण है कि अब पुलिस प्रशासन उसके खिलाफ बड़ी कार्रवाई करने की रणनीति पर काम कर रही है.

कहते हैं पुलिस अधीक्षक

पुलिस अधीक्षक जगुनाथरेड्डी जलारेड्डी ने बताया कि किसी भी नक्सली मूवमेंट से निपटने के लिए आर-पार की तैयारी की गयी है. इसके तहत हाल ही में मुंगेर के पैसरा एवं जमुई के चोरगांव में अर्धसैनिक बलों का कैंप स्थापित किया गया है. जबकि पहले से ही मुंगेर जिले के भीमबांध में सीआरपीएफ का कैंप स्थापित है. नक्सलियों को खदेड़ने के लिए विशेष रणनीतियां भी तैयार की गयी है. इसी को लेकर वायुसेना का हेलीकॉप्टर शुक्रवार को भीमबांध और पैसरा पहुंच कर मॉक ड्रिल किया.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें