1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. madhepura
  5. headmaster took off his shoes to hit lady teacher in front of students in madhepura ksl

Madhepura: हेडमास्टर ने छात्र-छात्राओं के सामने शिक्षिका को मारने के लिए निकाले जूते, फिर...

बिहारीगंज थाने की बभनगामा पंचायत के आदर्श उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में हेडमास्टर और शिक्षिका के बीच मामूली विवाद में दोनों ओर से जूता-चप्पल चलने की बात कही जा रही है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Madhepura: बैठक कर आपस में सुलह करते हेडमास्टर और शिक्षिका.
Madhepura: बैठक कर आपस में सुलह करते हेडमास्टर और शिक्षिका.
प्रभात खबर

Madhepura: जिले के बिहारीगंज थाना क्षेत्र की बभनगामा पंचायत के आदर्श उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में हेडमास्टर प्रदीप कुमार सिंह और शिक्षिका कुमारी स्नेहलता के बीच मामूली विवाद में दोनों ओर से जूता-चप्पल चलने की बात कही जा रही है. शिक्षिका का कहना है कि विद्यालय के एक शिक्षक विनय पासवान ने गत शनिवार को मेरे खिलाफ भड़काया. इस कारण एचएम प्रदीप कुमार सिंह सोमवार को विद्यालय पहुंचते ही आक्रोशित होकर अमर्यादित भाषा का प्रयोग करने लगे.

शिक्षिका के मुताबिक, जब उन्होंने इसका विरोध किया, तो उन्होंने जूता खोलकर मारने का प्रयास किया. इसके पूर्व भी एचएम द्वारा दुर्व्यवहार किया गया था. वहीं, एचएम का कहना है कि शिक्षिका स्नेहलता द्वारा बिना वजह शनिवार को हल्ला करने की जानकारी मिली. फिर भी वे शांत रहे. सोमवार को शिक्षिका विद्यालय पहुंचते ही अमर्यादित भाषा का प्रयोग करने लगी. इस पर आक्रोश में जूता निकाला गया, लेकिन पुन: शांत होकर कार्यालय में आकर बैठ गये. किसी से विवाद करना मेरा मकसद नहीं है.

विवाद की जानकारी बभनगामा में फैलने के बाद मुखिया गुलाबचंद दास, पंचायत समिति सदस्य रूपेश पूर्वे, सरपंच जर्नादन पासवान, सोनू झा, उमर खान, दिलीप यादव, रामबिलास साह, सत्येंद्र भगत, सोनू पूर्वे सहित दर्जनों अभिभावक विद्यालय पहुंचकर दोनों पक्षों की बातें सुनकर मामले को सुलझाने का प्रयास किया, लेकिन शिक्षिका द्वारा उचित न्याय की मांग की गयी. घटना की जानकारी पीड़ित शिक्षिका ने जिला शिक्षा पदाधिकारी को दी है.

डीईओ के निर्देश पर बीआरपी शिवराज राणा विद्यालय पहुंचकर एचएम और शिक्षिका से पूरी जानकारी ली. साथ ही उन्होंने डीईओ बीरेंद्र नारायण को वस्तुस्थिति से अवगत कराया. घटना को लेकर लोगों ने संबधित स्थानीय पदाधिकारी पर उदासीनता का आरोप लगाया है. लोगों का कहना हैं कि पूर्व में हो चुके विवाद में कार्रवाई की जाती, तो आज इस तरह की समस्या की नौबत नहीं आती.

मधेपुरा के जिला शिक्षा पदाधिकारी बीरेंद्र नारायण ने इस बाबत कहा कि घटना की सूचना मोबाइल पर मिली है. विभागीय कार्य से पटना में हूं. प्रखंड बीआरपी को जांच कर प्रतिवेदन समर्पित करने को कहा गया है. जांच प्रतिवेदन मिलने के बाद जो भी दोषी होंगे, उनके विरुद्ध विभागीय स्तर से कार्रवाई की जायेगी.

बभनगामा के मुखिया गुलाबचंद दास ने कहा कि एचएम और शिक्षिका के बीच विवाद की जानकारी मिलने पर विद्यालय पहुंचकर मामले को शांत कराने का प्रयास किया गया. दोनों पक्षों व छात्रों से बातें सुनकर विद्यालय की व्यवस्था अच्छी नहीं होने का अनुमान लग रहा है. हमलोगों की उपस्थिति में एक अन्य शिक्षिका का आवेदन देकर साढ़े नौ बजे घर चले जाना दुर्भाग्यपूर्ण है. विद्यालय परिसर में लगे लगभग आधा दर्जन शीशम का पेड़ एचएम कटवा दिया जाना, मनमानी रवैये को दर्शाता है.

बभनगामा के पंसस रुपेश पूर्वे ने कहा कि बिहारीगंज शिक्षा के मंदिर में छात्र-छात्राओं की उपस्थिति में एचएम और शिक्षिका द्वारा अनुशासनहीनता दिखाना दुर्भाग्यपूर्ण है. शिक्षा विभाग के वरीय पदाधिकारी को जांच कर दोषी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की जरूरत है. इस विद्यालय की विधि व्यवस्था को देखते हुए एचएम का तबादला किया जाना चाहिए.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें