1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. madhepura
  5. aadhaar 200 to 500 rupees being charged for making aadhaar card in madhepura ksl

Aadhaar: मधेपुरा के डाकघर परिसर में फल-फूल रहा आधार कार्ड बनाने का धंधा, 200 से 500 रुपये तक वसूले जा रहे

मधेपुरा जिले के बिहारीगंज डाकघर परिसर में आधार कार्ड बनाने के नाम पर 200 रुपये से 500 रुपये तक लेने का मामला सामने आया है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Aadhaar: सांकेतिक तस्वीर
Aadhaar: सांकेतिक तस्वीर
File pic

Aadhaar: मधेपुरा जिले के बिहारीगंज डाकघर परिसर में आधार कार्ड बनाने के नाम पर 200 रुपये से 500 रुपये तक लेने का मामला सामने आया है. बिहारीगंज नगर पंचायत के मुख्य बाजार डाकघर परिसर में आधार कार्ड बनाने के नाम पर लोगों से अवैध वसूली की जा रही है. इस संबध में सहरसा में डाक सुपरिटेंडेंट राजीव रंजन से मोबाइल नंबर 8825330553 पर बात करने की कोशिश की गयी, लेकिन बात नहीं हो पायी. वहीं, डाकपाल और क्लर्क शंभू कुमार ने मामले में कुछ भी बोलने से इनकार किया है.

लोगों का आरोप है कि नये आधार कार्ड बनाने या सुधार कराने के नाम पर 200 से 500 रुपये तक वसूले जा रहे हैं. कई बार लोगों ने हंगामा भी किया. इसके बावजूद संचालक और डाक कर्मी की मनमानी चल रही है. थाना रोड स्थित डाकघर के परिसर में आधार कार्ड का सेंटर संचालक शुभम कुमार और डाक कर्मी द्वारा 200 से 500 रुपये प्रत्येक आधार कार्ड बनाने पर लिये जा रहे हैं.

हाथिऔंधा निवासी अजीम और साजिद ने बताया कि पांच दिन पूर्व फॉर्म भर कर अपने बेटे का आधार कार्ड बनवाने के लिए गये थे. साथ ही 200 रुपये भी दिये थे. उसके बाद से रोज डाकघर का चक्कर लगा रहे हैं. यहां आने पर आश्वासन मिलता है कि आज नहीं कल आइयेगा. मंगलवार को जब पहुंचे, तो एक और युवक से पैसा लिया जा रहा था. युवक ने जब इसका विरोध किया, तो उसे धक्का देकर बाहर निकाल दिया गया.

पूर्णिया जिले के रघुवर नगर थाना क्षेत्र के राजघाट निवासी शिव शंकर कुमार शर्मा ने बताया कि वे कई दिनों से डाकघर का चक्कर लगा रहे हैं. लेकिन, कोई नहीं सुनता है. वहां मौजूद डाक कर्मी ने कहा कि पैसा लगेगा तभी आधार कार्ड बनेगा. मजबूरी में दोनों लड़कों का आधार कार्ड बनवाने के लिए 400 रुपये देने पड़े. इससे पूर्व भी आधार कार्ड सेंटर संचालक पर अवैध वसूली का मामला सामने आने पर पदाधिकारी द्वारा कार्रवाई की गयी थी.

बताया जा रहा है कि डाकघर कर्मियों की मिलीभगत से राशि की उगाही की जाती है. आधार कार्ड बनाने के लिए अवैध उगाही करनेवालों को संरक्षण देने की बात लोगों ने कही है. स्थानीय लोगों को भी काफी परेशान किया जाता है. उन्हें भी 10 से 15 दिनों तक का चक्कर लगाना पड़ता है. जिन लोगों को आधार कार्ड बनवाना है, वैसे लोग मजबूरी में पैसा देकर अपना आधार कार्ड बनवा रहे हैं. लोगों की मजबूरी का फायदा आधार कार्ड सेंटर संचालक और डाक कर्मी उठा रहे हैं.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें