1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. lakhisarai
  5. lakhisarai flipkart theft case solved by police within 24 hours all accused arrested skt

लखीसराय में फ्लिपकार्ट के कर्मियों ने ही दफ्तर से चुराए थे लाखों रुपये, 24 घंटे के अंदर सभी चोर गिरफ्तार

लखीसराय पुलिस ने 24 घंटे के अंदर फ्लिपकार्ट की इंस्टाकार्ट सर्विस प्राइवेट लिमिटेड के ऑफिस में कैश लॉकर से 16 लाख 76 हजार 9 सौ रुपये चोरी की घटना का खुलासा कर दिया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
लखीसराय में चोरी मामले का पुलिस ने 24 घंटे के अंदर किया खुलासा
लखीसराय में चोरी मामले का पुलिस ने 24 घंटे के अंदर किया खुलासा
प्रभात खबर

एक बार फिर से लखीसराय पुलिस ने अपनी कार्यशैली का लोहा मनवाया है. पुलिस ने एक बड़ी चोरी की घटना को सूचना मिलने के महज 24 घंटे के अंदर ही न सिर्फ मामले का खुलासा किया बल्कि चोरी की गयी रकम सहित चोरी की घटना में शामिल चारों बदमाशों को गिरफ्तार करने में भी सफलता प्राप्त की. मामले को लेकर रविवार को पुलिस कप्तान सुशील कुमार ने कवैया थाना में आयोजित एक प्रेस वार्ता के दौरान घटना व चोरों की गिरफ्तारी की पूरी जानकारी दी.

एसपी ने बताया कि 15 अक्तूबर की रात को कवैया थाना क्षेत्र के लखीसराय-सिकंदरा रोड में स्थित फ्लिपकार्ट की इंस्टाकार्ट सर्विस प्राइवेट लिमिटेड के ऑफिस में चोरों ने चोरी की घटना को अंजाम देते हुए कैश लॉकर से 16 लाख 76 हजार 9 सौ रुपये चोरी करने के साथ ही वहां पर मौजूद डीवीआर को भी गायब कर दिया. जिसको लेकर फ्लिपकार्ट के सिक्युरिटी ऑफिसर सह शेखपुरा जिला के कोरमा थाना क्षेत्र के कटारी गांव निवासी राजनीति सिंह के पुत्र जितेंद्र कुमार के द्वारा कवैया थाना में आवेदन दिया गया. जिसके बाद कवैया थानाध्यक्ष के द्वारा तत्काल घटना की जानकारी उन्हें दी.

घटना की गंभीरता को देखते हुए एसपी ने एसडीपीओ रंजन कुमार के नेतृत्व में कांड का उद्भेदन एवं घटना में संलिप्त अभियुक्तों की गिरफ्तारी व चोरी के रुपयों की बरामदगी के लिए एक एसआईटी का गठन किया. एसपी ने बताया कि एसआईटी ने घटना के 24 घंटा के अंदर ही नालंदा जिला से न सिर्फ चोरी किये गये पूरी रकम व डीवीआर को बरामद किया बल्कि घटना में शामिल चारों अभियुक्तों को भी गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की.

एसआईटी ने तकनीकी अनुसंधान एवं साक्ष्य संकलन के आधार पर घटना में संलिप्त अभियुक्त संजीत कुमार को गिरफ्तार किया तथा उसके स्वीकारोक्ति बयान के आधार पर चोरी की पूरी रकम उसके घर से बरामद किया. सुजीत ने अपने घर के परिसर में एक बोरे में करके सभी रुपयों को जमीन के अंदर गाड़ दिया था. जिसे पुलिस के सामने ही निकाला गया. इसके साथ ही घटना में संलिप्त तीन मुख्य अभियुक्तों को भी गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की.

एसपी ने बताया कि चोरी की घटना की पूरी साजिश व घटना को अंजाम इन्हीं चारों ने मिलकर दिया. जिसमें कंपनी के पूर्व मैनेजर सुजीत कुमार, पूर्व एरिया मैनेजर मो. अफरोज, वर्तमान एरिया मैनेजर मिहिर कुमार एवं वर्तमान हब मैनेजर अजय कुमार शामिल थे. सभी की गिरफ्तारी हो चुकी है.

पुलिस कप्तान ने बताया कि सुजीत कुमार नालंदा जिला व थाना क्षेत्र के बड़गांव बेगमपुर निवासी विनोद कुमार सिंह का पुत्र है, जबकि मो. अफरोज मुंगेर जिला के तारापुर थाना क्षेत्र के उर्दू चौक निवासी वली आलम का पुत्र है, मिहिर कुमार पश्चिम बंगाल राज्य के हुगली जिला अंतर्गत उत्तरपाड़ा थाना क्षेत्र के माकल तले गांव निवासी गीतानाथ मिश्रा का पुत्र है. वहीं गिरफ्तार हब मैनेज अजय कुमार लखीसराय थाना क्षेत्र के हसनपुर गांव निवासी स्व़ रामचंद्र प्रसाद सिंह का पुत्र है. मौके पर एसआईटी टीम के सदस्य भी मौजूद थे.

Published By: Thakur Shaktilochan

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें