1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. kaimur
  5. bihar election 2020 four assembly seats in kaimur district have been captured by the same party four times asj

Bihar Election 2020 : कैमूर जिले की चारों विधानसभा सीटों पर एक ही दल का रहा है चार बार कब्जा

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
Bihar Election 2020
Bihar Election 2020
File Photo

भभुआ नगर : 1964 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस, 1977 के चुनाव में जनता पार्टी, 2005 में राजद व 2015 के चुनाव में भाजपा का जिले की चारों विधानसभा सीटों पर कब्जा रहा. 1964 के विधानसभा चुनाव की बात करें तो रामगढ़ सीट से कांग्रेस पार्टी से खड़े विश्वनाथ राय ने 5177 मतों से अपने प्रतिद्वंदी पीएसपी पार्टी के दशरथ तिवारी को मात देते हुए रामगढ़ विधायक का ताज अपने नाम कर लिया. विश्वनाथ राय को कुल 16374 वोट मिला था. जबकि, दशरथ तिवारी को 11197 मत ही प्राप्त हुआ था. मोहनिया विधानसभा सीट से कांग्रेस से खड़े मंगलचरण सिंह को 17 हजार 716 वोट प्राप्त हुआ था. वहीं, एसडब्ल्यूए पार्टी से खड़े रामलाल सिंह को 15134 वोट प्राप्त हुआ था. इस तरह यहां भी मंगलचरण सिंह ने अपने प्रतिद्वंद्वी रामलाल सिंह को 2582 मतों से हरा कर मोहनिया विधायक बन गये.

फरवरी 2005 में चारों सीटों पर राजद जीती

2005 में दो बार विधानसभा का चुनाव हुआ था. पहला चुनाव फरवरी में हुआ था और दूसरा चुनाव अक्तूबर में हुआ था. फरवरी में हुए विधानसभा चुनाव में आये परिणाम के बाद किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं होने के कारण सरकार का गठन नहीं हो सका था. इसके बाद फिर दोबारा अक्तूबर में चुनाव हुआ था. लेकिन, फरवरी 2005 के चुनाव में राजद कैमूर की चारों सीटों पर चुनाव जीती. रामगढ़ से जगदानंद सिंह, मोहनिया से सुरेश पासी, भभुआ से प्रमोद कुमार सिंह व चैनपुर से महाबली सिंह चुनाव जीते थे.

1977 में चारों सीटों पर जनता पार्टी का रहा कब्जा

1964 के बाद 1972 तक जिले की चारों सीटों पर किसी एक पार्टी का कब्जा नहीं रहा. 1964 के बाद 1977 में विधानसभा चुनाव में जनता पार्टी का रामगढ़, मोहनिया, चैनपुर व भभुआ की सीटों पर कब्जा रहा. 1977 में जनता पार्टी से रामगढ़ सीट से खड़े सचिदानंद सिंह ने कांग्रेस से खड़े प्रभावित देवी को 12857 वोटरों से हरा कर जनता पार्टी का झंडा रामगढ़ में लहरा दिया. वहीं, मोहनिया सीट से जनता पार्टी से खड़े रामकृष्ण राम ने कांग्रेस से खड़े प्रतिद्वंद्वी वंशरोपन राम को 4101 वोट से हराया था. भभुआ सीट से जनता पार्टी से खड़े शिवपरीक्षा सिंह ने कांग्रेस से खड़े अपने प्रतिद्वंद्वी श्यामनारायण पांडेय को 9810 वोट से हराया. वहीं, चैनपुर सीट की बात करें तो जनता पार्टी से खड़े लालमुनी चौबे ने कांग्रेस से खड़े भोला सिंह को 18 हजार 162 वोटों से शिकस्त देते हुए चैनपुर सीट पर जनता पार्टी का झंडा लहरा दिया.

2015 में चारों सीटों पर लहराया भगवा

1964 में कांग्रेस, 1977 में जनता पार्टी के बाद वर्ष 2015 में कैमूर की चारों विधानसभा सीटों पर भाजपा का झंडा लहराया. वर्ष 2015 के विधानसभा चुनाव में रामगढ़ सीट से भाजपा से खड़े अशोक कुमार सिंह ने राजद से खड़े प्रतिद्वंद्वी अंबिका यादव को 8011 वोट से हराया था. वहीं, मोहनिया सीट से भाजपा से खड़े निरंजन राम ने कांग्रेस से खड़े संजय कुमार को 7581 वोट से हराया था. भभुआ सीट से भाजपा से खड़े आनंदभूषण पांडेय ने जदयू से खड़े डॉ प्रमोद कुमार सिंह को 7744 वोट से हराया था. चैनपुर सीट से भाजपा से खड़े ब्रजकिशोर बिंद ने बसपा से खड़े जमा खां को मात्र 671 वोट से हरा कर चैनपुर सीट पर भाजपा का झंडा लहराया था.

posted by ashish jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें