1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. gopalgunj
  5. newly elected mukhiya was murdered in bihar early in the morning criminals shot outside the house in gopalgunj asj

बिहार में सुबह-सुबह नवनिर्वाचित मुखिया की हत्या, गोपालगंज में अपराधियों ने घर के बाहर मारी गोली

. पुलिस मामले की जांच कर रही है. पुलिस का दावा है कि जल्‍द ही बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
बिहार में अपराध
बिहार में अपराध
फाइल

गोपालगंज. बिहार में मुखिया पर हमला और उनकी हत्या की घटनाएं थम नहीं रही है. मंगलवार की सुबह एक और मुखिया की हत्या कर दी गयी. गोपालगंज में मुखिया को बाइक सवार अपराधियों ने मारी गोली. गंभीर हालत में सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया. अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई.

मिली जानकारी के अनुसार थावे थाना के धतिगना के मुखिया सुखल मुशहर को अपराधियों ने घर के बाहर ही गोली मारी है. घटना के बाद अपराधी फरार हो गये. आनन फानन में गंभीर अवस्था में मुखिया को अस्पताल पहुँचाया गया, जहां इलाज के दौरान ही उनकी मौत हो गई.

घटना की सूचना मिलने के बाद मामले की जांच करने सदर एसडीपीओ संजीव कुमार मौके पर पहुंच गए हैं. एक बाइक पर सवार दो बदमाशों ने इस घटना को अंजाम दिया. पुलिस को घटनास्थल से एक खोखा मिला है. एसडीपीओ ने आशंका जताई कि सुखल मुसहर की हत्‍या चुनावी रंजिश का नतीजा हो सकती है. पुलिस मामले की जांच कर रही है. पुलिस का दावा है कि जल्‍द ही बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

घटना के बाद जहां लोगों में आक्रोश है. वहीं सदर एसडीपीओ मामले की तहकीकात में जुट गए हैं. बताया जाता है कि नवनिर्वाचित मुखिया सुखल मुसहर धतिवाना गांव के प्रकाश सिंह के यहां रहकर घर का काम करते थे. यह पंचायत पूर्व से दलित के लिए रिजर्व हैं.

बताया जाता है कि चुनावी रंजिश को लेकर इस वारदात को अंजाम दिया गया है. गांव के ग्रामीण प्रकाश सिंह के मुताबिक आज सुबह करीब 6:30 बजे ग्लैमर बाइक पर सवार दो अपराधी उनके घर पहुंचे. यहां पर सुखल मुसहर को अपराधियों ने गोलियों से भून दिया. जिससे वे जमीन पर गिर गए. ग्रामीणों के द्वारा उन्हें सदर अस्पताल में लाया गया. जहा चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

ग्रामीण प्रकाश सिंह के मुताबिक चुनावी रंजिश को लेकर वारदात को अंजाम दिया गया होगा. एसडीपीओ संजीव कुमार ने कहा कि गांव में कुछ पूर्व से विवाद था, लेकिन वर्तमान मुखिया से उसका कोई सरोकार नहीं था. पुलिस सभी बिंदुओं पर जांच कर रही है. जल्द ही अपराधियों की पहचान कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा. इस घटना से एक सप्ताह पहले हथुआ साबेया के पास बीडीसी सदस्य को गोली मारी गई थी. जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई थी.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें