1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. gopalgunj
  5. in bihar 18 people died of alcohol in 24 hours the minister told the opposition conspiracy demanded investigation asj

बिहार में 24 घंटे में 18 लोगों की शराब से मौत, मंत्री ने बतायी विपक्षी साजिश, रखी जांच की मांग

बिहार में 24 घंटे में 18 लोगों की शराब पीने से मौत हो चुकी है. शराबबंदी के बावजूद इतनी संख्या में हुई मौत के बाद पुलिस प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
रोते परिजन
रोते परिजन
प्रभात खबर

पटना. बिहार में 24 घंटे में 18 लोगों की शराब पीने से मौत हो चुकी है. शराबबंदी के बावजूद इतनी संख्या में हुई मौत के बाद पुलिस प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है. गोपालगंज में 10 और बेतिया में 8 लोगों की संदिग्ध मौत की पुष्टि हो चुकी है. अस्पतालों में एडमिट कई मरीज गंभीर हैं. कई लोगों की आंखों की रोशनी चली गयी है.

इस बीच बिहार के भाजपा कोटे से आनेवाले मंत्री का अजीबोगरीब बयान सामने आया है. अपने गृह क्षेत्र से मौत की खबर मिलते ही बैकुंठपुर पहुंचे बिहार के खान व भूतत्व मंत्री जनक राम ने इसे विपक्ष की साजिश करार दिया है. अपने गृह जिले में 8 लोगों की मौत के सवाल पर जनक राम ने कहा कि शराबबंदी कानून को विफल करने के लिए विपक्ष इस प्रकार की घटनाओं को अंजाम दे रहा है.

उन्होंने मृतक छोटेलाल साह, छोटेलाल प्रसाद, रामबाबू राय, मुकेश राम और संतोष साह के परिजनों से मुलाकात की. इस दौरान जब जनक राम से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व में लगातार विकास हो रहा है और हर तबके के लोगों को आगे बढ़ाने के लिए सरकार काम कर रही है.

जनक ने कहा कि विकास के खिलाफ कुछ लोगों द्वारा कुचक्र रचा जा रहा है और बिहार सरकार को बदनाम करने के लिए ऐसी साजिश रची जा रही है. मंत्री ने कहा कि इस पूरे मामले की उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए, ताकि जो कुचक्र रचने वाले लोग हैं, चाहे वह किसी स्तर का अधिकारी हो या फिर जनप्रतिनिधि उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई हो. भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष व पूर्व विधायक मिथिलेश तिवारी ने भी कहा कि सरकार इस मामले में दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी.

दरअसल मोहम्मदपुर के मोहम्मदपुर गांव और कुशहर गांव में जहरीली शराब पीने से 5 लोगों की मौत हुई थी. मौत का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है और गुरुवार को तीन लोगों की मौत के बाद यह आठ तक जा पहुंचा है. इसी प्रकार गुरुवार को ही बेतिया में भी 8 लोगों की मौत हुई है जिसके बाद परिवार के लोगों ने इस मौत का कारण जहरीली शराब ही बताया है.

हालांकि गोपालगंज की घटना के बाद जिला प्रशासन ने चार आरोपियों के गिरफ्तार किया है. पुलिस ने एक मृतक के घर से भी देसी शराब बरामद किया है.

बिहार में पूर्ण शराबबंदी कानून साल 2016 के अप्रैल में ही लागू कर दिया गया था. आज इस कानून को लागू हुए 5 साल से ज्यादा वक्त हो चुका है, लेकिन इसके बावजूद भी इस साल अबतक 15 अलग-अलग घटनाओं में जहरीली शराब से 84 लोगों की मौत हो गई है.

Posted by Ashish Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें