1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. gopalgunj
  5. gopalganj fire department troubled by fake calls girls offering for marriage

गोपालगंज फायर डिपार्ट्मन्ट फेक कॉल से परेशान, टोल फ्री नंबर पर फोन कर लड़कियां दे रही शादी का प्रस्‍ताव

फायर डिपार्ट्मन्ट के टोल फ्री नंबर 101 पर आने वाले हर फोन कॉल्‍स को गंभीरता से लिया जाता है. लेकिन, आजकल गोपालगंज फायर डिपार्ट्मन्ट के कर्मचारी फेक कॉल से काफी परेशान हैं. लड़कियां टोल फ्री नंबर पर फोन कर शादी का प्रस्‍ताव दे रही हैं.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
गोपालगंज फायर डिपार्ट्मन्ट फेक कॉल से परेशान
गोपालगंज फायर डिपार्ट्मन्ट फेक कॉल से परेशान
फाइल फोटो

फायर डिपार्ट्मन्ट के टोल फ्री नंबर 101 पर आने वाले हर फोन कॉल्‍स को गंभीरता से लिया जाता है. लेकिन, आजकल गोपालगंज फायर डिपार्ट्मन्ट के कर्मचारी फेक कॉल से काफी परेशान हैं. खासकर लड़कियां टोल फ्री नंबर पर फोन कर शादी का प्रस्‍ताव दे रही हैं. कुछ युवतियां तो फोन फायर डिपार्टमेंट के अधिकारियों से दिल की आग बुझाने के लिए पानी तक की डिमांड कर रही हैं.

हर दिन लड़कियों 15 से 20 फोन कॉल

आगजनी के मामलों में सूचना देने के लिए बनाए गए टोल फ्री नंबर पर ज्यादातर समय फेक कॉल में ही गुजर जाता है. फायर स्टेशन के कर्मचारियों की मानें तो टोल फ्री नंबर बहुत दुरुपयोग हो रहा है. हर दिन लड़कियों 15 से 20 फोन कॉल आते हैं. कंट्रोल रूम के कर्मचारियों को मोबाइल रिचार्ज कराने और शादी का प्रस्ताव भी दिया जा रहा है. यह हाल तब है जब अप्रैल महीने में जिले में 27 आग लगने की घटनाएं हो चुकी हैं.

फेक कॉल से कर्मचारी परेशान

फायर स्टेशन के कंट्रोल रूम के कर्मचारी बताते है कि आग लगने के इस मौसम में फेक कॉल आने के कारण वह परेशान हैं. लम्बे वक्त तक फोन व्यस्त होने के कारण जरूरतमंद लोगों का फोन कई बार नहीं लग पाता है, जीस कारण उन्हें समय पर सुविधा नहीं मिल पा रही है.

मोबाईल पर दी जा सकती है आगजनी की सूचना 

अग्निशमन विभाग के पदाधिकारी उपेंद्र कुमार कहते हैं कि गोपालगंज जिला मुख्यालय फायर स्टेशन के टोल फ्री नंबर 101 को जनता की सुविधा के लिए जारी किया गया है. इस नंबर पर कोई भी व्यक्ति आगजनी की सूचना तत्काल फायर स्टेशन तक पहुंचा सकता है. अब मोबाइल नंबर 7485805810 और 7485805811 पर भी अगलगी की सूचना दी जा सकती है. इससे कॉल करने वाले का नाम और पता ट्रेस किया जा सकेगा. वह कहते हैं कि जरूरत है कि प्रशासन ऐसे फर्जी फोन कॉल की छानबीन कर ठोस कार्रवाई करे.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें