1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. gopalgunj
  5. gandak river above danger mark flood water spread in low lying areas asj

गंडक नदी खतरे के निशान के ऊपर, निचले इलाकों में फैला बाढ़ का पानी

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
गांव में घुसा बाढ़ का पानी
गांव में घुसा बाढ़ का पानी
प्रभात खबर

पटना/गोपालगंज. गंडक नदी गोपालगंज जिले के डुमरियाघाट में खतरे के निशान से करीब 64 सेंमी ऊपर बह रही है. इससे तटबंधों पर दबाव बना हुआ है. हालांकि इसमें कमी का रुख है. लेकिन, कटाव शुरू हो गया है.

गोपालगंज सदर प्रखंड, मांझा, बरौली, सिधवलिया, बैकुंठपुर प्रखंड के लगभग 42 गांवों में से 50 हजार लोग बाढ़ की पानी से घिरे हुए थे. 20 से अधिक गांवों से पानी निकल गया है. इधर, कोसी और गंगा नदियों का जल स्तर तेजी से बढ़ रहा है. इसके साथ ही पुनपुन, घाघरा, बूढ़ी गंडक और सोन नदी के जल स्तर में बढ़ोतरी का रुख है.

नदियों के निचले इलाकों में बाढ़ का पानी फैलने से जनजीवन प्रभावित है. जल संसाधन विभाग ने अपने सभी बांधों को सुरक्षित होने का दावा किया है. साथ ही विभाग के इंजीनियर और पदाधिकारी लगातार स्थिति पर नजर रख रहे हैं.

केंद्रीय जल आयोग के अनुसार कोसी नदी का जल स्तर सुपौल जिले के बसुआ में खतरे के निशान से करीब 75 सेंमी नीचे था. वहीं खगड़िया जिले के बलतारा में यह 67 सेंमी नीचे था. गंगा नदी का जल स्तर दीघा घाट पर खतरे के निशान से 2.69 मीटर और गांधी घाट पर 1.44 मीटर नीचे था.

हाथीदह में गंगा नदी खतरे के निशान से करीब 97 सेंमी नीचे बह रही थी. वहीं पुनपुन नदी का जल स्तर पटना के श्रीपालपुर में खतरे के निशान से 91 सेंमी नीचे था. गंगा में जल स्तर बढ़ने से मुंगेर के दियारे इलाके में पानी घुस गया है, जिससे फसल बर्बाद हो गयी है

Posted by Ashish Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें