1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. gopalgunj
  5. coronavirus in bihar latest news update due to corona bihar government ambulance banned from going to uttar pradesh sap

कोरोना के कारण बिहार की सरकारी एंबुलेंस के उत्तर प्रदेश जाने पर लगी रोक

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
स्वास्थ्य प्रबंधक से अनुमति मिलने के बाद भेजी जा रही एंबुलेंस.
स्वास्थ्य प्रबंधक से अनुमति मिलने के बाद भेजी जा रही एंबुलेंस.
FILE PIC

गोपालगंज : कोरोना की वजह से बिहार की सरकारी एंबुलेंस मरीजों को लेकर उत्तर प्रदेश नहीं जा रही. सदर अस्पताल से रेफर होनेवाले मरीजों को 102 एंबुलेंस से पटना मेडिकल कॉलेज भेजा जा रहा. गोरखपुर मेडिकल कॉलेज जाने के लिए मरीजों को निजी एंबुलेंस पर निर्भर रहना पड़ रहा. स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि यह नियम कुछ दिनों पहले लागू हुआ. यदि मरीज सरकारी एंबुलेंस को शुल्क देकर गोरखपुर मेडिकल कॉलेज जाना चाहते हैं, तो इसके लिए स्वास्थ्य समिति से अनुमति लेनी होगी.

रविवार की रात में बरौली थाना क्षेत्र में सड़क दुर्घटना में घायल हुए शिक्षक प्रदीप तिवारी को सदर अस्पताल से रेफर किया गया. परिजनों ने गोरखपुर जाने के लिए 102 एंबुलेंस सेवा मांगी. शुल्क के साथ एंबुलेंस मिली, लेकिन पटना जाने के लिए. बाद में स्वास्थ्य प्रबंधक अमरेंद्र कुमार के आदेश पर गोरखपुर जाने के लिए एंबुलेंस तैयार हुआ. इसके पहले 27 अगस्त को हथुआ में सड़क दुर्घटना में घायल होकर पहुंचे रामनायण प्रसाद को गोरखपुर जाने के लिए सरकारी एंबुलेंस नहीं मिला. जिसके कारण उन्हें पीएमसीएच पटना जाना पड़ा. पटना मेडिकल कॉलेज की दूरी अधिक होने के कारण मरीजों की परेशानी बढ़ गयी है.

जिला स्वास्थ्य प्रबंधक धीरज कुमार का कहना है कि कोरोना की वजह से 102 एंबुलेंस को सावधानी पूर्वक संचालित किया जा रहा है. पटना पीएमसीएच के लिए सभी एंबुलेंस भेजे जा रहे हैं. गोरखपुर के लिए अनुमति लेनी पड़ेगी या मरीज चाहे तो निजी एंबुलेंस से गोरखपुर जा सकता है. गर्भवती और बीमार लोगों के लिए 102 सेवा को अधिक उपयोग की जा रही.

उधर, निजी एंबुलेंस का मनमाना किराया होने से मरीजों को अधिक परेशानी हो रही. पांच से सात हजार रुपये गोरखपुर जाने के लिए निजी एंबुलेंस चालकों का किराया है. जबकि, 102 एंबुलेंस का किराया प्रति किलोमीटर 10 रुपये निर्धारित है. गोपालगंज सदर अस्पताल से गोरखपुर मेडिकल कॉलेज की दूरी महज 122 किलोमीटर है. यहां मरीज को लेकर जाने के लिए एंबुलेंस को दो से ढ़ाई घंटे का समय लगता है. वहीं पटना की दूरी करीब दो सौ मीटर पड़ जाती है. यहां एंबुलेंस को मरीज लेकर जाने के लिए चार से पांच घंटे का समय लगता है.

Upload By Samir Kumar

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें