1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. gaya
  5. peace to ancestors pindadaan was done in punpun and godavari pitru paksha shraddha started asj

पितरों को शांति: पुनपुन और गोदावरी में किया गया पिंडदान, पितृपक्ष श्राद्ध का हुआ आगाज

गयावाल तीर्थ वृति सुधारणी सभा के अध्यक्ष गजाधर लाल कटरियार ने बताया कि पितरों की मुक्ति के लिए 17 दिवसीय पितृपक्ष श्राद्ध के पहले दिन राजस्थान, हरियाणा, पश्चिम बंगाल, गुजरात सहित देश के कई अन्य राज्यों से दो हजार से अधिक तीर्थयात्री यहां पहुंच गये.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
पितृपक्ष श्राद्ध का हुआ आगाज
पितृपक्ष श्राद्ध का हुआ आगाज
फाइल

गया. मोक्षधाम में रविवार से आयोजित 17 दिवसीय पितृपक्ष श्राद्ध के पहले दिन 19 सितंबर को देश के कई राज्यों से दो हजार से अधिक तीर्थयात्री यहां पहुंचे. गयावाल तीर्थ वृति सुधारणी सभा के अध्यक्ष गजाधर लाल कटरियार ने बताया कि पितरों की मुक्ति के लिए 17 दिवसीय पितृपक्ष श्राद्ध के पहले दिन राजस्थान, हरियाणा, पश्चिम बंगाल, गुजरात सहित देश के कई अन्य राज्यों से दो हजार से अधिक तीर्थयात्री यहां पहुंच गये.

उन्होंने बताया कि पहले दिन पुनपुन नदी या गोदावरी सरोवर में पिंडदान व श्राद्ध का विधान रहा है. उन्होंने कहा कि जो पुनपुन नदी में श्राद्ध नहीं कर सके उन्होंने गया स्थित गोदावरी तालाब में पिंडदान का कर्मकांड अपने कुल पंडा के निर्देशन में पूरा किया है. उन्होंने बताया कि 17 दिवसीय पितृपक्ष श्राद्ध के दूसरे दिन यानी 20 सितंबर को फल्गु नदी में पिंडदान व तर्पण का विधान है.

गौरतलब है कि प्राचीन काल से गयाजी में पितरों की मुक्ति के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पितृपक्ष मेले का आयोजन होता रहा है. कोरोना संक्रमण के कारण वर्ष 2020 में इस मेले का आयोजन नहीं हो सका था. इस बार भी कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए सरकारी स्तर पर पितृपक्ष मेले के आयोजन की घोषणा नहीं की गयी है. हालांकि जिला प्रशासन द्वारा इस बार पितृपक्ष श्राद्ध में पिंडदान करने की तीर्थयात्रियों को रियायत दी गयी है.

जिला प्रशासन द्वारा दी गयी इस रियायत के बाद देश के कई राज्यों से तीर्थ यात्रियों का दल यहां पहुंचना शुरू हो गया है. रविवार को देवघाट पर भी काफी संख्या में श्रद्धालुओं ने अपने पितरों की आत्मा की शांति व मोक्ष प्राप्ति के निमित्त अपने कुल पंडा के निर्देशन में पिंडदान, श्राद्धकर्म व तर्पण का कर्मकांड पूरा किया है.

इधर, काफी संख्या में तीर्थयात्रियों के आने की संभावना को लेकर प्रमुख मेला क्षेत्रों में सुरक्षा व्यवस्था, विधि व्यवस्था, सफाई, बिजली, पानी, यातायात सहित अन्य बुनियादी सुविधाएं तीर्थयात्रियों के लिए जिला प्रशासन द्वारा सुलभ करायी जा रही है.

पितृपक्ष श्राद्ध के निमित्त देश-विदेश से आने वाले तीर्थ यात्रियों को समुचित सुविधा उपलब्ध करायी जायेगी. यह जानकारी देते हुए वरीय पुलिस अधीक्षक आदित्य कुमार ने कहा कि इसके निमित्त रविवार को नगर पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार द्वारा विष्णुपद व अन्य मेला क्षेत्रों का भ्रमण कर सुरक्षा व यातायात व्यवस्था का जायजा लिया गया.

उन्होंने कहा कि 20 सितंबर से प्रमुख मेला क्षेत्रों में अतिरिक्त पुलिस बलों की प्रतिनियुक्ति की जायेगी ताकि श्राद्धकर्म के निमित्त आने वाले तीर्थ यात्रियों को समुचित सुरक्षा व यातायात व्यवस्था का लाभ सुलभ कराया जा सके.

Posted by Ashish Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें