1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. gaya
  5. makar sankranti 2022 smell of tilkut from kashmir to kanyakumari online orders coming from 250 customers daily rdy

कश्मीर से कन्याकुमारी तक गया के तिलकुट की महक, प्रतिदिन 250 ग्राहकों के आ रहे ऑनलाइन ऑर्डर

मकर संक्रांति को लेकर इन दुकानों पर पांच हजार से अधिक कारीगर तिलकुट बनाने का काम करते हैं. हाल के कुछ वर्षों से मेवा के तिलकुट, केसरिया तिलकुट, नारियल के तिलकुट, खोवा के तिलकुट व कई अन्य फ्लेवर के तिलकुट का कारोबार बढ़ा है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
तिलकुट बनाते मेकर
तिलकुट बनाते मेकर
प्रभात खबर

गयाजी का तिलकुट उद्योग करीब 130 वर्ष पुराना है. इस कारोबार का पूरा संबंध मकर संक्रांति से है. इन दो महीनों में बीते वर्ष 2021 में करीब 75 हजार किलो तिलकुट का कारोबार हुआ था. इस बार करीब एक लाख किलो तिलकुट के कारोबार की उम्मीद कारोबारियों द्वारा की जा रही है.

मकर संक्रांति को लेकर इन दुकानों पर पांच हजार से अधिक कारीगर तिलकुट बनाने का काम करते हैं. हाल के कुछ वर्षों से मेवा के तिलकुट, केसरिया तिलकुट, नारियल के तिलकुट, खोवा के तिलकुट व कई अन्य फ्लेवर के तिलकुट का कारोबार बढ़ा है.

प्रमोद लड्डू भंडार द्वारा वर्ष 2019 से तिलकुट की ऑनलाइन बुकिंग शुरू की गयी. इस प्रतिष्ठान के मैनेजर रंजय कुमार ने बताया कि देश के सभी राज्यों से तिलकुट का ऑनलाइन ऑर्डर मिल रहा है. सभी ऑर्डरों की डिलिवरी भी की जा रही है. उन्होंने कहा कि जनवरी के पहले दिन से ही औसतन प्रतिदिन ढाई सौ ऑनलाइन ऑर्डर मिल रहे है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें