1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. gaya
  5. buddha jayanti be celebrated in gaya mahabodhi temple and sri lanka buddhist monastery governor attend the program rdy

गया महाबोधि मंदिर और श्रीलंका बौद्ध मठ में कल मनायी जाएगी बुद्ध जयंती, कार्यक्रम में शामिल होंगे राज्यपाल

बुद्ध जयंती समारोह में विशिष्ट अतिथि के रूप में थाईलैंड के कोलकाता स्थित दूतावास में प्रतिनियुक्त काउंसुल जेनरल अचारापान यावारापास भी शिरकत करेंगी.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
बुद्ध जयंती समारोह को लेकर महाबोधि मंदिर क्षेत्र में की गयी सजावट.
बुद्ध जयंती समारोह को लेकर महाबोधि मंदिर क्षेत्र में की गयी सजावट.
प्रभात खबर

बोधगया. भगवान बुद्ध की 2566वीं त्रिविध पावन जयंती (जन्म, संबोधि प्राप्ति व महापरिनिर्वाण दिवस) उनकी ज्ञानस्थली महाबोधि मंदिर परिसर में सोमवार को मनायी जायेगी. इसकी सभी तैयारियां पूरी कर ली गयी हैं और मुख्य अतिथि के रूप में बिहार के राज्यपाल फागू चौहान मौजूद रहेंगे. जयंती समारोह में विशिष्ट अतिथि के रूप में थाईलैंड के कोलकाता स्थित दूतावास में प्रतिनियुक्त काउंसुल जेनरल अचारापान यावारापास भी शिरकत करेंगी. जयंती समारोह में गया के डीएम सह बोधगया टेंपल मैनेजमेंट कमेटी के पदेन अध्यक्ष डॉ त्यागराजन स्वागत भाषण देंगे व कार्यक्रम के समापन पर बीटीएमसी के सचिव एन दोरजे धन्यवाद ज्ञापन करेंगे. इससे पहले जयंती समारोह की शुरुआत सोमवार की सुबह 6:30 बजे बोधगया स्थित 80 फुट बुद्ध मूर्ति के पास से महाबोधि मंदिर तक बौद्ध भिक्षुओं व श्रद्धालुओं द्वारा एक शोभायात्रा के साथ की जायेगी.

10 बजे कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राज्यपाल फागू चौहान का आगमन होगा

सभी महाबोधि मंदिर में पवित्र बोधिवृक्ष के नीचे एकत्रित होकर पंचशील का पाठ करते हुए भगवान बुद्ध की पूजा-अर्चना करेंगे. इस बीच सुबह 10 बजे कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राज्यपाल फागू चौहान का आगमन होगा और उसके बाद दीप प्रज्वलित कर राज्यपाल जयंती समारोह का उद्घाटन करेंगे. इसके बाद थेरोवाद व महायान पंथ के बौद्ध भिक्षुओं व लामाओं द्वारा सुत्तपाठ किया जायेगा. डीएम के स्वागत भाषण के बाद बीटीएमसी द्वारा प्रकाशित सालाना पत्रिता प्रजा-2022 का लोकार्पण किया जायेगा. इसके बाद इंटरनेशनल बुद्धिस्ट काउंसिल, बोधगया के जेनरल सेक्रेटरी भिक्खु प्रज्ञादीप का संबोधन होगा. इसके बाद थाई काउंसुल जेनरल का संबोधन कार्यक्रम तय है. बीटीएमसी के सचिव एन दोरजे द्वारा धन्यवाद ज्ञापन के बाद कार्यक्रम का समापन होगा व महाबोधि मंदिर से सभी प्रस्थान कर जायेंगे. इसके बाद बिरला धर्मशाला परिसर में बौद्ध भिक्षुओं को संघदान यानी भोजन कराया जायेगा.

बौद्ध श्रद्धालुओं के लिए कालचक्र मैदान में भोजन की व्यवस्था

विभिन्न स्थलों से बुद्ध जयंती समारोह में शामिल होने यहां पहुंचे बौद्ध श्रद्धालुओं के लिए कालचक्र मैदान में भोजन की व्यवस्था की गयी है. जयंती समारोह में तहत शाम 4:30 बजे बकरौर स्थित सुजाता मंदिर में एक प्रार्थना सभा का आयोजन किया जायेगा और उसके बाद महाबोधि मंदिर परिसर में शाम 6:30 बजे कैंडल लाइट के साथ शोभायात्रा निकाली जायेगी. मंदिर परिसर को दीपों से सजाया जायेगा. महाबोधि मंदिर परिसर में सभी कार्यक्रम बोधगया टेंपल मैनेजमेंट कमेटी यानी बीटीएमसी की ओर से आयोजित किये जायेंगे.

आज से श्रीलंका बौद्ध मठ में कार्यक्रम

बुद्ध जयंती के अवसर पर महाबोधि सोसाइटी ऑफ इंडिया यानी श्रीलंका बौद्ध मठ परिसर में भी दो दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है. इसके तहत रविवार की सुबह 6:30 बजे श्रीलंका बौद्ध मठ परिसर स्थित जयश्री महाबोधि विहार मंदिर से महाबोधि मंदिर तक भगवान बुद्ध व उनके दो शिष्यों महामोग्नान व अरिहंत सारिपुत्त के धातु अवशेष के साथ शोभायात्रा निकाली जायेगी. इसके बाद सोमवार की सुबह 11:30 से शाम छह बजे तक जयश्री महाबोधि विहार में बुद्ध व उनके शिष्यों के धातु अवशेष को आम श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ रखा जायेगा. सूचना है कि महाबोधि मंदिर में आयोजित कार्यक्रम के बाद राज्यपाल फागू चौहान श्रीलंका बौद्ध मठ भी जायेंगे और यहां भगवान बुद्ध व उनके दोनों शिष्यों के धातु अवशेषों का दर्शन करेंगे.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें