1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. coronavirus in bihar live updates the number of corona infected in bihar crosses 50 thousand 2986 new cases found in the state read corona latest updates district wise patna gaya bhagalpur jamui muzaffarpur darbhanga madhubani supaul purnia munger covid 19 news updates in hindi

Coronavirus in Bihar Updates: गृह विभाग के अफसरों और कर्मियों की कोरोना जांच मंगलवार को, दो कर्मियों की हो चुकी है मौत

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
बिहार में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 50 हजार के पार हुआ
बिहार में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 50 हजार के पार हुआ
Twitter

पटना: बिहार में कोरोना पॉजिटिवों की संख्या शुक्रवार को 50 हजार के पार हो गयी है. शुक्रवार को 38 जिलों में 2986 नये केस मिले. इनमें सबसे अधिक पटना जिले के 535 नये संक्रमित शामिल हैं. इसके साथ ही संक्रमितों की संख्या 50,987 तक पहुंच गयी है. इनमें से 33,650 लोग ठीक हो चुके हैं. राज्य में रिकवरी रेट 66% है. पिछले 24 घंटे में कुल 22,742 सैंपलों की जांच की गयी, जो रिकॉर्ड है. अब तक पांच लाख 48 हजार 172 सैंपलों की जांच हो चुकी है.

email
TwitterFacebookemailemail

गृह विभाग के पदाधिकारियों व कर्मियों की कोविड जांच मंगलवार को

बिहार के गृह विभाग के सभी पदाधिकारियों और कर्मचारियों की कोरोना संक्रमण की जांच मंगलवार को करायी जायेगी. स्वास्थ्य विभाग के निदेशक प्रमुख डाॅ नवीन चंद्र प्रसाद ने पटना के सिविल सर्जन को निर्देश दिया है कि वह गृह विभाग के सभी पदाधिकारियों और कर्मचारियों की कोरोना संक्रमण की जांच आरटी-पीसीआर विधि से कराएं. सिविल सर्जन को भेजे गये पत्र में निदेशक प्रमुख ने हवाला दिया है कि गृह विभाग के दो कर्मियों की मौत हो गयी है. उनके कोरोना पॉजिटिव होने की आशंका है. इसे देखते हुए सिविल सर्जन को गृह विभाग के मुख्यालय स्थित सभी पदाधिकारियों और कर्मचारियों की जांच मंगलवार को सुनिश्चित किया जाये.

email
TwitterFacebookemailemail

कोरोना से पूर्व जेडीयू विधायक की पत्नी की मौत

औरंगाबाद में एक कोविड-19 के संक्रमण से मृतकों की संख्या एक से बढ़ कर दो हो गयी है. जानकारी देते हुए डीपीआरओ कृष्ण कुमार ने बताया कि गोह प्रखंड के बंदेया गांव निवासी व जदयू के पूर्व विधायक की 62 वर्षीय पत्नी की मौत हो गयी. उन्होंने बताया कि 19 जुलाई से एम्स में कोरोना के संक्रमण से ग्रसित होकर इलाजरत थी. शनिवार को उनकी मौत की सूचना एम्स के द्वारा प्राप्त हुई है. डीपीआरओ ने बताया कि पिछले चार दिनों से उनकी हालत में सुधार ना होने के कारण उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था. लेकिन, उन्हें बचाया नहीं जा सका. उनकी मौत को लेकर स्वास्थ्य विभाग एवं जिला प्रशासन अग्रेतर कार्रवाई में जुटा हुआ है. मालूम हो कि इसके पूर्व पुलिस लाइन के एक दारोगा की मौत हो गयी थी. उनकी मौत के बाद लिये गये स्वाब की रिपोर्ट जांच के बाद कोरोना पॉजिटिव पायी गयी थी. बड़े राजनीतिक घराने से जुड़ी महिला की मौत के बाद कई नेताओं ने शोक संवेदना व्यक्त की है.

email
TwitterFacebookemailemail

डीएम के आने पर आइसोलेशन वार्ड की बदली व्यवस्था

रोहतास जिले के बिक्रमगंज अनुमंडलीय अस्पताल में बने आइसोलेशन वार्ड के औचक निरीक्षण पर आये जिलाधिकारी व सिविल सर्जन के जाते ही वार्ड की विधि व्यवस्था में बदलाव हो गया. वार्ड में भर्ती रवींद्र सिंह ने बताया कि जिलाधिकारी पंकज दीक्षित को हमलोग मैसेज कर यहां की विधि व्यवस्था की शिकायत कर रहे थे. शायद उसी शिकायत पर जिलाधिकारी यहां पहुंचे और जायजा लिया. उनके जाने के बाद यहां की सफाई और भोजन का मेनू बदल गया. अब रोज हरी हरी सब्जियों के साथ कभी कभी पनीर भी खाने को मिल रहा है. स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार प्रति व्यक्ति प्रति दिन 175 रुपये भोजन एवं 50 रुपये शुद्ध पानी के लिए निर्धारित किया गया है, जिसके अनुसार खाने की गुणवत्ता में बहुत सुधार हुआ है. स्वास्थ्य प्रबंधक अशोक कुमार ने बताया कि शनिवार को सुबह सात बजे चाय बिस्कुट से शुरुआत हुई. उसके बाद आठ बजे नाश्ता में आलू चना की सब्जी के साथ-साथ पूरी दी गयी. दोपहर एक बजे के भोजन में चावल, दाल, हरी सब्जी, भुजिया के साथ सलाद दिया गया. शाम पांच बजे पुनः चाय बिस्कुट के बाद काढ़ा दिया गया और रात आठ बजे के भोजन में रोटी के साथ पनीर की सब्जी मिली. प्रबंधक ने स्वीकारा कि जिलाधिकारी के आदेश पर सफाई व भोजन में बदलाव आया है. अब किसी को कोई शिकायत नहीं है.

email
TwitterFacebookemailemail

खगड़िया में कोरोना संक्रमितों से ग्रामीण परेशान

खगड़िया: अलौली पंचायत के वार्ड संख्या 9 में एक ही परिवार के चार लोग कोरोना संक्रमित पाये गये. कोरोना संक्रमित व्यक्ति को होम कोरेंटिन में रहने का निर्देश दिया गया था. लेकिन संक्रमित एक व्यक्ति इधर उधर गांव में घूमते रहता है. जिसके कारण ग्रामीणों को घर से निकलने में परेशानी हो रही है. कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका से भयभीत ग्रामीणों ने प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को घटना की जानकारी दी. प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि पीड़ित कोरोना संक्रमित को ट्रीटमेंट केयर सेंटर भेजा जायेगा.

email
TwitterFacebookemailemail

सहरसा में नगर परिषद के 12 वार्डों को किया गया सील, मजिस्ट्रेट के साथ पुलिस बलों की हुई तैनाती

सहरसा : कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की पहचान किये गये व्यक्तियों के निवास स्थल व पड़ोस के क्षेत्र को डीएम कौशल कुमार के निर्देश पर शुक्रवार को सदर एसडीओ व एसडीपीओ ने सील कराया. संक्रमण को रोकने के उद्देश्य से डीएम ने गुरुवार को आदेश जारी कर सहरसा नगर परिषद क्षेत्र के कुल 12 वार्ड को कंटेंमेंट जोन घोषित किया है. वहीं उन्होंने कंटेंमेंट जोन में सभी निर्देशों के अनुपालन सुनिश्चित करने को लेकर सभी कंटेंमेंट जोन को सील किया गया है. मालूम हो कि नगर परिषद क्षेत्र के विभिन्न कुल 12 वार्डों में कुल 29 कोरोना पोजिटिव मरीजों के मिलने से पूरे शहरी क्षेत्र में भय का माहौल है. जानकारी देते सदर एसडीओ शंभूनाथ झा ने बताया कि वार्ड 10 में एक, वार्ड दो में आठ, वार्ड पांच में एक, वार्ड सात में दो, वार्ड 12 में एक, वार्ड 13 में आठ, वार्ड 21 में दो, वार्ड 22 में एक, वार्ड 23 में एक, वार्ड 25 में दो, वार्ड 26 में एक एवं वार्ड 35 में एक संक्रमित मरीज पाये गये हैं. जिनको लेकर सभी वार्डों को कंटेंमेंट जोन बना दिया गया है. जहां अगले आदेश तक सभी निजी एवं सार्वजनिक प्रतिष्ठान बंद कर दिये गये हैं एवं लोगों की आवाजाही पर रोक लगाते हुए मुख्य एवं वैकल्पिक मार्ग को बंद करा दिया गया है. बढ़ता ही जा रहा है संक्रमण का खतराउन्होंने बताया कि कंटेंमेंट जोन से कोई व्यक्ति बाहर जाता है या बाहर से कोई व्यक्ति प्रवेश करता है तो उसके विरूद्ध भारतीय दंड संहिता की सुसंगत धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज करते हुए कड़ी कार्रवाई की जायेगी. संबंधित व्यक्ति को हिरासत में लेकर करावास में डाल दिया जायेगा. उन्होंने कहा कि कंटेंमेंट जोन में सभी घरों को सैनेटाइज करने का कार्य नगर परिषद द्वारा किया जा रहा है. इसके लिए गुरुवार से ही सैनिटाइजेशन का कार्य शुरू है.

email
TwitterFacebookemailemail

कोरोना काे मात देने सीतामढ़ी पहुंचे 25 पुलिसकर्मी

सीतामढ़ी. बिहार पुलिस अपराध नियंत्रण एवं विधि व्यवस्था बनाये रखने में अपनी भूमिका अदा करने के साथ ही खेल के क्षेत्र में भी अग्रणी रही है. यहां की पुलिस विभिन्न राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय खेलों में अबतक कई पदक जीत चुकी है. खेलों में बिहार की मिट्टी का लोहा मनवा चुके इन खिलाड़ी सिपाहियों को कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रति आमजन में जागरूकता पैदा करने के लिए सीतामढ़ी जिला में प्रतिनियुक्ति की गयी है.कोरोना वायरस के चलते बनी संकट की इस घड़ी में ये सिपाही संकटमोचक की भूमिका अदा कर रहे हैं. पुलिस मुख्यालय, पटना ने खेल के क्षेत्र से जुड़े एक-एक अवर निरीक्षक, सहायक अवर निरीक्षक व हवलदार के अलावा 22 पुलिस कर्मियों को सीतामढ़ी में भेजा है. पिछले तीन-चार दिनों से उक्त पुलिसकर्मी जिले के विभिन्न क्षेत्रों में जाकर लोगों को कोरोना से बचने का उपाय बता रहे हैं. लोगों को जागरूक कर रहे हैं कि इस महामारी से खुद कैसे बचा जा सकता है और दूसरों को भी संक्रमण से कैसे बचाया जा सकता है. फिलहाल 10 पुलिसकर्मियों को महिन्दवारा थाना क्षेत्र में जागरूक करने के लिए भेजा गया है. 15 पुलिस कर्मियों को एसपी अपने स्तर से प्रतिदिन अलग-अलग स्थानों पर भेजते हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

खगड़िया के सरकारी अस्पतालों में डेढ दर्जन स्पेशलिस्ट डॉक्टरों की पोस्टिंग

खगड़िया. सरकारी अस्पतालों में मरीजों को बेहतर इलाज होगा. इतना ही नहीं इलाज के लिए आने वाले मरीजों को घंटों कतार में लगने से भी मुक्ति मिल जायेगी. जानकारी के मुताबिक स्वास्थ्य विभाग के द्वारा जिले में डेढ दर्जन स्पेशलिस्ट डॉक्टरों की पोस्टिंग की गयी. इन डॉक्टरों की पोस्टिंग सदर अस्पताल एवं गोगरी अनुमंडल अस्पताल में की गयी है. सदर अस्पताल में दस तथा गोगरी अनुमंडल अस्पताल में सात विशेषज्ञ डॉक्टरों की पोस्टिंग की गयी है. बताया गया कि सभी डॉक्टरों को विभागीय अधिसूचना जारी होने की तिथि से एक सप्ताह के भीतर योगदान करने के आदेश दिये गये हैं. इधर सिविल सर्जन डॉ अजय कुमार सिंह ने बताया कि दो डॉक्टर ज्वाईन कर चुके हैं. जबकि अन्य डॉक्टरों ने अभी योगदान नहीं किया है.

email
TwitterFacebookemailemail

सुपौल जिले में कोरोना का कहर लगातार जारी,जिले में 60 नये मरीज पाये गये

सुपौल जिले में कोरोना का कहर लगातार जारी है. प्रतिदिन दर्जनों की संख्या में कोरोना संक्रमित मरीज पाये जा रहे हैं. जिससे आमलोगों में दहशत का माहौल व्याप्त है. शुक्रवार को फिर जिले में 60 नये मरीज पाये गये हैं. जिनमें निर्मली प्रखंड के 08, मरौना का 01, पिपरा के 03, त्रिवेणीगंज के 04, राघोपुर के 07, प्रतापगंज के 02, बसंतपुर के 15, छातापुर के 03 एवं सुपौल के सर्वाधिक 17 मरीज शामिल हैं. अब तक जिले में कोरोना संक्रमण के कुल 918 मामले सामने आ चुके हैं. जिनमें से 615 मरीज ठीक होने के बाद अपने घर लौट चुके हैं. अद्यतन जिले में कुल कोरोना के एक्टिव केस की संख्या 303 है. जिला जनसंपर्क पदाधिकारी संतोष कुमार ने बताया कि जिले में अब तक कोरोना संदिग्ध 11 हजार 612 लोगों की जांच हेतु सैंपलिंग करायी गयी है. हालांकि इनमें से 264 लोगों का जांच रिपोर्ट आना अभी बांकी है. 627 लोगों का हुआ एंटीजेन टेस्ट उन्होंने बताया कि जिले के 16 स्वास्थ्य केंद्रों पर कोरोना संक्रमण की जांच की जा रही है. शुक्रवार को इन स्वास्थ्य केंद्रों पर कुल 627 लोगों का एंटीजेन टेस्ट कराया गया. जिला प्रशासन ने आमलोगों से अपील की है कि वे कोरोना संक्रमण के लक्षण पाये जाने पर तुरंत अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर जाएं एवं नि:शुल्क कोविड-19 की जांच कराएं.

email
TwitterFacebookemailemail

भागलपुर में प्लाज्मा थेरेपी से कोरोना पॉजिटिव मरीजों के इलाज की तैयारी शुरू

भागलपुर : जिले में प्लाज्मा थेरेपी से कोरोना पॉजिटिव मरीजों के इलाज की तैयारी शुरू हो गयी है. बिहार में एम्स पटना में प्लाज्मा थेरेपी से कोविड मरीजों का इलाज किया जा रहा है. मायागंज अस्पताल स्थित कोविड आइसोलेशन सेंटर के नोडल पदाधिकारी डॉ हेम शंकर शर्मा ने बताया कि अस्पताल प्रबंधन को इसकी तैयारी शुरू करने का प्रस्ताव दिया गया है. सरकार से आदेश लेने के लिए पत्र भेजा जाये. डॉ शर्मा ने बताया कि इस समय जिले में कोरोना संक्रमित कई मरीज स्वस्थ हो चुके हैं. उनके रक्तदान से पॉजिटिव मरीजों को बहुत लाभ मिलेगा.मायागंज अस्पताल के पैथोलॉजी, मेडिसीन व ब्लड बैंक के इंचार्ज के साथ बैठक कर सहमति बनायी जायेगी. अस्पताल में प्लाज्मा डोनेट व स्लाइन से संबंधित उपकरणों की जानकारी लेने के बाद तय होगा कि मायागंज अस्पताल में भर्ती मरीजों को प्लाज्मा थेरेपी से इलाज हो सकता है अथवा नहीं. स्वस्थ हो चुके लोगों से रक्तदान करा प्लाज्मा तैयार किया जायेगा. एक व्यक्ति से 300 एमएल रक्त लेकर इससे 100 एमएल प्लाज्मा तैयार होगा. इससे चार मरीजों को प्लाज्मा स्लाइन किया जायेगा. कोविड मरीजों के स्वस्थ होने तक उनके रक्त में कोरोना वायरस के खिलाफ एंटीबॉडी तैयार हो जाता है. इस एंटीबॉडी को दूसरे संक्रमित मरीजों के खून में मिलने के बाद वायरस की कमी होने लगती है.

email
TwitterFacebookemailemail

कोरोना से जंग में सहरसा डीएम बने हैं योद्धा, नियमित करते हैं जिले का भ्रमण

सहरसा: पूरी दुनिया कोरोना की त्रासदी झेल रही है. इसमें अधिकारी, चिकित्सक, स्वास्थ्यकर्मी से लेकर जनप्रतिनिधि, पुलिस, दुकानदार व समाजसेवी अपना योगदान दे रहे हैं. वहीं डीएम कौशल कुमार भी कोरोना जंग में अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभा रहे हैं. संक्रमण से जिले को बचाने के उपाय हों या फिर इस दौरान घरों में बंद लोगों तक उनकी आवश्यकताओं का सामान उपलब्ध करवाना, वे पूरी निष्ठा से इस कार्य में लगे हैं. उनका समय इस सब को लेकर तैयारी व व्यवस्था बनाने में ही पिछले चार माह से अधिक समय से लगा है. उन्हें इस जिले में योगदान किए लगभग छह माह ही हुआ है. लेकिन डीएम ने इस दौरान अपनी अलग पहचान लोगों के बीच बनाई है. साथ ही सुबह हो या फिर देर रात, एक छोटी सी कॉल पर भी उनका त्वरित रिस्पॉन्स रहता है. इन तैयारियों का ही परिणाम है कि सहरसा में अब तक स्थिति नियंत्रण में है. कुछ पॉजिटिव मामले सामने भी आए तो हिम्मत नहीं हारी, बल्कि स्थिति बेकाबू न हो इस के लिए दिन-रात एक कर दिया है.

email
TwitterFacebookemailemail

एनएमसीएच में दो और संक्रमितों की मौत

नालंदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल में गुरुवार की रात व शुक्रवार की सुबह दो और कोरोना संक्रमित मरीज की मौत हो गयी है. अधीक्षक डॉ विनोद कुमार सिंह ने बताया कि गुरुवार रात 27 जुलाई को भर्ती बिक्रमगंज रोहतास निवासी 30 वर्षीय युवक की मौत हो गयी है. मृतक यक्ष्मा, अस्थमा व हाइपर टेंशन पीड़ित मरीज था. वहीं, शुक्रवार को 21 जुलाई को भर्ती ढोली सकरा मुजफ्फरपुर निवासी 52 वर्षीया एक महिला की मौत हो गयी है. अधीक्षक ने बताया कि मृत महिला हृदय रोग पीड़ित थी. चिकित्सकों ने बताया कि अस्पताल की इमरजेंसी व आइसीयू में भर्ती किया गया था.

email
TwitterFacebookemailemail

पटना एम्स में शुक्रवार को 9 लोगों की मौत

पटना एम्स में शुक्रवार को 9 लोगों की मौत कोरोना से हो गयी. वहीं 38 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव निकली है. 24 मरीज कोरोना से स्वस्थ होकर एम्स से डिस्चार्ज होकर घर चले गये. इसके अलावा आइजीआइएमएस के हेमोटोलाजी विभाग के डॉ को भी कोरोना हुआ है, जिन्हें पटना एम्स में भर्ती कराया गया है. एम्स के कोरोना नोडल आॅफिसर डॉ संजीव कुमार ने बताया कि एम्स में भर्ती कोरोना से इलाजरत सीतामढ़ी निवासी 44 साल की महिला फुल कुमारी देवी, वैशाली के हाजीपुर निवासी 55 वर्षीय सतीश चंद्र भूषण, सारण की भगवान बाजार निवासी 65 वर्षीय अनुराधा, पटना के पादरी की हवेली निवासी 75 साल के हरीश कुमार तिवारी, बेगूसराय के विश्वनाथ नगर निवासी 80 वर्षीय कृष्णा सिंह, 58 वर्षीय छपरा के भगवान बाजार दौलत गंज निवासी विमल कुमार पांडेय, 80 वर्षीय यमुना सिंह, शेखपुरा शास्त्री नगर पटना निवासी, 82 वर्षीय महात्मा गांधी नगर कांटी फैक्टरी रोड पटना निवासी शशिकला सहाय, 52 वर्षीय प्रेम कुमार पासवान, राम जयपाल नगर बैंक कॉलोनी, दानापुर निवासी की मौत कोरोना से हो गयी.

email
TwitterFacebookemailemail

डुमरांव में 105 एक्टिव केस, एक साथ नौ पॉजिटिव मरीज मिलने से लालगंज कड़वी मुहल्ले के लोगों में बेचैनी

बक्सर: डुमरांव के स्थानीय शहर में शुक्रवार को लालगंज कड़वी मुहल्ले में एक साथ नौ पॉजिटिव मरीज मिलने से मुहल्ले के लोगों में बेचैनी बढ़ गयी है. इसके अलावे निमेज टोला मुहल्ले में भी एक पॉजिटिव मरीज के मिलने की पुष्टि हुई है. इस तरह कुल नौ संक्रमितों की संख्या में इजाफा हुआ है. विभागीय सूत्रों के अनुसार अब तक डुमरांव में 105 एक्टिव केस हैं. जबकि सभी के स्वास्थ्य में तेजी से सुधार हुआ है. विभागीय रिपोर्ट की मानें तो पॉजिटिव मरीजों में किशोर, युवा से लेकर बुजुर्ग तक शामिल हैं. मामले आने के बाद स्थानीय प्रशासन ने संक्रमित मोहल्ले को सील करने की कार्रवाई शुरू कर दी है. स्वास्थ्य विभाग की टीम अन्य सदस्यों की भी जांच करने में जुटी है. नगर पर्षद प्रशासन द्वारा पूरे मोहल्ले को सैनिटाइज कराया जा रहा है. संक्रमित इलाके के दायरे में आने वाले सभी घरों व मोहल्ले को नप की टीम ने सैनिटाइज किया. साथ ही विभागीय टीम के साथ अनुमंडल प्रशासन भी पूरी तरह से अलर्ट है. इस इलाके में पुलिस-प्रशासन की तैनाती की गयी है. एसडीओ हरेंद्र राम ने बताया कि संक्रमित इलाके में प्रशासन की चौकसी बढ़ा दी गयी है. एहतियात के तौर पर लोगों को घरों में ही रहने का निर्देश दिया गया है. साथ ही मास्क और दो गज की दूरी का पालन करने की अपील की गयी है. प्रशासन ने संक्रमित इलाके के दायरे में आने वाले चौहदी को सील कर दिया है और आने-जाने वाले लोगों पर रोक लगायी गयी है. एहतियात के तौर पर इसे कंटेनमेंट जोन घोषित कर पुलिस बल की व्यवस्था की गयी है. नप के उपसहायक बजेंद्र राय ने बताया कि प्रशासन के निर्देश पर कंटेनमेंट जोन के एरिया में पड़ने वाले सभी घरों और पॉजिटिव मरीजों के घर को भी सैनिटाइज करने की कार्रवाई शुरू कर दी गयी है.

email
TwitterFacebookemailemail

छपरा सदर अस्पताल में 24 घंटे नियंत्रण कक्ष संचालित करने के लिए पदाधिकारी तैनात

छपरा: राज्य स्वास्थ्य समिति के निर्देश के आलोक में डीएम सुब्रत कुमार सेन ने कोविड-19 को लेकर आमजन की समस्याओं के समाधान, चिकित्सीय परामर्श, कोविड-19 की जांच एवं उपचार से संबंधित सूचना एवं अन्य समस्याओं के निराकरण के लिए जिला स्तर पर एक नियंत्रण कक्ष की स्थापना की है, जो जिला स्वास्थ्य समिति कार्यालय में कार्यरत होगा. इस नियंत्रण कक्ष का टॉल फ्री नंबर 18003456607 रहेगा. इसके अलावे नियंत्रण कक्ष के वरीय प्रभारी जिला पंचायत राज पदाधिकारी राजीव रंजन सिन्हा को बनाया गया है. साथ ही तीन शिफ्टों में मजिस्ट्रेट, चिकित्सक तथा कंम्प्यूटर ऑपरेटर की तैनाती की है. डीएम द्वारा जारी आदेश के अनुसार सुबह छह बजे से दोपहर दो बजे तक प्रशासनिक पदाधिकारी के रूप में वरीय उप समाहर्ता उपेंद्र ठाकुर, चिकित्सक के रूप में डॉ त्रिलोकी शर्मा, डॉ प्रतिमा गुप्ता के अलावे दो कंम्प्यूटर ऑपरेटर तैनात रहेंगे. वहीं दिन के दोपहर से रात्रि के 10 बजे तक वरीय उप समाहर्ता कमलाकांत द्विवेदी, चिकित्सक के रूप में डॉ संतोष कुमार, डॉ रवींद्र प्रसाद के अलावे दो कंप्यूटर ऑपरेटर तैनात किये गये हैं. वहीं रात के 10 बजे से सुबह 6 बजे की पाली में जिला योजना पदाधिकारी विधानचंद राय तथा चिकित्सक के रूप में डॉ प्रमोद कुमार के अलावे दो कंप्यूटर ऑपरेटर की तैनाती की गयी है. डीएम ने सिविल सर्जन को आदेश दिया है कि जिले में कोविड-19 की स्थिति का आकलन कर पर्याप्त संख्या में एंबुलेंस एवं प्रतिरक्षक सामग्री पीपीइ किट तथा अन्य उपकरण की व्यवस्था जिला नियंत्रण कक्ष में करना सुनिश्चित करें

email
TwitterFacebookemailemail

हाजीपुर में 123 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव

हाजीपुर. जिले में कोविड 19 का कहर लगातार जारी है. सरकार व प्रशासन की तमाम कवायदों के बावजूद रोजाना जिले में कोरोना विस्फोट हो रहा है. शुक्रवार को एक बार फिर जिले में 123 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है. स्वास्थ्य विभाग के अनुसार शुक्रवार की शाम तक जिले में कोरोना पॉजिटिव केस की संख्या 1301 पर पहुंच गयी. हालांकि इनमें से 765 मरीज इलाज के दौरान पूरी तरह से ठीक होकर घर लौट चुके हैं. वहीं 528 मरीज होम आइसोलेशन व आइसोलेशन सेंटर में इलाजरत हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

बेगूसराय के बलिया में फिर मिले चार संक्रमित

बेगूसराय: पीएचसी बलिया में एंटीजन किट से 46 लोगों की जांच की गयी, जिसमें चार व्यक्ति पॉजिटिव पाये गये. संक्रमित व्यक्ति में हुसैना दियारा का एक युवक, स्टेशन रोड का दो एवं खगड़िया जिले का एक व्यक्ति शामिल है. सभी पॉजिटिव मरीजों को होम कोरेंटिन में रहने की सलाह दी गयी है. पीएचसी के आइसोलेशन वार्ड में 8 मरीजों का इलाज किया जा रहा है.

email
TwitterFacebookemailemail

पीड़ित पुलिसकर्मियों की जान बचाने के लिए प्लाज्मा डोनेशन की मुहिम शुरू

पटना : राज्य के पुलिस कर्मियों में तेजी से बढ़ते कोविड-19 के संक्रमण को देखते हुए इनके इलाज के लिए एक नयी व्यवस्था की गयी है. पुलिस महकमा पीड़ित पुलिसकर्मियों की जान बचाने के लिए प्लाज्मा डोनेशन की मुहिम शुरू करने जा रही है. यह पहल पीड़ितों की जान बचाने में बड़ी भूमिका निभायेगी. इसके तहत कोविड-19 से ठीक हुए पुलिसकर्मी गंभीर मरीजों या अन्य पुलिसकर्मियों को प्लाज्मा डोनेट करेंगे.

email
TwitterFacebookemailemail

शुक्रवार को राज्य में मिले कोरोना पॉजिटिव के जिलेवार आंकड़े

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार पटना जिले में सबसे अधिक 535 नये केस मिले हैं. इसके अलावा रोहतास में 156, नालंदा में 146, गया में 126, मुजफ्फरपुर में 125, वैशाली में 123, मधुबनी में 122, सारण में 85, भोजपुर में 82, सुपौल व बक्सर में 80-80, पूर्णिया में 73, बेगूसराय में 71, अररिया में 67, सीवान में 64, भागलपुर में 63, किशनगंज में 61, कटिहार, पश्चिम चंपारण में 59-59, गोपालगंज में 58, खगड़िया में 58, औरंगाबाद व दरभंगा में 57-57,सहरसा में 54, जमुई में 50, समस्तीपुर में 49, बांका में 47,मधेपुरा में 45, नवादा में 43, सीतामढ़ी में 42, अरवल में 37, पूर्वी चंपारण व मुंगेर 36-36, जहानाबाद शेखपुरा में 34-34, कैमूर में 30, लखीसराय में 28 और शिवहर में 14 नये संक्रमित पाये गये हैं.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें