1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. buxar
  5. ganga water level rises by 21 cm in 24 hours ban on private boats operating in buxar bihar asj

24 घंटे में 21 सेमी बढ़ा गंगा का जल स्तर,बक्सर में निजी नावों के परिचालन पर रोक

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
गंगा
गंगा
प्रभात खबर

बक्सर : बक्सर जिले में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है. गंगा के जलस्तर में लगातार वृद्धि जारी है. एक सेंटीमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गंगा का जलस्तर बढ़ रहा है. जिस कारण बक्सर में गंगा अब महज चेतावनी बिंदु से .94 मीटर दूर है. यदि गंगा का बढ़ने का रफ्तार जारी रहा तो सोमवार को गंगा चेतावनी बिंदु 59.32 मीटर को पार कर जायेगी.जबकि डेंजर लेबल 60. 320 मीटर है. रविवार को सायं तीन बजे तक गंगा का जल स्तर 58.38 मीटर दर्ज किया गया. जबकि शनिवार को गंगा का जल स्तर सायं तीन बजे तक 58.17 मीटर था. पिछले 24 घंटे में गंगा के जलस्तर में 21 सेंटीमीटर की वृद्धि दर्ज की गयी है. बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल बक्सर के कार्यपालक अभियंता एजाज कलीम ने बताया कि रविवार को अपराह्न में तीन घंटे तक गंगा का जल स्तर स्थिर रहा. मगर सायं तीन बजे के बाद गंगा के जल स्तर में दो घंटे में एक सेंटीमीटर की वृद्धि दर्ज की गयी. गंगा में पानी बढ़ने के कारण शहर के रामरेखा घाट, नाथ बाबा मंदिर, जहाज घाट, सोमेश्वरनाथ घाट, सिद्धनाथ घाट की सभी सीढ़ियां पानी में डूब गयी है. गंगा उफान पर हैं. जिस कारण तटवर्ती इलाकों के लोगों में भय व्याप्त हो गया है. वहीं बक्सर कोइलवर तटबंध पर मकान बनाकर रह रहे लोग अब सुरक्षित स्थान की ओर रूख कर चुके हैं. वहीं दूसरी तरफ रविवार को भी गंगा के बढ़ते जल स्तर का केंद्रीय जल आयोग के अध्यक्ष चंद्रकांत लाल बाज ने जायजा लिया. इस दौरान डायरेक्टर अशोक कुमार, बाढ़ नियंत्रण अंचल बक्सर के अधीक्षण अभियंता संजय कुमार श्रीवास्तव भी उपस्थित रहे. केंद्रीय जल आयोग के अध्यक्ष ने अपने विभागीय अधिकारियों के साथ अचरज राय के टोला तटबंध का निरीक्षण किया. इस दौरान संबंधित पदाधिकारियों को कई दिशा निर्देश जारी की गयी. बक्सर में गंगा के बढ़ते जल स्तर का जायजा लेने पहुंचे केंद्रीय जल आयोग के अध्यक्ष चंद्रकांत लाल बाज ने कहा कि बक्सर कोइलवर तटबंध पर जगह-जगह बालू से भरे बोरे का स्टॉक किया गया है. उन्होंने कहा कि तटबंध की सुरक्षा को लेकर सुरक्षा गार्ड भी प्रतिनियुक्त किये गए हैं. वहीं दूसरी ओर बाढ़ के मद्देनजर जिला प्रशासन भी अलर्ट मोड में है. निजी नावों के परिचालन पर रोक लगा दी गयी है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें