1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. bhagalpur
  5. relationship tarnished father killed son along with daughter in law asj

रिश्ता कलंकित : बाप ने बहू के साथ मिल कर बेटे को मार डाला

घोघा थाना क्षेत्र के अठगामा गांव में रिश्ते को कलंकित करते हुए एक बाप ने बहू के साथ मिल कर अपने ही बेटे की गला दबा कर हत्या कर दी. मृतक लालचंद मंडल की बहन फूगो देवी ने थाने में आवेदन देकर भाभी लालमुनि देवी व पिता जनार्दन मंडल को अपने भाई की हत्या का आरोपित बनाया है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
अपराध
अपराध
फाइल

कहलगांव. घोघा थाना क्षेत्र के अठगामा गांव में रिश्ते को कलंकित करते हुए एक बाप ने बहू के साथ मिल कर अपने ही बेटे की गला दबा कर हत्या कर दी. मृतक लालचंद मंडल की बहन फूगो देवी ने थाने में आवेदन देकर भाभी लालमुनि देवी व पिता जनार्दन मंडल को अपने भाई की हत्या का आरोपित बनाया है.

उसने कहा है कि उसके पिता जनार्दन मंडल का भाभी लालमुनि देवी से नाजायज संबंध था, जिसका भाई लालचंद मंडल विरोध करता था. इधर, पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद स्पष्ट रूप से कुछ कहा जा सकता है.

आवेदन के अनुसार अठगामा से शनिवार की देर शाम फूगो देवी को ससुराल में फोन से किसी ने सूचना दी कि भाई की मौत हो गयी है. वह भागे-भागे मायके पहुंची, तो आंगन में भाई का शव पड़ा था. वहां मौजूद उसकी उसकी पत्नी लालमुनि देवी व पिता जनार्दन मंडल से मौत का कारण पूछने पर दोनों अपशब्द बोलते हुए वहां से भाग निकले.

मृतक की बहन और ग्रामीणों ने बताया कि पूरा गांव दोनों के नाजायज संबंध से वाकिफ है. लालचंद पत्नी व पिता के अवैध संबंध के कारण अवसाद में रहने लगा था. उसने शनिवार को पिता व पत्नी को रंगरेलियां मनाते देखा, तो जोर-जोर से हल्ला करने लगा. उसकी आवाज पड़ोस के लोगों ने भी सुनी थी. तब पिता व पत्नी ने गला दबा कर उसकी हत्या कर दी और उसकी आवाज सदा के लिए बंद कर दी.

पूर्व में भी हत्या की आरोपित रही है लालमुनि देवी

लालमुनि देवी पूर्व में भी हत्या की आरोपित रही है. वह तीन साल पहले पति लालचंद मंडल को छोड़ कर पीरपैंती के एक युवक के साथ भाग गयी थी और उससे शादी कर गोराडीह में रहने लगी थी. नये पति के साथ छह माह रहने के बाद इस पर गोराडीह के कदवा मोहनपुर के एक युवक की हत्या का आरोप लगा था, जिसमें इसे जेल जाना पड़ा था.

इस बीच सास की मौत हो गयी, तो ससुर जर्नादन मंडल ने अपने स्वार्थ से लालमुनि का बेल करा जेल से निकाला. इसके बाद दोनों घोघा स्थित घर पर ही रहने लगे. ससुर-बहू के नाजायज संबंध की चर्चा गांव में हर किसी की जुबान पर है.

Posted by Ashish Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें