1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. bhagalpur
  5. bhagalpur municipal corporation five accused personnel suspended in trade license scam case departmental action started rdy

भागलपुर नगर निगम में ट्रेड लाइसेंस घोटाला मामले में पांच आरोपित कर्मी निलंबित, शुरू हुई विभागीय कार्रवाई

निलंबन अवधि में सबका मुख्यालय भागलपुर नगर निगम को बनाया गया है. इनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई एक साथ और तत्काल चलाने को नगर पबंधक को कहा गया है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
नगर निगम भागलपुर
नगर निगम भागलपुर
social media

भागलपुर नगर निगम में ट्रेड लाइसेस घोटाले में आरोप पत्यारोप के लंबे दौर के बाद निगम ने रविवार को बंदी के दिन आनन फानन में निणर्य लेते हुए पांच आरोपित कर्मियों को निलंबित कर दिया. इसके साथ ही उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई के लिए नगर प्रबंधक रविश चंद वर्मा व सहायक मो शब्बीर अहमद को नामित किया गया है. रविवार को जारी पत्र में पेशाकर निरीक्षक आदित्य जायसवाल, वारंट निरीक्षक सुनील हरि, सहायक सौरभ सुमन व सहायक निरंजन मिश्रा को निलंबित कर दिया गया है. सनद रहे कि प्रधान टंकक सह ट्रेड लाइसेंस शाखा की तत्कालीन प्रभारी दिव्या स्मति को पहले ही निलंबित कर दिया गया है.

निलंबन अवधि में सबका मुख्यालय भागलपुर नगर निगम को बनाया गया है. इनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई एक साथ और तत्काल चलाने को नगर पबंधक को कहा गया है. इस मामले में नगर आयुक प्रफुल्लचंद यादव ने कहा कि इसमे दोषियों को नहीं छोड़ा जायेगा. नियमसंगत कार्रवाई हो रही है. वही दूसरी ओर डिप्टी मेयर राजेश वर्मा ने कहा कि देर आये दुरुस्त आये, पर बेहतर होता कि यह निणर्य पहले लिया जाता.

क्य था मामला

निगम से जारी ट्रेड लाइसेस फर्जी होने की शिकायत मिलने पर जांच शुरू हुई तो पता चला कि निगम के कर्मियों ने मिल कर फर्जी लाइसेस जारी कर पैसे का गबन कर लिया है. इसके बाद उन पर कार्रवाई के नाम पर फाइल दबाने का खेल शुरू हुआ. डिप्टी मेयर राजेश वर्मा द्वारा मामला उठाने और इसकी सूचना नगर विकास मंत्री को देने के बाद रविवार को कार्यालय बंद होने के बाद भी ज्ञापांक 41/भाननि, दिनांक नौ जनवरी 2022 से इन पांचों पर कार्रवाई की चिट्ठी निकाली गयी.

बोले डिप्टी मेयर

डिप्टी मेयर राजेश वर्मा ने कहा कि अंततः ट्रेड लाइसेस घोटाले में दोषी पाये गये नगर निगम के पांचों कर्मचारियों को निलंबित किया गया. जल्द ही कानूनी कार्रवाई भी शुरू होगी, पर इस निर्णय पर पहुंचने में इतना समय नहीं लगना चाहिए था. यह आमजनों के सम्मान की लड़ाई थी, जिसमे अंततः आमजन की ही जीत हुई है. नगर निगम प्रशासन को साधुवाद कि वे देर से ही सही, लेकिन इस निर्णय पर पहुंचे. इधर, नगर आयुक्त प्रफुल्ल चंद यादव ने कहा कि ट्रेड लाइसेस अनियमितता मामले में निलंबन की कार्रवाई की गयी है. इसके साथ ही विभागीय कार्रवाई के लिए नगर प्रबंधक को निर्देश दिया गया है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें