अकबरनगर दियारा में अपराधियों ने युवक को गोलियों से भून डाला

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

अकबरनगर : अकबरनगर थाना क्षेत्र के दियारा में शुक्रवार की सुबह करीब 8:30 बजे अपराधियों ने बांका जिले के अमरपुर थाना क्षेत्र के भदोरिया निवासी मुकेश कुमार यादव (30) को गोलियों से भून डाला. युवक को तीन गोलियां मारी गयीं. घटना को अंजाम देने के बाद अपराधियों ने तीन गोलियां हवा में भी फायर की. इसके बाद सभी फरार हो गये. अपराधी छह की संख्या में थे. मुकेश अकबरनगर के श्रीरामपुर गांव में अपने बहनोई अंजनी यादव के यहां रहकर बटाई पर खेती करता था.

घटना की सूचना मिलते ही अकबरनगर के थानाध्यक्ष विकास कुमार सिंह व अंचल इंस्पेक्टर विपिन कुमार राम पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और छानबीन शुरू की. घटनास्थल से तीन खोखा बरामद हुए. घटना के बारे में पता चलते ही परिजन, ग्रामीण व आसपास के लोग मौके पर पहुंचे. घटना से दियारे में किसान भयभीत हैं. मृतक के पिता प्रकाश यादव ने विधि व्यवस्था डीएसपी को बताया कि शुक्रवार की सुबह सुबह करीब सात बजे मुकेश अपने बहनोई के भाई ब्रजेश के साथ घर से निकला था. घटना के बारे मे ब्रजेश ने पुलिस को बताया कि हम दोनों खाद का बोरा लेकर खेत पर पहुंचे थे.

एक खेत में खाद छींटने के बाद दूसरे खेत में देने जा रहे थे. इसी बीच उत्तर की ओर से आधा दर्जन हथियार से लैस अपराधी पहुंचे. आते ही वे गोलियां चलाने लगे. मुकेश को तीन गोलियां लगीं, जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गयी. ब्रजेश ने बताया कि वह जान बचाने के लिए भागा, तो अपराधियों ने उसे भी खदेड़‍ कर गोली मारने का प्रयास किया, लेकिन वह गेंहू की फसल में छुप गया, जिससे उसकी जान बच गयी. ब्रजेश ने बताया कि वह चार अपराधियों को पहचानता है.

घर में मचा कोहराम : मुकेश कुछ दिन पूर्व ही बहनोई के घर आया था. उसकी मौत की खबर सुनते ही घर में कोहराम मच गया. पत्नी, बच्चे व अन्य परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था. थाना चौक पर जब शव लाया गया, तो लोगों की भीड़ लग गयी, जिससे जाम की स्थिति उत्पन्न हो गयी. विधि-व्यवस्था डीएसपी राजेश सिंह प्रभाकर ने घटना स्थल पर पहुंच कर छानबीन किया.
कहते हैं पुलिस पदाधिकारी
पुलिस पदाधिकारी ने बताया कि घटना का कारण जमीन विवाद है. ब्रजेश यादव के बयान पर दो नामजद व चार अज्ञात के खिलाफ थाने में प्राथमिकी दर्ज की गयी है. हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए जगह-जगह छापेमारी की जा रही है. जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर ली जायेगी.
छह अपराधियों ने दिया घटना को अंजाम
घटनास्थल से तीन खोखा बरामद
अमरपुर (बांका) के भदोरिया का था मृतक
खेत में खाद देने गया था मुकेश यादव
अकबरनगर के श्रीरामपुर गांव में बहनोई के घर रह कर बटाई पर करता था खेती
चानो यादव हत्याकांड के प्रतिशोध में दिया घटना को अंजाम!
मुकेश यादव की हत्या चानो यादव की हत्या का प्रतिशोध माना जा रहा है. क्षेत्र में चर्चा है कि अपराधी मुकेश के बहनोई के भाई ब्रजेश की हत्या करने के इरादे से आये थे. ब्रजेश के जेल जाने के बाद यहां खेती-बारी का काम मुकेश यादव ही करता था. सुबह ब्रजेश व मुकेश खाद लेकर दियारा पहुंचे थे. अपराधियों ने उन्हें घेर कर गोलियां चलायीं. अपराधी दोनों की हत्या करना चाहते थे, लेकिन ब्रजेश किसी तरह जान बचाने में सफल रहा. इस घटना से एक बार फिर दियारा में खूनी संघर्ष छिड़ने की आशंका है. इससे किसान दहशत में हैं.
जेल से छुटे ब्रजेश की हत्या करने की थी योजना . अकबरनगर दियारा में बंटाई पर खेती के लिए खूनी संघर्ष चल रहा है. ऐसे मामले में अबतक कई किसानों की लाशें गिर चुकी हैं. शुक्रवार को दियारा में मुकेश यादव की हत्या के पीछे भी बटाईदार की खेती ही कारण बनी. पिछले साल फुलवरिया निवासी चानो यादव की हत्या का कारण भी बटाईदार खेती का था.
चानो यादव व श्रीरामपुर निवासी छारीलाल यादव के बीच कई वर्षों से जमीनी विवाद चल रहा था. चानो यादव की हत्या में मुकेश के बहनोई का भाई ब्रजेश कुमार भी आरोपित था, जिसमें उसे जेल जाना पड़ा था. एक माह पहले ही ब्रजेश जमानत पर बाहर आया है.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें