1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. aurangabad
  5. gaya mobile checker shot dead in aurangabad family and villagers created ruckus rdy

औरंगाबाद में गया के मोबाइल चेकर की गोली मारकर हत्या, परिजन और ग्रामीणों ने किया हंगामा

औरंगाबाद में गया के मोबाइल चेकर की गोली मारकर अपराधियों ने हत्या कर दी है. हत्या के बाद आक्रोशित परिजन और ग्रामीणों ने जमकर हंगाम किया. सूचना पर पहुंची पुलिस को ग्रामीणों ने शव उठाने रोक दिया. इस दौरान पुलिस और ग्रामीणों के बीच हल्की झड़प भी हुई

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
घटनास्थल पर जुटी ग्रामीणों की भीड़
घटनास्थल पर जुटी ग्रामीणों की भीड़
प्रभात खबर

औरंगाबाद के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के यारी गांव के पास स्कार्पियो सवार अपराधियों ने मोबाइल कंपनी में काम करने वाले गया के कोच निवासी प्रवीण कुमार की गोली मारकर हत्या कर दी. घटना रविवार की अहले सुबह यारी -देव रोड में घटी है. घटना के बाद सूचना पर पहुंचे परिजनों के साथ स्थानीय ग्रामीणों ने घटनास्थल पर जमकर हंगामा किया. सूचना पर गयी पुलिस को ग्रामीणों ने शव उठाने रोक दिया. पुलिस- पब्लिक के बीच हल्की झड़प भी हुई. घटना की सूचना पर एसडीपीओ गौतम शरण ओमी मुफस्सिल थानाध्यक्ष राजेश कुमार देव थानाध्यक्ष मनोज कुमार पांडे दल बल के साथ पहुंचे और ग्रामीणों को समझा-बुझाकर शांत कराया.

जांच में जुटी पुलिस

मिली जानकारी के अनुसार प्रवीण कुमार अपने साथ काम करने वाले देव प्रखंड के भंडारी गांव निवासी उपेंद्र यादव के साथ शेरघाटी से एक पोकलेन को तेल देने के लिए यारी रोड में गए हुए थे. अहले सुबह 4 बजे के करीब स्कॉर्पियो सवार अपराधी पहुंचे और पहले बाइक सवार प्रवीण और उपेंद्र को धक्का मारकर गिरा दिया. इसके बाद अपराधियों ने गोली मारकर प्रवीण की हत्या कर दी. इधर जानकारी मिली कि प्रवीण के साथ रहे उपेंद्र को पुलिस ने पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है. एसडीपीओ ने बताया कि घटना की छानबीन की जा रही है.

किशोर की हत्या मामले में मुख्य आरोपित तीसरे दिन गया जेल

नाथनगर के बुद्धूचक लालुचक के किशोर जितेंद्र कुमार (17) की लाश मिलने पर पिता ने सुनील मंडल पर बेटे की हत्या का आरोप लगाया था. पुलिस ने हिरासत में ले लिया था. दो दिनों तक उससे कड़ी पूछताछ कर उसे जेल भेजा गया. नियमानुसार थाने में आरोपित को पूछताछ के लिए 24 घंटे ही रखने का अधिकार है. पुलिस ने चार अन्य संदिग्ध को भी हिरासत में लेकर कड़ी पूछताछ की, लेकिन कुछ खास जानकारी नहीं मिलने पर उन्हें पीआर बांड पर छोड़ दिया. 20 अप्रैल की सुबह जितेंद्र की लाश बुद्धूचक दियारा के जमुनिया नदी किनारे जमीन में दफनाया मिली थी. बदमाशों ने उसके दोनों हाथ काटकर व गला रेत निर्मम हत्या कर दी थी.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें