1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. araria
  5. bihar news clash broken in araria after custodial suicide choas and outrage in hospital dsp and several policemen injured upl

Bihar News: हाजत में युवक की मौत के बाद भारी बवाल, अस्पताल में तोड़फोड़, DSP सहित कई पुलिसकर्मी चोटिल

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
 सदर अस्पताल में घंटों उपद्रव होता रहा.
सदर अस्पताल में घंटों उपद्रव होता रहा.
prabhat khabar

Bihar News: अररिया जिले (Araria) के बौंसी थाना की हाजत में हिरासत में लिये गये एक युवक की मौत हो गयी. मौत की सूचना मिलते ही परिजन व अन्य लोग आक्रोशित हो गये. सदर अस्पताल में घंटों उपद्रव होता रहा. पुलिस युवक को चिलरी देवी हत्याकांड का आरोपित बता उसके द्वारा हाजत में ही आत्महत्या करने की बात कह रही थी. वहीं परिजन निर्दोष बता पुलिस पर हत्या को आत्महत्या में बदलने का आरोप लगा हंगामा कर रहे थे.

हंगामा का दौर पूरे दिन चलता रहा. उपद्रव को रोकने गये टाउन डीएसपी श्रीकांत सिंह व पुलिस बल गौतम कुमार को आक्रोशितों का कोपभाजन बनना पड़ा. लोगों ने सदर अस्पताल के मुख्य सड़क पर आगजनी कर रोड जाम कर दिया. डीएम प्रशांत कुमार सीएच, एसपी हृदयकांत, एसडीओ शैलेश चंद्र दिवाकर व अन्य सैकड़ों पुलिस बल मौके पर पहुंचे व आक्रोशित लोगों को समझाने में लग गये.

सदर अस्पताल छावनी में तब्दील हो गया. डीएम व एसपी को आक्रोशितों को शांत कराने के लिए कैंप करना पड़ा. हालांकि देर शाम प्रशासनिक पदाधिकारियों व बुद्धिजीवियों की पहल के बाद मामले को शांत करा पुलिस अभिरक्षा में शव का मेडिकल बोर्ड का गठन कर पोस्टमार्टम करने के बाद परिजनों के साथ बौंसी के लिए रवाना कर दिया गया.

चिलरी देवी हत्याकांड में किया गया था गिरफ्तार

बौंसी थाना क्षेत्र के मसेली गांव निवासी मो लइक के पुत्र मो इमरान(35) को बौंसी थानाध्यक्ष परितोष दास ने शनिवार की रात हिरासत में लेकर हाजत में रखा था. उसे हाल ही में हुए चिलरी देवी हत्या मामले में गिरफ्तार किया गया था. हाजत में उसकी मौत हो गयी. पुलिस मो इमरान की मौत को आत्महत्या बता रही है. थानाध्यक्ष ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल लाया. मृतक के परिजन भी सदर अस्पताल पहुंचे. कुछ देर के बाद पुलिस पर हत्या का आरोप लगाकर हंगामा शुरू हो गया.

गुस्से में आकर लोगों ने सदर अस्पताल में तोड़फोड़ की. इस दौरान मामले को शांत करने डीएसपी पहुंचे. उनको भी लोगों का कोपभाजन बनना पड़ा. सूचना पर सैकड़ों पुलिस सदर अस्पताल पहुंची. डीएम, एसपी व अन्य पुलिस पदाधिकारी के द्वारा आक्रोशितों को न्याय देने की बात कहने के बाद मामला शांत हुआ. मेडिकल बोर्ड गठित कर शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया गया. इस दौरान देर शाम तक सदर अस्पताल में मृतक के सैकड़ों परिजन व पुलिस बल मौजूद रहे.

डीएम और एसपी का बयान

अररिया एसपी हृदयकांत ने बताया कि महिला की हत्या मामले को लेकर केस दर्ज किया गया था. संदेह के आधार पर युवक को हिरासत में लिया गया था. उसके पास से महिला का मोबाइल व अन्य सामग्री बरामद हुआ था. सुबह में हाजत में युवक का शव लटका हुआ पाया गया. हाजत में मौत के बाद राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग का जो भी गाइडलाइन है उसका पालन किया जा रहा है.

मौत के कारणों की जांच थाना हाजत में लगे सीसीटीवी कैमरे को देखने के बाद किया जायेगा.अररिया डीएम प्रशांत कुमार ने कहा कि हाजत में आखिर किस परिस्थिति में युवक की मौत हुई है, इस मामले की जांच की जायेगी. मृतक के परिजनों को सरकारी लाभ उपलब्ध कराया जायेगा.

Posted By: Utpal Kant

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें