बिहार : कोचिंग जा रहे एक छात्र व दो छात्राओं का अपहरण

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
दो छात्राएं गाड़ी से कूद कर पहुंचीं घर
गया : चंदौती थाने के चुरी गांव से कोचिंग के लिए निकले पांच छात्र-छात्राओं में तीन के अपहरण का मामला प्रकाश में आया है. दो छात्राओं ने गाड़ी से कूद कर अपहर्ताआें के चंगुल से मुक्ति पायी.
गुरुवार सुबह छह बजे पांच छात्र-छात्राएं कोचिंग सेंटर में पढ़ने के लिए निकले थे. गांव के बाहर सड़क पर खड़े छात्र-छात्राओं को प्राणपुर इलाके से आ रही काले रंग की एक स्कॉर्पियो में सवार लोगों ने उन्हें गंतव्य तक छोड़ देने की बात कह वाहन में बैठा लिया. दो छात्राएं गया के किसी मुहल्ले में गाड़ी रुकने पर कूद कर भाग गयीं, लेकिन अब तक एक छात्र व दो छात्राओं का कोई पता नहीं चल सका है.
थानाध्यक्ष चंद्रभानू ने बताया कि परिजनों के बयान पर अपहरण का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. घर पहुंचीं दोनों छात्राओं से पूछताछ कर अपराधियों तक पहुंचने का प्रयास किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि दोनों लड़कियों के बयान में भी समानता नहीं है. उन्होंने कहा कि मामला पूरी तौर से संदेहास्पद प्रतीत होता है. सूत्र बताते हैं कि पटना में छात्र-छात्राओं के होने का ट्रेस पुलिस को मिल गया है. इस मामले में पुलिस अब तक किसी तरह का खुलासा करने में बच रही है.
एक ही विद्यालय के हैं पांचों छात्र
छात्र-छात्राएं चुरी हाई स्कूल में एक ही क्लास में पढ़तेहैं. जानकारी के अनुसार सभी छात्र-छात्राएं सुबह कोचिंग के लिए जमुने में जाती हैं. इसमें एक घर पहुंची व दूसरी गायब छात्रा दोनों जुड़वां बहनें हैं.
गांव के ही एक सहपाठी ने बताया कि दो दिन पहले ही कोचिंग में टेस्ट हुआ था. इस क्रम में ऐसी कोई भी बात नहीं हुई थी कि जिसमें किसी पर शक किया जाये. कोचिंग में पढ़नेवाले सभी छात्र-छात्राओं का मोबाइल नंबर एक-दूसरे के पास रहता है. सहपाठी ने बताया कि अब तक गायब राकेश का भी किसी तरह से गलत संगत नहीं था.
पुलिस को मिला राकेश की कॉपी से कुछ सुराग
घटना की जांच करने चुरी गांव पहुंची चंदौती पुलिस को कुछ सुराग राकेश के घर पर मौजूद उसके कॉपी से मिले हैं. यहां कॉपी पर कुछ शेरो-शायरी लिखी हुई थी. इस पर पुलिस को कुछ अलग मामला भी प्रतीत हो रहा है. गांव पहुंचीं दोनों छात्राएं भी बार-बार अपना बयान भी बदल रहीं थीं. इससे यह प्रतीत होने लगा था कि मामला अपहरण का न होकर कुछ और ही है.
यह कहानी बतायीं घर पहुंचीं दोनों छात्राएं घर पहुंचीं दोनों छात्राओं ने बताया कि वाहन में ड्राइवर के अलावे एक और व्यक्ति था. दो छात्राएं व एक छात्र बीचवाली सीट पर व दो छात्राएं पीछेवाली सीट पर बैठ गयीं.
गाड़ी जमुने के पास न रुक कर गया की ओर मुड़ गयी. गया पहुंचने पर बीच वाली सीट पर बैठे सहपाठी को स्प्रे मार कर बेहोश कर दिया गया. पीछे स्प्रे मारने के लिए पहुंचने से पहले ही हमलोग गाड़ी से कूद कर भाग गये. दोनों ने बताया कि गया का कौन सा मुहल्ला था कुछ पता नहीं है. वहां से पूछते-पूछते रेलवे लाइन पार होकर डेल्हा में ऑटो पकड़ कर घर पहुंची.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें