हॉस्पिटल में मरीज की मौत के बाद हंगामा, तोड़फोड़

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
पटना : शूगर की मरीज 40 वर्षीय नसीमा खातून की मंगलवार की शाम इलाज के दौरान मौत हो गयी. इसके बाद आक्रोशित लोगों ने एसकेपुरी में मौजूद हॉस्पिटल में हंगामा व तोड़फोड़ किया.
इस दौरान हॉस्पिटल के मेडिकल स्टोर, बाहर खड़ी अस्पताल के डायरेक्टर राजकुमार की कार को क्षतिग्रस्त कर दिया. हंगामा बढ़ते देख हाॅस्पिटल प्रबंधन ने एसकेपुरी थाने को सूचना दी. इसके बाद एसकेपुरी, सचिवालय, बुद्धा कॉलोनी थाने की पुलिस मौके पर पहुंची. पुलिस ने मामला शांत कराने के लिये हल्का बल प्रयोग भी किया. मृतक के परिजन देर रात तक अस्पताल के बाहर डटे रहे. पुलिस को आवेदन दिया कि डॉक्टर की लापरवाही से मरीज की मौत हुई है. तीन लाख रुपये अस्पताल ने लिया और 10 लाख रुपये की डिमांड कर रहा था. वहीं, श्रीराम हॉस्पिटल के डायरेक्टर राजकुमार ने बताया कि इलाज में करीब 15 हजार रुपये ही लिया गया है. फिलहाल देर रात तक हंगामा चला.
पहले घरवालों ने डॉक्टर और गार्ड को गिरफ्तार करने की मांग की. बाद में दोनों पक्षों में समझौता हो गया. अस्पताल की ओर से शव परिजनों को सौंप दिया गया.
दरअसल फुलवारीशरीफ के नया टोला की रहनेवाली नसीमा खातून को शूगर था. पिछले कई दिनों से खगौल के एक हॉस्पिटल में उसका इलाज चल रहा था. इसके बाद रविवार की रात दो बजे के करीब उसके परिजनों ने नसीमा को एसकेपुरी इलाके में मौजूद श्रीराम हॉस्पिटल में भरती कराया.
यहां आइसीयू में उसे रखा गया. इलाज के दौरान उसके हालत में सुधार हो गया. मंगलवार की शाम पांच बजे हॉस्पिटल की ओर से बताया गया कि हालत ठीक है. लेकिन, सात बजे के करीब अचानक मरीज की मौत हो गयी. हाॅस्पिटल के डायरेक्टर का कहना है कि ब्लड में संक्रमण हो गया था. हार्ट अटैक से मरीज की मौत हो गयी है. फिलहाल मृतका के परिजनाें की ओर से केस दर्ज नहीं कराने से मामला शांत हाे गया.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें