1. home Hindi News
  2. state
  3. Chhattisgarh
  4. chhattisgarh child fell in 60 feet deep borewell rescue operation continues for 45 hours pyu

Chhattisgarh: 60 फुट गहरे बोरवेल में गिरा बच्चा, 45 घंटे से रेस्क्यू ऑपरेशन जारी, ली जा रही रोबोट की मदद

छत्तीसगढ़ के जांजगीर चंपा जिले में 11 वर्षीय लड़के के गहरे बोरवेल में गिरने के 45 घंटे से अधिक समय बाद रविवार को भी बचावकर्मी उसे बचाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं. बचाव दल में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) और सेना के अधिकारियों सहित 500 से अधिक कर्मी शामिल हैं.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
गहरे बोरवेल में गिरा बच्चा
गहरे बोरवेल में गिरा बच्चा
twitter

छत्तीसगढ़ के जांजगीर चंपा जिले में 11 वर्षीय लड़के के गहरे बोरवेल (Chhattisgarh Borewell Incident) में गिरने के 45 घंटे से अधिक समय बाद रविवार को भी बचावकर्मी उसे बचाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि लड़का होश में है और गुजरात के रोबोट विशेषज्ञों (Robot Experts) की एक टीम मौके पर पहुंच गई है. लड़के को बाहर निकालने का प्रयास किया जा रहा है, जो बोरवेल में लगभग 60 फुट गहराई में फंसा हुआ है.

रेस्क्यू ऑपरेशन में 500 से अधिक कर्मी शामिल

अधिकारियों के अनुसार राहुल साहू (Rahul Sahu) शुक्रवार को करीब दो बजे मलखरोदा विकास खंड के पिहरिड गांव में अपने घर के पीछे खेलते समय 60 फुट गहरे बोरवेल में गिर गया था. उन्होंने कहा कि बचाव दल में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) और सेना के अधिकारियों सहित 500 से अधिक कर्मी शामिल हैं. वे बच्चे को सुरक्षित निकालने के लिए अत्याधुनिक मशीनों और वाहनों का उपयोग कर रहे हैं.

गुजरात से पहुंची रोवोट विशेषज्ञों की टीम

ताजा जानकारी के अनुसार, शुक्रवार शाम से जारी समानांतर गड्ढा खोदने का काम अंतिम चरण में है. फिर एक सुरंग बनाई जाएगी जो बचाव दल के बोरवेल तक पहुंचने और बच्चे को निकालने में मदद करेगी. अधिकारियों ने बताया कि गुजरात से रोबोट विशेषज्ञों की एक टीम भी घटनास्थल पर पहुंच गई है और रोबोट की मदद से बच्चे को सुरक्षित बाहर निकालने का प्रयास किया जा रहा है.

कैमरों के माध्यम से की जा रही बच्चे की निगरानी

सरकारी बयान में कहा गया, स्वास्थ्य अधिकारी कैमरों के माध्यम से लगातार राहुल की स्थिति की निगरानी कर रहे हैं. वह सचेत है और हिल-डुल रहा है. रविवार तड़के उसे शीतल पेय और केला दिया गया और आज सुबह रस पिलाया गया. बोरवेल में ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए एक पाइप लगाया गया है.

45 घंटे बाद भी बच्चे ने नहीं हारी हिम्मत

अधिकारियों के मुताबिक एनडीआरएफ, सेना की चार सदस्यीय टीम, 150 से अधिक पुलिसकर्मियों और एसडीआरएफ के 15 कर्मियों सहित 500 से अधिक कर्मी शुक्रवार शाम चार बजे से शुरू हुए बचाव अभियान में जुटे हैं. सरकारी बयान के अनुसार, जिस बोरवेल में लड़का फंसा हुआ है उसके अंदर कुछ पानी है और एनडीआरएफ के जवान रस्सी से बंधे बर्तन की मदद से पानी को बाहर निकालने की कोशिश कर रहे हैं. लड़का भी पानी निकालने की कवायद में मदद कर रहा है.

Prabhat Khabar App: देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, क्रिकेट की ताजा खबरे पढे यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए प्रभात खबर ऐप.

FOLLOW US ON SOCIAL MEDIA

Facebook

Twitter

Instagram

YOUTUBE

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें