1. home Hindi News
  2. sports
  3. ipl
  4. former cricketer virender sehwag criticized chennai super kings 2

ये क्या कह गए वीरू? चेन्नई सुपर किंग्स के बल्लेबाज सरकारी नौकरी...

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
चेन्नई सुपर किंग्स
चेन्नई सुपर किंग्स
Photo: PTI

नयी दिल्ली: पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने कोलकाता के खिलाफ मैच गंवाने के लिए चेन्नई सुपर किंग्स की खिंचाई की. वीरेंद्र सहवाग ने खास तौर पर केदार जाधव को निशाने पर लिया जिन्होंने क्रूशियल मूवमेंट में 12 गेंदों में केवल 7 रन बनाए. अपनी फेसबुक सीरिज वीरू की बैठक में सहवाग ने चेन्नई के बल्लेबाजों पर तीखा हमला बोला.

सरकारी नौकरी करते हैं चेन्नई के बल्लेबाज!

सहवाग ने कहा कि चेन्नई के कुछ बल्लेबाज फ्रेंचाइजी को सरकारी नौकरी समझते हैं. उन्हें लगता है कि काम करो या ना करो सैलरी तो मिलेगी ही. उन्होंने कोलकाता की जीत के लिए केदार जाधव को मैन ऑफ द मैच तक कह दिया. सहवाग ने कहा कि ऐसे मौके पर आप इतने डॉट बॉल नहीं खेल सकते.

6 में से 4 मुकाबले हार चुकी है चेन्नई की टीम

इंडियन प्रीमियर लीग के इतिहास की सबसे कामयाब टीम चेन्नई सुपर किंग्स 13वें सीजन में जूझती नजर आ रही है. चेन्नई की टीम ने अभी तक सबसे ज्यादा 6 मुकाबले खेलें जिसमें से 4 मुकाबले हारी है. चेन्नई की बल्लेबाजी में कई खामियां नजर आई. टीम की सबसे कमजोर कड़ी केदार जाधव हैं जिन्होंने अभी तक केवल 58 रन बनाए हैं. कप्तान महेंद्र सिंह धोनी भी प्रतिष्ठा के अनुरूप प्रदर्शन कर पाने में नाकाम रहे हैं.

बुधवार को कोलकाता नाईट राइडर्स के खिलाफ 168 रन का पीछा करते हुए चेन्नई सुपर किंग्स 157 रनों पर सिमट गई. 10वें ओवर तक 1 विकेट के नुकसान पर 90 रन बना चुकी चेन्नई अगले 10 ओवर में करीब 60 रन ही बना सकी और मुकाबला गंवा बैठी. इस मैच में सबसे ज्यादा आलोचना जिस बल्लेबाज की हुई वो हैं केदार जाधव. केदार जाधव उस मैच में भी फेल रहे और 12 गेंदों का सामना करके केवल 7 रन बनाए.

केदार जाधव ने बल्लेबाजी में किया है निराश

कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने रविंद्र जडेजा, ड्वेन ब्रावो और शार्दुल ठाकुर के ऊपर तरजीह देते हुए केदार जाधव को बल्लेबाजी के लिए भेजा था. कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने भी कहा कि हमने सोचा था कि केदार जाधव स्पिन को अच्छा खेलते हैं, लेकिन हमारा प्लान काम नहीं आया. इस मैच में कप्तान धोनी भी बैटिंग ऑर्डर में खुद को प्रमोट करते हुए चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने आये लेकिन 12 गेंदों में महज 11 रन बनाकर आउट हो गये.

मैच के बाद कप्तान धोनी, केदार जाधव और चेन्नई के बल्लेबाजों के प्रदर्शन की काफी आलोचना हो रही है. बता दूं कि चेन्नई सुपर किंग्स आइपीएल के 12 सीजन में से 8 फाइनल खेली हैं, तीन बार खिताब अपने नाम किया. लेकिन, इस सीजन चेन्नई की हालत पस्त है.

Posted By- Suraj Thakur

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें