1. home Home
  2. religion
  3. som pradosh vrat april 2020 know importance of pradosh vrat and read puja vidhi of som pradosh vrat in hindi

Som Pradosh : सोम प्रदोष व्रत आज, जानें आज के प्रदोष का महत्व, शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

आज प्रदोष व्रत है. इस व्रत की हिंदु धर्म मे काफी मान्यता है. हर साल कुल 24 प्रदोष व्रत होते हैं. हर प्रदोष व्रत का महत्व उस खास दिन से होता है जिस दिन वह प्रदोष आता है.यानी जिस वार को जो प्रदोष आता है उसका अपना महत्व उस दिन के ही हिसाब से माना जाता है. आज यानी 20 अप्रैल को सोमवार के दिन के प्रदोष व्रत का विशेष महत्व है.सोमवार को शिव भगवान का विशेष दिन माना गया है.यह एक विशेष संयोग है क्योंकि प्रदोष व्रत के दिन भगवान भोलेनाथ की ही पूजा आराधना की जाती है. इसलिए आज के प्रदोष व्रत का विशेष महत्व है.ऐसा माना गया है कि इस संयोग वाले प्रदोष व्रत से प्रसन्न होकर भोलेनाथ अपने भक्तों पर कृपा करेंगे. आज सोमवार को पड़ने के कारण ही इस प्रदोष को सोम प्रदोष व्रत के नाम से जाना जाता है. जानिए आज के सोम प्रदोष व्रत का शुभ मुहूर्त पूजा विधि और सोम प्रदोष व्रत के फायदे

By ThakurShaktilochan Sandilya
Updated Date

Som Pradosh 2020 : आज प्रदोष व्रत है. इस व्रत की हिंदु धर्म मे काफी मान्यता है. हर साल कुल 24 प्रदोष व्रत होते हैं. हर प्रदोष व्रत का महत्व उस खास दिन से होता है जिस दिन वह प्रदोष आता है.यानी जिस वार को जो प्रदोष आता है उसका अपना महत्व उस दिन के ही हिसाब से माना जाता है. आज यानी 20 अप्रैल को सोमवार के दिन के प्रदोष व्रत का विशेष महत्व है.सोमवार को शिव भगवान का विशेष दिन माना गया है.यह एक विशेष संयोग है क्योंकि प्रदोष व्रत के दिन भगवान भोलेनाथ की ही पूजा आराधना की जाती है. इसलिए आज के प्रदोष व्रत का विशेष महत्व है.ऐसा माना गया है कि इस संयोग वाले प्रदोष व्रत से प्रसन्न होकर भोलेनाथ अपने भक्तों पर कृपा करेंगे. आज सोमवार को पड़ने के कारण ही इस प्रदोष को सोम प्रदोष व्रत के नाम से जाना जाता है. जानिए आज के सोम प्रदोष व्रत का शुभ मुहूर्त पूजा विधि और सोम प्रदोष व्रत के फायदे

सोम प्रदोष व्रत की तिथि और मुहूर्त -

- प्रदोष व्रत - आज 20 अप्रैल 2020

- त्रयोदशी तिथि प्रारंभ - 12:42 AM ,सुबह 12 बजकर 42 मिनट

- त्रयोदशी तिथि समाप्त- 3:11 AM (21 अप्रैल ), सुबह 3 बजकर 11 मिनट 

प्रदोष व्रत की पूजा विधि :

- आज सोम प्रदोष व्रत पर भगवान शिव को जल चढ़ाएं.

- आज शिवलिंग पर जल जरुर अर्पण करें.

- भगवान शिव के मंत्र का जाप करें.

- आज के दिन निराहार रहते हुए प्रदोषकाल में भगवान शिव को शमी, बेल पत्र, कनेर, धतूरा, फूल, चंदन, धूप, दीप, फल, आदि चढ़ाएं

- शिव जी की आरती करें.

- आज के दिन फलाहार रहकर भी इस व्रत को कर सकते हैं.

सोम प्रदोष व्रत का महत्व :

1) सोम प्रदोष व्रत करने से भगवान शिव की कृपा मिलती है. आज इस व्रत से भगवान भोलेनाथ प्रसन्न होते हैं और अपने भक्तों पर कृपा करते हैं.

2) आज यानि सोमवार का दिन भगवान शिव का दिन माना जाता है इसलिए आज भगवान शिव के शिवलिंग पर दूध जरुर चढ़ाएं इससे भोलेनाथ जीवन की सारी बाधाओं को दूर करते हैं.

3) आज का यह व्रत रोगों व दोषों को अपने जीवन से दूर करने के लिए रखा जाता है.माना जाता है कि इस व्रत से रोग दूर होते हैं और अच्छे सेहत की प्राप्ति होती है.

4) आज के दिन शिव व माता पार्वती दोनों के पूजन से दाम्पत्य जीवन के लिए अच्छे जीवनसाथी की प्राप्ति होती है.और विवाहितों के लिए एक सुखमय वैवाहिक जीवन की इस व्रत से प्राप्ति होती है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें