1. home Home
  2. religion
  3. october 2021 vrat festival list shardiya navratri dussehra sharad purnima karwa chauth ahoi ashtami ekadashi pradosh amavasya and purnima see ful festival details sry

October 2021 Festival List: अक्टूबर में पड़ने वाले हैं नवरात्रि, दशहरा और करवा चौथ, यहां देखें पूरी लिस्ट

पितरों की विदाई के साथ ही फिर से त्योहारों का सीजन शुरू हो जाएगा. अक्टूबर 2021 में आश्विन माह में मनाए जाने वाले कुछ प्रमुख व्रत और त्योहार जैसे इन्दिरा एकादशी, महालया, सर्वपितृ अमावस्या, नवरात्रि, दशहरा और करवाचौथ पड़ेंगे.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
October 2021 Vrat & Festival List
October 2021 Vrat & Festival List
instagram

October 2021 Festival List: हिंदू पंचांग के मुताबिक अक्टूबर 2021 में आश्विन माह में मनाए जाने वाले कुछ प्रमुख व्रत और त्योहार जैसे इन्दिरा एकादशी, महालया, सर्वपितृ अमावस्या, नवरात्रि, दशहरा और करवाचौथ पड़ेंगे.

02 अक्टूबर 2021 , शनिवार

इंदिरा एकादशी:

आश्विन मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि को इंदिरा एकादशी का व्रत किया जाता है. एकादशी व्रत के बारे में ऐसी मान्यता है कि यदि इस दिन व्रत और विधि विधान से पूजा की जाए तो इससे हमारे पितरों और पूर्वजों की आत्मा को शांति मिलती है और उनके लिए मोक्ष का द्वार खुल जाता है.

06 अक्टूबर 2021, बुधवार

अश्विन अमावस्या:

हिंदू पंचांग के अनुसार, कृष्ण पक्ष की अमावस्या जो अश्विन महीने के दौरान आती है उसे अश्विन अमावस्या के रूप में जाना जाता है. इस अमावस्या को सर्व पितृ अमावस्या, बदमाव और दर्श अमावस्या के नाम से भी जाना जाता है। इसी दिन श्राद्ध पक्ष समाप्त होता है अर्थात पितृ लोक से पृथ्वी पर आने वाले पूर्वज अपने-अपने स्थानों को लौट जाते हैं.

07 अक्टूबर 2021, गुरुवार

शारदीय नवरात्रि:

नवरात्रि का पर्व शक्ति की देवी मां दुर्गा की श्रद्धा में मनाया जाता है. नवरात्रि एक संस्कृत शब्द है जिसका अर्थ है ‘नौ रातें’ और इसलिए यह त्योहार नौ दिनों तक चलता है. नौ दिनों के दौरान मां दुर्गा के नौ अलग-अलग रूपों की पूजा की जाती है. सर्दियों के मौसम में आने वाली नवरात्रि को शरद नवरात्रि कहा जाता है. यह आश्विन मास के शुक्ल पक्ष के दौरान प्रतिपदा (पहले दिन) से नवमी तक मनाया जाता है.

कलशस्थापना:

नवरात्रि के पहले ही दिन कलश स्थापना की परंपरा निभाई जाती है और सभी देवताओं का तहे दिल से स्वागत किया जाता है. पुराणों के अनुसार, कलश को भगवान विष्णु का एक रूप माना जाता है और इसलिए, इसे मां दुर्गा की पूजा करने से पहले इसे रखा जाता है और तब ही पूजा की जाती है.

13 अक्टूबर,2021 बुधवार

दुर्गा अष्टमी:

दुर्गा अष्टमी या नवरात्रि का आठवां दिन मां महागौरी को समर्पित है. वह चार भुजाओं वाली देवी हैं जो बैल पर सवार होती हैं. उनके एक हाथ में त्रिशूल है तो दूसरे हाथ में डमरू.

14 अक्टूबर,2021 गुरुवार

दुर्गा महा नवमी:

शरद नवरात्रि का अंतिम और नौवां दिन नवमी, मां सिद्धिदात्री की पूजा के लिए समर्पित है. इस दिन कन्या पूजन की परंपरा का पालन किया जाता है. मान्यता है कि मां दुर्गा के इसी अवतार ने महिषासुर नाम के राक्षस का वध कर देवताओं की रक्षा की थी.

15 अक्टूबर 2021 , शुक्रवार

दशहरा:

दशहरा, जो बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है, शुक्ल पक्ष के दौरान अश्विन महीने में दशमी तिथि को मनाया जाता है. इसी दिन भगवान राम ने रावण का संहार किया था और उसकी पत्नी सीता को बचाया था. इस पर्व को विजयदशमी, आयुध पूजा आदि नामों से भी जाना जाता है.

24 अक्टूबर, 2021 रविवार

करवा चौथ:

यह व्रत अत्यधिक शुभ माना जाता है और मुख्य रूप से विवाहित महिलाओं द्वारा अपने पति की लंबी और सुखी जीवन के लिए मनाया जाता है. यह त्यौहार उत्तर भारत में बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है.

संजीत कुमार मिश्रा

ज्योतिष एवं रत्न विशेषज्ञ

8080426594/9545290847

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें