1. home Hindi News
  2. religion
  3. navratri 2020 kab hai date time tarikh puja vidhi mantra kalash sthapana shubh muhurt puja samagri rashifal panchang navratri 2020 this time mother ambe is coming on horseback know here the special significance of mother durgas arrival on earth rdy

Navratri 2020: नवरात्रि 2020 : इस बार घोड़े पर सवार होकर आ रही हैं मां अंबे, यहां जानिए मां दुर्गा के धरती पर आगमन का विशेष महत्व

By Prabhat khabar Digital
Updated Date

Navratri 2020: 17 अक्टूबर से नवरात्र शुरू हो रहा है. नवरात्रि पर मां दुर्गा के धरती पर आगमन का विशेष महत्व होता है. देवीभागवत पुराण के अनुसार नवरात्रि के दौरान मां दुर्गा का आगमन भविष्य में होने वाली घटनाओं के संकेत के रूप में भी देखा जाता है. हर साल नवरात्रि में देवी दुर्गा का आगमन अलग-अलग वाहनों पर होता है. जिन वाहनों पर मां दुर्गा सवार होकर आती हैं उसका अलग-अलग महत्व होता है.

इस बार 17 अक्टूबर से नवरात्र शुरू हो रहा है. इस दिन शनिवार है, इसलिए मां दुर्गा घोड़े पर सवार होकर आने वाली है. देवी भागवत पुराण के अनुसार जब माता दुर्गा नवरात्रि पर घोड़े की सवारी करते हुए आती हैं तब पड़ोसी से युद्ध, गृह युद्ध, आंधी-तूफान और सत्ता में उथल-पुथल जैसी गतिविधियां बढ़ने की संभावना रहती है.

देवी भागवत पुराण के अनुसार अगर नवरात्रि का आरंभ सोमवार या रविवार के दिन होता है तब इसका अर्थ होता है माता हाथी पर सवार होकर आएंगी. अगर शनिवार और मंगलवार के दिन नवरात्रि का पहला दिन होता है तो माता घोड़े पर सवार होकर आती हैं.

वहीं गुरुवार या शुक्रवार के दिन नवरात्रि आश्विन शुक्ल पक्ष प्रतिपदा तिथि पर मां का आगमन होता तो माता डोली की सवारी करते हुए भक्तों को आशीर्वाद देने आती हैं. बुधवार के दिन नवरात्रि का पहला दिन होने पर माता नाव की सवारी करते हुए धरती पर आती हैं.

नवरात्रि के आरंभ से ही शुभ कार्यों की शुरुआत हो जाएगी. क्योंकि अधिकमास में सभी तरह के शुभ काम वर्जित होते हैं. लेकिन नवरात्रि के साथ ही सभी शुभ काम शुरू हो जाएंगे. नवरात्रि आरंभ होते ही नई वस्तुओं की खरीद, मुंडन कार्य, ग्रह प्रवेश जैसे शुभ कार्य किये जाएंगे. वहीं, शादी विवाह देवउठनी एकादशी तिथि के बाद से शुरू हो जाएंगे.

News posted by : Radheshyam kushwaha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें