1. home Hindi News
  2. religion
  3. lunar eclipse date time 5 june 2020 chandra grahan chandra grahan kab hai sutak period me kya karna chahie eclipse side effect on pregnant women latest updates

Grahan 2020 : तीन घंटे से ज्यादा लंबा होगा ग्रहण, जानिए चंद्र ग्रहण की तारीख, सूतक काल और इससे जुड़ी मान्यताओं के बारे में

By SumitKumar Verma
Updated Date
Chandra Grahan 2020 Latest Updates
Chandra Grahan 2020 Latest Updates
Prabhat Khabar Graphics

Grahan 2020, Lunar Eclipse june 2020 : जून महीने में दो ग्रहण पड़ने वाला है. पहला ग्रहण 5 जून को है. ये चंद्र ग्रहण कई मायनों में महत्वपूर्ण है और कई राशियों के लिए चेतावनी और कई के लिए खुशियां लेकर आने वाली है. चंद्र ग्रहण को लेकर हमें विशेष सावधानी बरतनी चाहिए. अक्सर देखा गया है कि लोग इसे नजरअंदाज कर देते हैं, लेकिन, इसका बुरा प्रभाव सीधे हमारे जीवन पर पड़ता है. 5 जून को लगने वाला यह ग्रहण कुल 3 घंटे और 18 मिनट का होगा. ऐसे में आइये जानते हैं कि इस दिन हमें क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए.

क्या है चंद्र ग्रहण

उस खगोलीय स्थिति को चंद्रग्रहण कहा जाता है जिसमें चंद्रमा पृथ्वी के ठीक पीछे आ जाता है. ज्योतिष गणना के अनुसार यह केवल पूर्णिमा को घटित हो सकता है.

कब है चंद्र ग्रहण

भारतीय समयानुसार 5 जून को 11.16 बजे रात में लगने वाला यह ग्रहण अगली तारीख यानी 6 जून को को रात 2.32 बजे तक रहेगा.

किस राशि पर लगेगा ग्रहण : ज्योतिषीय गणना के मुताबिक यह ग्रहण वृश्चिक राशि और ज्येष्ठा नक्षत्र पर लगने वाला है.

क्या है सूतक काल?

इस दौरान एक अशुभ समय की शुरूआत होगी, जिस समय विशेष रूप से बचने की जरूरत है. इसकी शुरूआत चंद्र ग्रहण के करीब नौ घंटे पूर्व ही शुरू हो जाएगा और समाप्त ग्रहण के समाप्ति के साथ ही होगा अर्थात रात 2 बजकर 32 मीनट पर.

ग्रहण के दौरान क्या बरतें सावधानी

धर्म गुरूओं के मुताबिक हमें ग्रहण के दौरान कई ऐसी चिज है जिससे परहेज करना चाहिए, नहीं तो इसका दुष्परिणाम हमारे जीवन पर पड़ सकता है. सूतक लगते ही कई नकारात्मक शक्तियां हावी हो जाती है. अत: उसी समय से हमें निम्नलिखित सावधानियां बरतनी चाहिए....

- भगवान का पूजा नहीं करना है और उनकी प्रतिमा को हाथ भी नहीं लगाना है.

- आसपास के देवालयों का कपाट बंद कर देना चाहिए. ऐसा ही घर में भी करें और कोई भी शुभ कार्य इस दौरान न करें क्योंकि कोई लाभ नहीं मिलने वाला.

- गर्भवती महिलाओं को इससे विशेष रूप से बचने की जरूरत है. ग्रहण के समय न तो उन्हें घर से बाहर निकलना चाहिए और न ही चांद की तरफ देखना चाहिए. इससे बच्चे और मां दोनों पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है.

- ग्रहण के दौरान भूल के भी वैवाहिक जीवन का आनंद नहीं लेना चाहिए. इससे गर्भाशय पर बुरा प्रभाव पड़ेगा.

- इस दौरान श्मशान के आसपास भी नहीं भटकना चाहिए क्योंकि नकारात्मक शक्ति हावी हो जाती है.

- कोशिश करें की इस दौरान कुछ भी न पकाएं और न खाएं

- ग्रहण के दौरान नाखून, दाढ़ी और बाल कभी नहीं कटवाना चाहिए.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें