1. home Hindi News
  2. religion
  3. jaya ekadashi 2021 me kya kare kya nahi karna chahiye know date time tithi puja vrat vidhi katha importance significance parana timing magh shukla ekadashi remedy hindi smt

Jaya Ekadashi 2021 के दिन भूल कर भी न करें ये काम, सात पीढ़ियों तक को लगता है पाप, जानें व्रत से पारण तक की विधि

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jaya Ekadashi 2021, Date & Time, Puja, Vrat Vidhi, Katha, Parana Shubh Muhurat, Timing
Jaya Ekadashi 2021, Date & Time, Puja, Vrat Vidhi, Katha, Parana Shubh Muhurat, Timing
Prabhat Khabar Graphics

Jaya Ekadashi 2021, Date & Time, Puja, Vrat Vidhi, Katha, Parana Shubh Muhurat, Timing: जया एकादशी की तिथि 22 फरवरी 2021 दिन सोमवार को शाम 5 बजकर 16 मिनट से ही आरंभ हो चुकी है. जो आज यानी 23 फरवरी के दिन मंगलवार शाम 6 बजकर 05 मिनट तक समाप्त हो जाएगी. वहीं, पारण का शुभ मुहूर्त 24 फरवरी की सुबह 6 बजकर 51 से लेकर 9 बजकर 09 मिनट तक रहेगी यानी कुल 2 घंटे 17 मिनट की. इस दिन भगवान विष्णु का व्रत रखा जाता है और मां लक्ष्मी को भी प्रसन्न करना चाहिए. यह हर वर्ष माघ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को मनाई जाती है. आइए जानते हैं क्या करना चाहिए और क्या नहीं...

ऐसी मान्यता है कि जया एकादशी के दिन श्री हरि का नाम जपने वालों को पिशाच योनि का भय नहीं होता है.

आइए जानते हैं कि इस दिन क्या भूल कर भी न करें

  • जया एकादशी को पुत्रदा एकादशी व्रत भी कहा जाता है. इस दौरान गलती से भी जुआ नहीं खेलना चाहिए. ऐसा करने से वंश का नाश होता है.

  • इस दिन रात्रि भगवान विष्णु का रात्रि जागरण करना चाहिए. रात में सोना कई मायनों में हानिकारक हो सकता है.

  • ऐसी मान्यता है कि एकादशी के दिन जो व्यक्ति गलती से भी चोरी करता है, उसकी सात पीढ़ियों तक को पाप लगता है.

  • आज के दिन यदि आप भगवान विष्णु को प्रसन्न करना चाहते हैं तो अपने वाणी में संयम रखें और व्यवहार में सात्विकता लाएं. कठोर शब्दों का प्रयोग या क्रोध व झूठ बोलने से बिल्कुल बचें.

  • एकादशी के दिन सुबह जल्दी उठें और शाम में नहीं सोएं.

  • इसके अलावा आज मांस-मदिरा का सेवन भी गलती से भी नहीं करें.

कैसे करें व्रत पूजा विधि

  • सुबह जल्दी उठें और स्नान करके स्वच्छ वस्त्र पहनें.

  • अपनी पूजा स्थल को साफ करें और भगवान विष्णु व कृष्ण जी की मूर्ति स्थापित करें.

  • विधि-विधान से भगवान विष्णु की पूजा करें.

  • इस दौरान भजन और विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ भी जरूर करें.

  • प्रसाद के तौर पर तुलसी, नारियल, जल, फल, अगरबत्ती और फूल व अन्य चीजें भगवान विष्णु को अर्पित करना ना भूलें.

  • पूजा के दौरान मंत्र जाप जरूर करते रहें.

  • द्वादशी की सुबह भोजन का सेवन करें. इससे पहले पारण करना न भूलें

जया एकादशी व्रत शुभ मुहूर्त

  • एकादशी तिथि प्रारंभ: 22 फरवरी 2021 दिन सोमवार को शाम 05 बजकर 16 मिनट से

  • एकादशी तिथि समाप्त: 23 फरवरी 2021 दिन मंगलवार शाम 06 बजकर 05 मिनट तक

  • जया एकादशी पारणा शुभ मुहूर्त: 24 फरवरी को सुबह 06 बजकर 51 मिनट से लेकर सुबह 09 बजकर 09 मिनट तक

  • पारणा अवधि- 2 घंटे 17 मिनट

Posted By: Sumit Kumar Verma

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें